Submit your post

Follow Us

कार में तीन करोड़ ले जाते पकड़ाए, तो बीजेपी ने कहा पैसा हमारा है

गाजियाबाद में पुलिस के लिए किसी आम दिन सा माहौल था. घर से निकलते वक़्त ट्रैफिक हवलदार भी ये डिसाइड न कर पाया होगा कि दिन सर्द है या गर्म. कार वाले रोज़ की तरह ही हॉर्न मार-मारकर आवाज़ से ट्रैफिक साफ़ कर देने के प्रयास कर रहे थे. नेशनल हाइवे 24 पर काला पत्थर के पास की बात है. एक स्विफ्ट कार ने रेड लाइट जंप करने की कोशिश की. रेड लाइट जंप अगर ओलंपिक में कोई खेल होता तो नोएडा-गाजियाबाद वाले सारे स्वर्ण ले आते. कार को पुलिस वालों ने पकड़ा. और जानते हो क्या मिला? 3 करोड़ रुपये कैश. एक बैग में.

पुलिसवालों के होश उड़ गए. आदमी नंबर दो से भी कमाए तो इत्ती नोट कमाने में सालों लग जाते हैं. कागज मांगे वो भी नहीं दिखा पाए. तुरंत गाड़ी को दो जनों के साथ थाना इंदिरापुरम ले जाया गया.

फिर हुआ कांड. एक घंटे में बीजेपी के लोग थाने पहुंचे और पैसे के बारे में बताया. बोले पैसा पार्टी का है. तीन करोड़ रुपये दिल्ली बीजेपी कार्यालय से निकला है, और लखनऊ जा रहा है. पार्टी विकास के लिए.

पार्टी के सीए भी मौके पर आ गए. सीए लोगों को देखकर खुशी होती है. जीते जी कम ही लोग सीए बन पाते हैं. सीए पेपर दिखा रहे थे कि पैसा उनका है और लीगल है. उनने पुलिस पर पैसा छोड़ने के एवज में 10 लाख मांगने का भी आरोप लगा दिया. आरोपों में कितनी सच्चाई है. ये जांच के बाद साफ होगा. जेएनयू में नारा कौन लगा गया था, ये तो आज तक साफ़ न हो पाया है.

पुलिस अब तीन करोड़ की असलियत की छानबीन में जुटी है. पुलिस कह रही है कि इनकम टैक्स की टीम को बुलाया है. अब जांच की गति को स्पीड पकड़ाकर रफ़्तार बढ़ाएंगे. पुलिस ये भी कही कि आदमी मोबाइल का कैशे तक बचाकर रखता है. ये इत्ता कैश लेकर ऐसे-कैसे जा रहे थे. पुलिस को तो बताना चाहिए. सेफ्टी भी कोई चीज होती है. कैशे वाली बात पुलिस ने नहीं कही थी. सॉरी.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

राजीव गांधी के हत्यारे को सुप्रीम कोर्ट ने रिहा किया, जानिए किस कानून का इस्तेमाल हुआ?

राजीव गांधी के हत्यारे को सुप्रीम कोर्ट ने रिहा किया, जानिए किस कानून का इस्तेमाल हुआ?

वो पेरारिवलन, जिसने राजीव गांधी की हत्या में इस्तेमाल जैकेट के लिए बैटरी सप्लाई की थी

सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद वाले जज सुनेंगे ज्ञानवापी मस्जिद वाला केस!

सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद वाले जज सुनेंगे ज्ञानवापी मस्जिद वाला केस!

मामला सुप्रीम कोर्ट क्यों गया?

LIC-IPO की लिस्टिंग पर लगी 42,500 करोड़ की चपत, अब क्या करें ?

LIC-IPO की लिस्टिंग पर लगी 42,500 करोड़ की चपत, अब क्या करें ?

ऑफर प्राइस से 8% नीचे लिस्ट हुआ देश का सबसे बड़ा IPO

मुंडका अग्निकांड: मृतकों का आंकड़ा 26 तक पहुंचा, बचाव के लिए NDRF को बुलाया गया

मुंडका अग्निकांड: मृतकों का आंकड़ा 26 तक पहुंचा, बचाव के लिए NDRF को बुलाया गया

इस घटना ने दिल्ली के लोगों को हिलाकर रख दिया है.

छत्तीसगढ़ के रायपुर एयरपोर्ट पर सरकारी हेलीकॉप्टर क्रैश, दो पायलटों की मौत

छत्तीसगढ़ के रायपुर एयरपोर्ट पर सरकारी हेलीकॉप्टर क्रैश, दो पायलटों की मौत

क्रैश का कारण अभी साफ नहीं हो सका है.

जम्मू-कश्मीर में एक और कश्मीरी पंडित की हत्या, आतंकियों ने सरकारी दफ्तर में घुसकर गोली मारी

जम्मू-कश्मीर में एक और कश्मीरी पंडित की हत्या, आतंकियों ने सरकारी दफ्तर में घुसकर गोली मारी

मृतक राहुल भट्ट राजस्व विभाग में कार्यरत थे.

क्या क्रिप्टो करंसी के बुरे दिन शुरू हो गए हैं ? छह महीने में आधी हो गईं कीमतें

क्या क्रिप्टो करंसी के बुरे दिन शुरू हो गए हैं ? छह महीने में आधी हो गईं कीमतें

30% इनकम टैक्स के बाद अब 28% जीएसटी लगाने की तैयारी

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग में पीएम मोदी ने नाम ले-लेकर सुनाया.

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

जानकारों ने जहांगीरपुरी में निकले जुलूस पर सवाल उठाए हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

मौजूदा आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे के रिटायर्ड होने पर पदभार संभालेंगे.