Submit your post

Follow Us

यूपी: ज़मीन विवाद में पूर्व विधायक की पीट-पीटकर हत्या!

उत्तर प्रदेश का लखीमपुर खीरी ज़िला. यहां पूर्व विधायक निर्वेंद्र कुमार मिश्रा उर्फ मुन्ना मिश्रा की कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. वो निघासन विधासभा सीट से दो बार निर्दलीय और एक बार समाजवादी पार्टी (सपा) से विधायक रहे थे. रिपोर्ट के मुताबिक, ज़मीन विवाद को लेकर ये घटना हुई .

75 वर्षीय निर्वेंद्र मिश्रा संपूर्णानगर थाना क्षेत्र के तिरकौलिया पढुआ गांव के पास सड़क किनारे विवादित भूमि पर कब्जा रोकने गए थे. निर्वेंद्र मिश्रा के बेटे का कहना है कि कुछ आरोपी जबरन खेत में जुताई कर रहे थे. इसके बाद विवाद हुआ, जिसमें निर्वेंद्र और उनके बेटे पर हमला हो गया. परिवार का कहना है कि मौके पर ही निर्वेंद्र मिश्रा की मौत हो गई. ज़मीन का ये मामला कई साल से कोर्ट में चल रहा है.

पुलिस का क्या कहना है

जानकारी मिलने के बाद आला पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे. एसपी सतेंद्र कुमार ने इस पर सफाई देते हुए कहा कि विधायक गिर गए थे. उन्होंने कहा, ”ज़मीन को लेकर कहासुनी हुई. फिर स्थिति बिगड़ गई, जिसमें (पूर्व) विधायक गिर गए. उन्हें सीएचसी अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.” पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतज़ार है.

बेटे ने पुलिस पर लगाए आरोप

पूर्व विधायक के बेटे ने आरोप लगाया,

”हमारी पैतृक संपत्ति को जोतने के लिए लोग आए. हम गए तो कहा कि ज़मीन विवादित है तो आप क्यों जोत रहे हैं. इस पर उन्होंने पिता को मारा. जिन लोगों ने मेरे पिता को मारा, उन्हें गांव के लोग घर पर ले आए. बाद में पुलिस इन लोगों को छुड़ाकर ले गई और मेरी मां के साथ भी मारपीट की.”

विपक्षियों ने कहा- प्रदेश में जंगलराज

मामले पर योगी सरकार को विपक्षी पार्टियों ने घेरना शुरू कर दिया है. सपा प्रमुख और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट किया,

पुलिस की उपस्थिति में आज दिनदहाड़े लखीमपुर में तीन बार के विधायक रहे श्री निर्वेन्द्र मुन्ना जी की निर्मम हत्या व उनके पुत्र पर हुए क़ातिलाना हमले से प्रदेश हिल गया है. श्रद्धांजलि! भाजपा राज में प्रदेश की जनता क़ानून-व्यवस्था के विषय पर चिंतित ही नहीं, भयभीत भी है. निंदनीय!

बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट कर कहा,

यूपी लखीमपुर खीरी के पूर्व विधायक श्री निर्वेन्द्र कुमार मिश्र उर्फ मुन्ना की निर्मम हत्या व इसी ज़िले में छात्रा की दुष्कर्म के बाद फन्दा लगाकर की गई हत्या की घटनाएं. अति-दुःखद व चिन्ताजनक. सरकार दोषियों के खिलाफ ऐसी सख्त कार्रवाई करे जिससे ऐसी दर्दनाक घटनाएं प्रदेश में रूकें.

यूपी कांग्रेस की तरफ से ट्वीट किया गया,

”यूपी का जंगलराज भयावह हो रहा है. योगी सरकार सो रही है.”

आम आदमी पार्टी (आप) नेता संजय सिंह ने निवेंद्र कुमार मिश्रा के बेटे का वीडियो शेयर करते हुए कहा,

”सुनिए पूर्व विधायक निर्वेंद्र कुमार मिश्रा के बेटे का दर्द. ये है योगीराज में जंगलराज.”

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने वीडियो के जरिए बयान जारी कर राज्य में जंगलराज्य की बात दोहरायी. उन्होंने कहा,

”उत्तर प्रदेश में आज कोई सुरक्षित नहीं है. विधायक भी नहीं. पुलिसवाले सुरक्षित नहीं हैं. महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं. लखीमपुर में ही 15 दिनों में 15 से अधिक हत्या की घटनाएं सामने आ चुकी है. अगस्त महीने में 124 हत्याएं हुई. कानून का राज समाप्त हो गया है.”

यूपी कांग्रेस की तरफ से एक और ट्वीट में कहा गया, ”यूपी में गृह विभाग का जिम्मेदार कौन है? लखीमपुर में पूर्व विधायक की हत्या हो गई.
22 दिनों में रेप और हत्या की चार घटनाएं हो गईं. कौन सी घुट्टी लेकर सो रहा है गृह विभाग कि ये जंगलराज दिख ही नहीं रहा है?”

 


यूपी में पिछले दो महीने की वो घटनाएं जो पुलिस को कटघरे में ला रही हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

एक्टर और सांसद अनुभव मोहंती पर पत्नी ने घरेलू हिंसा का आरोप लगाया

कोर्ट में याचिका दायर की, सात सितंबर को होगी सुनवाई.

बेंगलुरु से पहला केस सामने आया, कोरोना को लेकर जिस बात का डर था, वही हुआ!

डॉक्टरों ने भी इसी बात का डर जताया था.

अर्जुन कपूर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव, घर में ही खुद को आइसोलेट किया

इंस्टाग्राम पर पोस्ट कर जानकारी दी.

गुजरात दंगा: तीन मामलों से कोर्ट ने पीएम नरेंद्र मोदी का नाम हटाया

कोर्ट ने कहा- “आरोप अस्पष्ट हैं. सबूत नहीं हैं.”

अरुणाचल के कांग्रेस विधायक का दावा- बॉर्डर से पांच भारतीयों को उठा ले गया चीन

पुलिस ने कहा, कुछ भी कंफर्म नहीं, सेना ही दे सकती है जानकारी.

पबजी बैन, सोशल मीडिया ने कहा- ‘उनका’ वीडियो डिसलाइक करने का नतीजा है

118 ऐप्स बैन कर दिए गए हैं.

चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए पॉज़िटिव न्यूज़ आई है

बड़े दिनों के बाद.

सेरो सर्वे की मानें, तो ठीक होने के बाद दोबारा हो सकता है कोरोना!

208 में से 97 लोगों में नहीं मिली एंटीबॉडी.

अवमानना वाले मामले में सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण को क्या सज़ा दी है?

प्रशांत भूषण के दो ट्वीट का मुद्दा था.

अनलॉक-4 की गाइडलाइंस जारी, मेट्रो चलेगी, जानिए स्कूल खोलने को लेकर क्या कहा गया है

धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों को लेकर क्या छूट मिली है?