Submit your post

Follow Us

ये तस्वीरें बताती हैं कि चुनाव आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में किया अपना वादा नहीं निभाया

सुप्रीम कोर्ट ने यूपी में पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election Result 2021) की काउंटिंग को कुछ शर्तों के साथ इजाजत दी थी. कोर्ट ने कहा था कि राज्य चुनाव आयोग की तरफ से बनाए गए कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन करना होगा. कोर्ट ने मतगणना केंद्रों के आसपास के क्षेत्रों में मतगणना पूरी होने तक सख्त कर्फ्यू लगाने के निर्देश दिए थे, ताकि भीड़ इकट्ठी ना हो सके. लेकिन 2 मई को जैसे ही काउंटिंग शुरू हुई कई केंद्रों पर कोविड प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ती दिखी.

जो तस्वीरें सामने आ रही हैं वो बताती हैं कि चुनाव आयोग सुप्रीम कोर्ट में किया अपना वादा निभाने में सफल नहीं रहा है.

यूपी के फिरोजाबाद में मतगणना स्थल पर पोलिंग एजेंट और मतगणना कर्मचारियों की भारी भीड़ देखने को मिली. यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होता नहीं दिखा. पुलिस ने बल पूर्वक लोगों से लाइन लगवाया.

Firozabad (1)
तस्वीर फिरोजाबाद के एक मतगणना केंद्र की है. तस्वीर-आजतक

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी इसी तरह का नजारा देखने को मिला.

Lucknow
तस्वीर साभार-ट्विटर

हाथरस में मतणगना स्थल तक पहुंचने के लिए लोग धक्कामुक्की करते दिखे.

Hathras
हाथरस में लोग भूल गए कि कोरोना जैसी महामारी चल रही है. फोटो-ट्विटर

प्रयागराज में भी मतगणना केंद्र पर भारी भीड़ देखने को मिली. यहां भी सोशल डिस्टेंसिंग नहीं दिखा.

Prayagraj
तस्वीर प्रयागराज की है.

वेस्ट यूपी के मुजफ्फरनगर में पुलिस भीड़ को नियंत्रित करते दिखी लेकिन बात बनी नहीं.

Muzafernagar
तस्वीर में देखा जा सकता है कि लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं. फोटो-ट्विटर

मुरादाबाद में लोग मास्क लगाए दिखे लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग नहीं दिखी.

Muradabad
तस्वीर मुरादाबाद की है. फोटो-ट्विटर

बाराबंकी में लोग पुलिस का घेरा तोड़कर मतगणना केंद्र में घुस गए.

Barabanki
पुलिस से धक्कामुक्की करती भीड़.

कोरोना पॉजिटिव मिले मतगणनाकर्मी

अमर उजाला की खबर के मुताबिक, मथुरा के राजकीय इंटर कॉलेज पर मतगणनाकर्मी टीचर कोरोना पॉजिटिव पाए गए. सहायक मतगणना फर्स्ट हरीश कुमार को दो-तीन दिन से बुखार आ रहा है. मतगणना केंद्र में थर्मल स्क्रीनिंग में उनका तापमान ज्यादा आया. इसके बाद एंटीजन टेस्ट में वह संक्रमित पाए गए. इसकी पुष्टि होने के बाद मतगणनाकर्मी अपने वाहन से घर चले गए.

वहीं हाथरस के एक मतगणना केंद्र पर चार मतगणना कर्मियों के कोरोना पॉजिटिव निकलने की खबर है. इटावा में एक मतगणना कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाया गया. डॉ. भीमराव अंबेडकर इंजीनियरिंग कॉलेज मतदान केंद्र डॉक्टरों की टीम ने चेक करने पर एक मतगणना कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाया गया. उसे आइसोलेट किया गया है. लखीमपुर के धौरहरा में तीन एजेंट और मोहम्मदी में दो मतदान कर्मी कोरोना पॉजिटिव निकले.

हिन्दुस्तान की खबर के मुताबिक, आगरा में वार्ड पांच से बीएसपी प्रत्याशी यास्मीन की मतगणना शुरू होने से पहले ही मौत हो गई. वह 15 अप्रैल को चुनाव के बाद से ही पेट में संक्रमण से पीड़ित थीं.

उत्तर प्रदेश में चार चरणों में संपन्न हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने उम्मीदवारों और पोलिंग एजेंटों को कड़े निर्देश दिए थे. मतगणना केंद्रों में उन्हें ही प्रवेश की इजाजत थी जिनकी 48 घंटे पहले की कोविड-19 की रिपोर्ट नेगेटिव आई हो. इसके बावजूद कई केंद्रों पर लोग कोरोना पॉजिटिव निकले.

उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के लिए 829 काउंटिंग सेंटर बनाए गए हैं. जिला, क्षेत्र और ग्राम पंचायत सदस्यों के साथ ही ग्राम प्रधान के 12,89,830 उम्मीदवार मैदान में हैं. अंतिम नतीजे आने में 36 से 72 घंटे का वक्त लग सकता है.


यूपी के पंचायत चुनाव में उड़ रही कोविड प्रोटोकॉल्स की धज्जियां, कोर्ट ने लताड़ा!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

Covid-19: अमेरिका के इस एक्सपर्ट ने भारत को कौन से तीन जरूरी कदम उठाने को कहा है?

डॉक्टर एंथनी एस फॉउसी सात राष्ट्रपतियों के साथ काम कर चुके हैं.

रेमडेसिविर या किसी दूसरी दवा के लिए बेसिर-पैर के दाम जमा करने के पहले ये ख़बर पढ़ लीजिए

देश भर से सामने आ रही ये घटनाएं हिला देंगी.

कुछ लोगों को फ्री, तो कुछ को 2400 से भी महंगी पड़ेगी कोविड वैक्सीन, जानिए पूरा हिसाब-किताब

वैक्सीन के रेट्स को लेकर देशभर में कन्फ्यूजन की स्थिति क्यों है?

कोरोना से हुई मौतों पर झूठ कौन बोल रहा है? श्मशान या सरकारी दावे?

जानिए न्यूयॉर्क टाइम्स ने भारत के हालात पर क्या लिखा है.

PM Cares से 200 करोड़ खर्च होने के बाद भी नहीं लगे ऑक्सीजन प्लांट, लेकिन राजनीति पूरी हो रही है

यूपी जैसे बड़े राज्य में केवल 1 प्लांट ही लगा.

कोरोना की दूसरी लहर के बीच किन-किन देशों ने भारत को मदद की पेशकश की है?

पाकिस्तान के एक संगठन की ओर से भी मदद की बात कही गई है.

अब सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हम राष्ट्रीय आपातकाल जैसी स्थिति में हैं, क्या केंद्र के पास कोई नेशनल प्लान है?

ऑक्सीजन सप्लाई से जुड़ी एक याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई कर रहा था.

'सबसे कारगर' कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनी फाइजर ने भारत के सामने क्या शर्त रख दी है?

भारत सरकार की ओर से इस पर अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

दिल्ली हाई कोर्ट ने ऑक्सीजन की किल्लत पर केंद्र सरकार को बुरी तरह लताड़ दिया है

बुधवार रात 8 बजे हुई सुनवाई में कोर्ट ने केंद्र को जमकर खरी-खोटी सुनाई.

कोरोना संकट के बीच देश के ये 3 शीर्ष मेडिकल एक्सपर्ट आपके लिए बहुत काम की बातें बता गए हैं

कोरोना की रोकथाम से जुड़े हर जरूरी सवाल का जवाब दिया है.