Submit your post

Follow Us

यूपी पुलिस की फिर कार पलटी, गैंगस्टर की मौत, पुलिसवाले घायल

उत्तर प्रदेश का लखनऊ. यहां की पुलिस एक वॉन्टेड गैंग्स्टर को गिरफ्तार करके मुंबई से लखनऊ ला रही थी. कार में. रिपोर्ट्स के मुताबिक, मध्य प्रदेश के गुना के पास कार का एक्सीडेंट हो गया और आरोपी गैंगस्टर फिरोज़ अली उर्फ शम्मी की मौत हो गई. कार चलाने वाले का नाम सुलभ मिश्रा है.

‘इंडिया टुडे’ के कुमार अभिषेक की रिपोर्ट के मुताबिक, ये घटना 27 सितंबर (रविवार) की सुबह 6:30 बजे की है. हादसा नेशनल हाईवे-26 पर हुआ. घटना में तीन पुलिसवालों समेत चार लोग घायल हुए हैं.

क्या है पूरा मामला?

एक अधिकारी ने बताया कि लखनऊ के ठाकुरगंज पुलिस स्टेशन में पोस्टेड असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर जगदीश प्रसाद पांडे और कॉन्स्टेबल संजीव सिंह प्राइवेट गाड़ी से मुंबई गई थे. फिरोज़ अली की तलाश में. पुलिस ने 26 सितंबर को नाला सोपरा की झुग्गियों से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और लखनऊ के लिए रवाना हो गए.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, फिरोज़ का ब्रदर-इन-लॉ अफज़ल भी पुलिस के साथ था. उसे पुलिस लखनऊ से अपने साथ लेकर गई थी, फिरोज़ की पहचान करने के लिए और आरोपी की मौजूदगी की जानकारी देने के लिए.

Lucknow Police
वो जगह जहां पर हादसा हुआ. (फोटो- कुमार अभिषेक)

जगदीश प्रसाद पांडे ने पुलिस अधिकारियों को बताया कि रास्ते में अचानक से एक गाय सामने आ गई थी, जिसे बचाने के चक्कर में कार अनियंत्रित हो गई. नतीजा ये हुआ कि कार पलट गई. कार का एक दरवाज़ा अचानक से खुल गया, जिसमें से फिरोज़ अली, अफज़ल और संजीव बाहर फेंका गए. आरोपी फिरोज़ अली की कथित तौर पर घटनास्थल पर ही मौत हो गई. जबकि बाकी तीन पुलिस वाले- जगदीश, संजीव और ड्राइवर सुलभ घायल हो गए. अफज़ल का भी एक हाथ फ्रैक्चर हुआ.

चौक ACP आईपी सिंह के मुताबिक, गैंगस्टर फिरोज़ अली, बहराइच का रहने वाला था. फरार था.

आखिर में एक घटना थोड़ा और याद कर लीजिए-

कानपुर का विकास दुबे कथित एनकाउंटर याद है. हां वही, जहां कानपुर पुलिस विकास को उज्जैन से लेकर आ रही थी और रास्ते में गाड़ी हादसे का शिकार हो गई. विकास ने मौका देखकर भागने की कोशिश की. पुलिस ने पीछा किया और रोकने के चक्कर में गोली चलाई और इस कथित एनकाउंटर में विकास दुबे मारा गया. ये घटना 10 जुलाई की थी.

बस ऐसे ही, हमें लगा कि याद रहना चाहिए, इसलिए बता दिया.


वीडियो देखें: भदोही से विधायक विजय मिश्रा कौन हैं, जिनकी गिरफ्तारी पर बवाल मचा हुआ है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?