Submit your post

Follow Us

पश्चिम बंगाल सरकार ने कोरोना मरीजों के अंतिम संस्कार पर अब कौन सा बड़ा फैसला लिया है?

पश्चिम बंगाल सरकार ने कोरोना वायरस मरीजों के बारे में नया निर्देश जारी किया है. कोरोना से मौत पर परिवार वाले अंतिम संस्कार से पहले अपनों को देख सकेंगे. 6 जून को इस बारे में नोटिफिकेशन जारी किया गया. अभी तक कोरोना के चलते जान गंवाने वाले व्यक्ति को परिवार वाले देख नही पाते थे. यह फैसला सुरक्षा के चलते लिया गया था.

क्या लिखा है सरकारी आदेश में

इसमें कहा है कि अगर किसी मरीज की कोरोना से मौत होती है. तो परिवारवालों को एक घंटे के अंदर सूचना दी जाएगी. शव को 30 मिनट के लिए ऐसी जगह रखा जाएगा, जहां से परिवार वाले देख सकें. और श्रद्धाजंलि दे सकें. शव को इस तरह के बॉडी बैग में रखा जाएगा, जिसमें चेहरा दिखता रहे. परिवार वालों को मास्क और ग्लव्ज अस्पताल की ओर दिए जाएंगे. हालांकि अंतिम संस्कार प्रशासन के कर्मचारी ही करेंगे.

यह आदेश तुरंत प्रभाव से लागू हो गया है. राज्य के स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी.

दरअसल ऐसे आरोप लगे थे कि कोरोना के चलते मरने वाले मरीजों का सही से अंतिम संस्कार नहीं हो रहा. इस संबंध में 5 जून को कलकत्ता हाईकोर्ट ने एक आदेश दिया था. इसमें बंगाल सरकार से कोरोना मरीजों के अंतिम संस्कार के बारे में रिपोर्ट मांगी गई थी.

बंगाल मे कोरोना का हाल

बंगाल में अभी तक कोरोना के 7738 मामले सामने आए हैं. इनमें से 3110 मरीज ठीक हो चुके हैं. राज्य में अब तक 383 लोगों की कोरोना के चलते मौत हुई है. पिछले कुछ दिनों में बंगाल में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: कोरोनावायरस की वैक्सीन को लेकर ये क्या थ्योरी चल रही है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.

3740 श्रमिक ट्रेनों में से 40 प्रतिशत ट्रेनें लेट रहीं, रेलवे ने बताई वजह

औसतन एक श्रमिक ट्रेन 8 घंटे लेट हुई.

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.

मशहूर एस्ट्रोलॉजर बेजान दारूवाला नहीं रहे, कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी

बेटे ने कहा- निमोनिया और ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत.

लॉकडाउन-5 को लेकर किस तरह के प्रपोज़ल सामने आ रहे हैं?

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ सकता है.

क्या जम्मू-कश्मीर में फिर से पुलवामा जैसा अटैक करने की तैयारी में थे आतंकी?

सिक्योरिटी फोर्स ने कैसे एक्शन लिया? कितना विस्फोटक मिला?