Submit your post

Follow Us

मुंबई वॉटर टैक्सी: अब लोग समंदर की सैर करते हुए ऑफिस पहुंचेंगे

साल 1964 में एक फिल्म आई थी. फिल्म का एक गाना बहुत फेमस हुआ जिसमें शम्मी कपूर और शर्मिला टैगोर शिकारे पर सवार हैं. ये नहीं याद है तो एक और फिल्म बताते हैं जिसमें शाहरुख खान और अनुष्का शर्मा शिकारे पर बैठे हैं. सीन ये भी एक गाने का है. इस फिल्म का नाम बताइयेगा. कुछ और भी ऐसी फिल्में हों जिनमें बोट या शिकारे वाले सीन हों तो वो भी बताइएगा. कहां? कमेंट सेक्शन में.

लेकिन हम आज पानी वाली बोट और शिकारे की बात क्यों कर रहे? वो भी फिल्मों के हवाले से. दरअसल ख़बर है कि फिल्म नगरी मुंबई में अब वॉटर टैक्सी चलेंगीं, और सिर्फ गाने फिल्माने के लिए नहीं बल्कि आम आदमी के लिए. यानी अब आम आदमी भी छै-छपाक करते हुए कालजयी शॉर्ट्स फिल्मा सकेगा. कैसे? और कितने रुपयों में आइए जान लेते हैं.

#खबर क्या है?

इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के मुताबिक आने वाले नए साल 2022 के पहले हफ्ते में PM मोदी मुंबई में वॉटर टैक्सी सर्विसेज (Water Taxi Services) का उद्घाटन करने वाले हैं. एक लंबे इंतजार के बाद मुंबई में आम लोगों के लिए ये सुविधा शुरू होने जा रही है. इसमें सभी टर्मिनल्स को कनेक्ट किया जाएगा ताकि ट्रांसपोर्टेशन को और बेहतर बनाया जा सके. इन वॉटर टैक्सीज़ का इस्तेमाल मुंबई के डोमेस्टिक क्रूज टर्मिनल से बेलापुर और नेरुल टर्मिनल के बीच कनेक्टिविटी प्रोवाइड करने के लिए किया जा रहा है. मुबंई पोर्ट ट्रस्ट और राज्य सरकारों के सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि अभी तीन ऑपरेटर्स काम के लिए तैयार हैं. बाकी ऑपरेटर्स भी अगले दो से तीन महीने में सर्विसेज देना शुरू कर देंगे.

वाटर टैक्सी (प्रतीकात्मक तस्वीर - गुडन्यूज़ टुडे)
वॉटर टैक्सी (प्रतीकात्मक तस्वीर – गुडन्यूज़ टुडे)

#वॉटर टैक्सी का इतिहास

वॉटर टैक्सी आम जनता के लिए चलाई जाने वाली नाव या बोट होती हैं, आमतौर पर किन्हीं दो टर्मिनल्स के बीच में चलने वाली बोट सर्विस को ‘फेरी’ कहते है, अलग-अलग देशों में वॉटर टैक्सी के नाम भी अलग होते हैं. मसलन इटली के वेनिस में इसे वेपरेटो (VAPORETTO) के नाम से जाना जाता है. सबसे पहले वॉटर टैक्सी सर्विसेज मैनचेस्टर (Manchester), इंग्लैंड में ऑफिशियली ऑपरेट हुई थी. हालांकि आज तकनीक में सबसे अच्छी इलेक्ट्रिक और सेल्फ ड्राइविंग वॉटर टैक्सी में सबसे पहला नाम नॉर्वे का आता है.

#भारत में वॉटर टैक्सी का इतिहास

यूं तो भारत में सदियों से पानी के रास्तों से कारोबार और ट्रांसपोर्टेशन होता आया है, लेकिन अगर हम वॉटर टैक्सी की बात करें तो साल 2020 में पहली बार केरल के आलप्पुझा (Alappuzha) इलाके में वॉटर टैक्सी सर्विस लॉन्च की गयी थी. केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने इसका उद्घाटन किया था. ऐसा केरल में टूरिज्म़ को प्रमोट करने और सुदूर तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों को बेहतर ट्रेवल सर्विसेज़ देने के लिए किया गया था. ये टैक्सीज़ डीज़ल से चलती हैं, जिनमें एक साथ 10 लोग सफ़र कर सकते हैं.

#मुंबई में वॉटर टैक्सी के रुट्स

मुंबई में वॉटर ट्रांसपोर्ट प्रोजेक्ट के लिए सरकार ने कुछ रुट्स को ऑपरेटर्स को अलॉट किया है. इंटरनेशनल क्रूज टर्मिनल से एलीफैंटा, DCT यानी DOMESTIC CRUISE TERMINAL से रीवास, DCT से बेलापुर, नेरुल, वाशी, एरोली,खंडेरी आइलैंड और JNPT यानी जवाहर लाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट टर्मिनल जैसे रूट्स पर वॉटर टैक्सी सर्विस चलाई जाएगी. ऑपरेटर्स के मुताबिक DCT से नवी मुंबई पहुंचने में अब 30 मिनट का समय लगेगा जबकि DCT से JNPT पहुंचने में महज 15 से 20 मिनट का समय लगेगा.

वाटर टैक्सी (प्रतीकात्मक फोटो- इंडिया टुडे)
वॉटर टैक्सी (प्रतीकात्मक फोटो- इंडिया टुडे)

#कार्य प्रगति पर है

ये लाइन अक्सर आपने कई कंस्ट्रक्शन साइट्स पर लिखी देखी होगी, ऐसा ही कुछ मुंबई वॉटर ट्रांसपोर्ट प्रोजेक्ट के साथ भी है. काम अभी चल रहा है और जल्दी पूरा होने की उम्मीद है. गुडन्यूज़ टुडे की एक खबर के मुताबिक शुरुआती सर्विस जनवरी 2022 में शुरू हो जायेगी. नितिन गडकरी ने कहा है कि वेनिस की तरह ही वॉटर टैक्सी लेकर लोग सीधे एयरपोर्ट तक पहुंच सकेंगे. हालांकि मुंबई वेस्टर्न कोस्ट पर वॉटर ट्रांसपोर्ट प्रोजेक्ट के काम की रफ़्तार कुछ कम है, यानी जनवरी में वॉटर टैक्सी शुरू होने के बाद भी इस प्रोजेक्ट का कार्य प्रगति पर रहेगा.

#किराया कितना लगेगा

वॉटर टैक्सी ऑपरेटर्स के मुताबिक DCT से नवी मुंबई अभी तक का मच अवेटेड रूट माना जा रहा है. यह रूट लोगों का काफी समय बचाएगा. हालांकि, वॉटर टैक्सी का किराया रोज ऑफिस जाने वाले कई लोगों को निराश कर सकता है क्योंकि शुरूआती दौर में किराया ज्यादा होने की बात कही जा रही है. एक ऑपरेटर के मुताबिक DCT से नवी मुंबई तक का किराया 1200 रूपए से 1500 रूपए प्रति यात्री तक हो सकता है जबकि JNPT तक ये किराया 750 रूपए बताया गया है. एक अन्य ऑपरेटर के मुताबिक DCT से नवी मुंबई और JNPT तक का किराया 800 रूपए से 1100 रूपए तक रखा जा सकता है.


(ये स्टोरी हमारे यहां इंटर्नशिप कर रहीं सुरभि ने लिखी है)


पिछला वीडियो देखें: बराक घाटी में नदी के रास्ते कैसे होती है बांस की सप्लाई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

रुचि सोया के FPO के 'चमत्कार' को नमस्कार करने के बजाय SEBI ने क्यों दिखाई सख्ती?

रुचि सोया के FPO के 'चमत्कार' को नमस्कार करने के बजाय SEBI ने क्यों दिखाई सख्ती?

वजह पतंजलि समूह का एक कथित संदेश बताया गया है?

योगी सरकार 2.0 में राज्यमंत्री बने नेताओं के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

योगी सरकार 2.0 में राज्यमंत्री बने नेताओं के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

कई पुराने तो कुछ नए चेहरों को मंत्रीमंडल में जगह मिली है.

योगी आदित्यनाथ ने ली CM पद की शपथ, जानें कौन-कौन बना मंत्री

योगी आदित्यनाथ ने ली CM पद की शपथ, जानें कौन-कौन बना मंत्री

योगी आदित्यनाथ के साथ 52 मंत्रियों ने भी ली शपथ

बीरभूम हिंसा पर सीएम ममता बनर्जी ने क्या कहकर अपनी ही पुलिस पर निशाना साधा?

बीरभूम हिंसा पर सीएम ममता बनर्जी ने क्या कहकर अपनी ही पुलिस पर निशाना साधा?

ममता बनर्जी ने घटना के पीछे साजिश होने की आशंका भी जताई.

बिहार विधानसभा में शून्य हुई VIP, तीनों विधायक बीजेपी में शामिल

बिहार विधानसभा में शून्य हुई VIP, तीनों विधायक बीजेपी में शामिल

बोचहां विधानसभा उपचुनाव और एमएलसी इलेक्शन से पहले मुकेश सहनी को तगड़ा झटका.

यूनिवर्सिटी बनी ही नहीं, राजस्थान सरकार ने बिल पेश कर दिया, फिर हुई मिट्टी पलीद!

यूनिवर्सिटी बनी ही नहीं, राजस्थान सरकार ने बिल पेश कर दिया, फिर हुई मिट्टी पलीद!

सरकार को बिल वापस लेना पड़ा, बीजेपी बोली- पूरे कुएं में भांग है.

थोक ग्राहकों के लिए 25 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ डीजल, आम लोगों पर ये असर पड़ेगा

थोक ग्राहकों के लिए 25 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ डीजल, आम लोगों पर ये असर पड़ेगा

कीमतें बढ़ने से ब्लैक मार्केटिंग बढ़ने की आशंका. बंद हो सकते हैं कई पंप.

हरभजन सिंह को राज्यसभा में भेजने के साथ AAP उन्हें एक और बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है

हरभजन सिंह को राज्यसभा में भेजने के साथ AAP उन्हें एक और बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है

पंजाब के सीएम भगवंत मान और भज्जी काफी करीबी दोस्त माने जाते हैं.

इराक में अमेरिकी दूतावास के पास मिसाइल हमला करने की ईरान ने क्या वजह बताई?

इराक में अमेरिकी दूतावास के पास मिसाइल हमला करने की ईरान ने क्या वजह बताई?

ईरान ने इजरायल का नाम क्यों लिया है?

यूक्रेन संकट के बीच केमिकल हथियारों की चर्चा से डरना क्यों चाहिए?

यूक्रेन संकट के बीच केमिकल हथियारों की चर्चा से डरना क्यों चाहिए?

रूस ने US पर यूक्रेन में जैविक हथियार बनाने का आरोप लगाया है, नाटो का कुछ और कहना है.