Submit your post

Follow Us

पत्नी ने TMC जॉइन की, बीजेपी सांसद ने तलाक की धमकी दे दी

बंगाल की राजनैतिक लड़ाई पारिवारिक कलह में बदलती दिख रही है. मामला बीजेपी के नेता सौमित्र खान और उनकी पत्नी सुजाता मंडल खान का है. सुजाता के तृणमूल कांग्रेस (TMC) जॉइन करने की फोटो आ ही रही थीं कि दूसरी खबर आ गई. इनमें कहा जा रहा है कि सौमित्र खान ने टीएमसी जॉइन करने की वजह से अपनी पत्नी से तलाक लेने की तैयारी कर ली है. सुजाता ने आरोप लगाया कि बीजेपी में कोई सम्मान नहीं बचा है.

‘बीजेपी में नए और भ्रष्ट लोगों को तरजीह’

सुजाता मंडल सोमवार को कोलकाता में टीएमसी सांसद सौगत रॉय और प्रवक्ता कुणाल घोष की मौजूदगी में टीएमसी में शामिल हुईं. इसके बाद, टीएमसी  नेताओं के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में सुजाता ने आरोप लगाया कि बीजेपी में नए लोगों और भ्रष्ट नेताओं को वफादारों से ज्यादा तरजीह दी जा रही है. सुजाता खान ने कहा

पति को संसद पहुंचाने के लिए मैंने शारीरिक हिंसा सही झेली, बहुत त्याग किया लेकिन बदले में मुझे कुछ नहीं मिला. अब मैं ममता बनर्जी और अभिषेक बनर्जी के नेतृत्व में काम करना चाहती हूं. मैंने बीजेपी के लिए कड़ी मेहनत की थी लेकिन अब बीजेपी में कोई सम्मान नहीं बचा है. एक महिला होने के नाते मेरा पार्टी में बने रहना मुश्किल था.

सुजाता खान ने हाल ही में टीएमसी छोड़ने वाले नेता सुवेंदु अधिकारी पर भी गंभीर आरोप लगाए, उन्होंने कहा

वह एक धोखेबाज हैं. कई साल से पार्टी से फायदा लेने के बाद उन्होंने मौकापरस्त की तरह पाला बदल लिया. यह तृणमूल के लिए वास्तव में अच्छा ही हुआ है.

Sale(690)
सुजाता मंडल खान ने टीएमसी जॉइन करने के साथ ही अपने पति और बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए.

सौमित्र खान बोले, पारिवारिक झगड़ा है

इस पूरे मामले पर सुजाता के पति सौमित्र खान का कहना है कि यह एक परिवारिक विवाद है.उन्होंने कहा,

ये सच है कि हमारे परिवार में विवाद है, लेकिन हम परिवार हैं. परिवार में झगड़े होंगे लेकिन इसे राजनीति में नहीं ले जाना चाहिए. मुझे दुख है कि उसे (सुजाता को) मेरे बीजेपी जॉइन करने की वजह से नौकरी से हाथ धोना पड़ा. उन्हें सिर्फ इसलिए दिक्कत हुई कि ममता बनर्जी ने मेरे ऊपर केस कर दिया. मुझे इस बात का भी दर्द है कि सुजाता ने राजनैतिक महात्वकांक्षा के चलते टीएमसी जॉइन कर ली है. मेरे घर के गार्ड तुम्हारी सुरक्षा के लिए तुम्हारे साथ थे. मैंने तुमसे कहा था कि हमें 4 महीने साथ रहकर टीएमसी को हराना है. इस मामले ने ऐसा मोड़ लिया, इसका मुझे दर्द है.

TMC छोड़ बीजेपी में आए थे सौमित्र

सौमित्र खान भी पहले तृणमूल कांग्रेस से सांसद थे. 2019 के लोकसभा चुनाव से कुछ महीनों पहले जनवरी में भाजपा का साथ पकड़ लिया. आरोप लगाए गए कि जिस समय वह तृणमूल से अलग होकर भाजपा में आए, उस समय तृणमूल सरकार ने खार खाकर मुकदमों की फेहरिस्त लगा दी. ऐसा इसलिए भी कहा गया क्योंकि सारे मुक़दमे सौमित्र के भाजपा में जाने की तारीख़ के बाद दर्ज किए गए. वहीं तृणमूल से जुड़े लोग कहते हैं कि जब तक सौमित्र तृणमूल में थे, तब तक सरकार ने उनके खिलाफ कार्रवाई या मुक़दमे पर रोक लगा रखी थी. पार्टी से बाहर होते ही पार्टी ने सिर पर से हाथ हटा लिया, और मुकदमे दर्ज हो गए.


वीडियो – बंगाल में TMC को हराने के लिए मोदी-शाह ने क्या ‘मास्टर-प्लान’ तैयार किया है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कभी कृषि कानूनों की पक्षधर रहीं पार्टियों ने अब यूटर्न क्यों ले लिया है?

जानिए पहले क्या था इन राजनीतिक दलों का स्टैंड

क्या बढ़िया फ्रिज न होने के कारण इंडिया में कोरोना वैक्सीन लगने में और लेट हो सकती है?

कोल्ड चेन का पूरा तिया पांचा यहां समझिए.

साल 2015 के बाद गुजरात, केरल, बंगाल, महाराष्ट्र और बिहार के बच्चों में बढ़ा कुपोषण

सर्वे का दावा, बच्चों की लम्बाई और वज़न ख़तरनाक तरीक़े से घट रहे

क्या कोरोना की नई वैक्सीन लगवाने के बाद लोगों को लकवा मार जा रहा है?

वैक्सीन लगवाने पर कुछ लोगों में एलर्जी की समस्या भी सामने आई है.

किसान आंदोलन के समर्थन में वैज्ञानिक ने केंद्रीय मंत्री के हाथ से अवॉर्ड लेने से मना कर दिया

पत्र में कहा, 'ये मेरी अंतरात्मा के खिलाफ़ है'

350 करोड़ का स्कैम उजागर करने वाले RTI एक्टिविस्ट की मौत पर पुलिस और फ़ैमिली अलग कहानी क्यों बता रहे?

पुलिस ने कहा कि दुर्घटना में मौत हुई, परिवार हत्या का आरोप लगा रहा

एनकाउंटर पर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज ने कहा, 'ऐसा ही चलता रहा तो कोई भी शिकार बन सकता है'

हैदराबाद के ICFAI लॉ स्कूल में रूल ऑफ लॉ पर लेक्चर दे रहे थे जस्टिस चेलमेश्वर.

कोरोना का ट्रायल वैक्सीन लेने वाले हरियाणा के मंत्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए

कोरोना की वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के दौरान टीका लगाया गया था.

उइगर मुस्लिम ने बताया, 'चीन में हमें ज़बरदस्ती सूअर का मांस खिलाया जाता था'

नसबंदी न करवाने पर उइगर मुस्लिमों के साथ क्या होता है?

सरकार और किसानों के बीच साढ़े सात घंटे तक चली बैठक में क्या नतीजा निकला, जान लीजिए

कृषि मंत्री ने बताया, सरकार किन-किन बातों पर राजी हो गई है