Submit your post

Follow Us

टिक टॉक के नए बादशाह बने अमित शाह

5
शेयर्स

आर्टिकल 370 हटाने के प्रस्ताव को लेकर जब गृहमंत्री अमित शाह संसद में बोल रहे थे तो कई विपक्षी नेता विरोध में थे. इसी कड़ी में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर पर भी बात होने लगी तो अमित शाह ने कहा था-

इसलिए एग्रीसेव हूं कि जम्मू और कश्मीर के पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को आप भारत का हिस्सा नहीं मानते हो क्या? एग्रीसेव न होऊं. जान दे देंगे इसके लिए. क्या बात कर रहे हो आप. एग्रीसेव होने की क्या बात कर रहे हो आप.

संसद में अमित शाह की कही गई यही बात अब टिक टॉक पर वायरल हो रही है. जिस दिन अमित शाह ने संसद में यह बात कही थी उसी दिन इसके वीडियोज़ इंडिया में ट्रेंड कर रहे थे अब टिक टॉक पर धूम मचा रहे हैं.

टिक टॉक है क्या?

टिक टॉक एक सोशल मीडिया ऐप के है जिसके जरिए यूजर 15 सेकेंड्स तक के वीडियो शेयर कर सकते हैं. इस ऐप में चेहरा आप का होता है और बैकग्राउंड में किसी और की आवाज़ होती है. यहां लोग बिना म्यूजिक स्कूल जॉइन किए सिंगर बन सकते हैं. बिना किसी खास एफर्ट के डबिंग आर्टिस्ट बन सकते हैं. भारत में इसके करोड़ों एक्टिव यूजर्स हैं और इसे लोगों के बीच खूब पसंद किया जा रहा है. टिक टॉक भारत में हाल में लगातार कई दिनों तक टॉप डाउनलोडेड ऐप्स की लिस्ट में रही है. टिक टॉक पर लगातार उल्टे-सीधे वीडियोज़ की शिकायत भी आती रही है. कई लोग भारत में इस ऐप को बैन करके को लेकर पेटीशन भी चला रहे हैं.

वीडियो देखते जाइए.


वीडियो- पैराग्लाइडिंग वीडियो से वायरल हुए विपिन साहू के साथ आसमान में क्या हुआ, उन्होंने खुद बताया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

JNU : जिस समय आइशी घोष को पीटा जा रहा था, उसी वक़्त उन पर FIR हो रही थी

और नक़ाबपोश गुंडों का न कोई नाम, न कोई सुराग

बवाल हुआ तो JNU प्रशासन ने मंत्रालय से कैम्पस को बंद करने की मांग उठा दी

मंत्रालय ने भी ये जवाब दिया.

5 जनवरी की रात तीन बजे तक JNU कैम्पस में क्या-क्या हुआ?

जेएनयू कैम्पस में 5 जनवरी को नकाबपोशों ने स्टूडेंट्स और टीचर्स पर हमला किया.

2015 और इस बार के दिल्ली विधानसभा चुनाव में क्या अंतर है?

चुनाव के नतीजे 11 फरवरी को आएंगे.

JNU छात्रों पर हमले के बाद VC एम जगदीश कुमार क्या बोले?

नकाबपोश गुंडों ने कैंपस में मारपीट की थी.

जानिए, 5 जनवरी की दोपहर और शाम JNU कैंपस में क्या हुआ?

दो-तीन दिनों से कैंपस में तनाव था. अगले सेमेस्टर के रजिस्ट्रेशन पर स्टूडेंट्स में झड़पों की भी ख़बरें आईं थीं.

कोर्ट के आदेश के बाद वो 3 मौके, जब योगी सरकार ने 'दंगाइयों' से जुर्माना नहीं वसूला

और सवाल उठ रहे कि इस बार ही क्यों?

मोदी के जिस ड्रीम प्रोजेक्ट पर सरकार ने करोड़ों खर्च किये वो फ्लॉप हो गया

इसके प्रचार के लिए सरकार ने जगह-जगह बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगवाए थे.

नए साल की पहली खुशखबरी आ गई, रेलवे का किराया बढ़ गया

सेकंड क्लास, स्लीपर, फ़र्स्ट क्लास, एसी सबका किराया बढ़ा है रे फैज़ल...

CAA Protest : यूपी पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाने वालों को पुलिस ने क्यों ब्लॉक किया?

यूपी पुलिस की इस कार्रवाई का क्या मतलब है?