Submit your post

Follow Us

जम्मू में व्यापारियों ने रिलायंस के खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

“जम्मू के साथ भेदभाव नहीं सहेंगे!”… “आज क्या है, जम्मू बंद है!”… “रिलायंस के स्टोर बंद करो”… 

कुछ ऐसे ही नारे 22 सितंबर को जम्मू (Jammu) में लगाए जा रहे थे. शहर की ज़्यादातर दुकानें बंद थीं. इस विरोध में स्थानीय कारोबारी और दुकानदारों के अलावा कई राजनीतिक दल और बार असोसिएशन भी साथ थे. कहा गया कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद ये पहला मौका था, जब व्यापारियों ने इस पैमाने पर बंद करके विरोध किया. विरोध किस बात का? कथित तौर पर रिलायंस के स्टोर खुलने का. हालांकि रिलायंस ने स्टोर खोलने की बात को गलत बताया है.

नाराज क्यों हैं व्यापारी?

व्यापारी संगठनों का दावा है कि जम्मू शहर में रिलायंस के 100 स्टोर खुलने वाले हैं. इसका असर उनके कारोबार पर पड़ेगा. जम्मू चेम्बर ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष अरुण गुप्ता का कहना है कि सरकार एसी कमरों में लिए गए फ़ैसलों को जनता पर थोप रही है. इसी संगठन के बैनर तले ये विरोध प्रदर्शन आयोजित किया गया था. वेयरहाउस-नेहरू मार्केट ट्रेडर्स फ़ेडरेशन के अध्यक्ष दीपक गुप्ता ने कहा कि वो किसी भी हाल में रिलायंस की दुकान शहर में नहीं खुलने देंगे. वेयरहाउस-नेहरू मार्केट जम्मू की सबसे बड़ी अनाज मंडी है. बंद के दौरान जम्मू के प्रदर्शनी मैदान में लोगों ने काली पट्टियां बांधकर विरोध दर्ज कराया. इस दौरान आवश्यक सामान की दुकानें यहां तक कि केमिस्ट शॉप भी बंद रहीं. जम्मू हाईकोर्ट बार असोसिएशन ने भी बंद को अपना समर्थन दिया.

व्यापारियों की नाराजगी सिर्फ रिलायंस से नहीं है. वो सरकार की आबकारी नीति से भी नाराज हैं. नई आबकारी नीति के तहत अब जम्मू के बाहर के लोग भी इस कारोबार का हिस्सा बन सकते हैं. अरुण गुप्ता ने कई और मुद्दे गिनाए, जिन्हें लेकर व्यापारियों में नाराजगी है. दरबार मूव की परंपरा खत्म करना, बार पर अचानक ताले लगवा देना, बैंक्विट हॉल्स के लिए नए नियम तय करना, कमर्शल वाहनों पर पैसेंजर टैक्स लगाना. यही नहीं महाजन, खत्री, सिख और जैन समुदाय के लोगों को राज्य में खेती की जमीन खरीदने से रोकने जैसे मसलों को भी उन्होंने नाराजगी की वजह बताया.

इस बंद को कांग्रेस के अलावा नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी, पैंथर्स पार्टी, सीपीएम, आम आदमी पार्टी, अपनी पार्टी ने भी समर्थन दिया. पीडीपी ने बंद में समर्थन में जम्मू में प्रदर्शन भी किया. इस दौरान पीडीपी कार्यकर्ताओं ने अनुच्छेद 370 और 35A बहाल करने के नारे भी लगाए. हालांकि जम्मू चेम्बर ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष अरुण गुप्ता ने स्पष्ट किया कि जहां तक 370 का सवाल है तो हमारा मकसद सरकार का विरोध करना नहीं है. हमारी नाराजगी सरकार की नीतियों को लेकर है, जिनमें जम्मू के कारोबारी समाज का ध्यान नहीं रखा गया है.

बीजेपी का क्या रुख है?

जम्मू में हुए प्रदर्शनों में बीजेपी की कहीं कोई भागीदारी नहीं रही. हालांकि जम्मू-कश्मीर बीजेपी के अध्यक्ष रविंदर रैना ने लोकल समाचार चैनल दी स्ट्रेट लाइन को दिए इंटरव्यू में व्यापारियों का एक तरह से समर्थन किया. उन्होंने दावा किया कि कारोबारी समाज बीजेपी के साथ है और उनकी मांगें मुनासिब हैं. उन्होंने कहा कि

यहाँ का प्रत्येक व्यापारी देशभक्त है… हमने इस सिलसिले में गवर्नर से बात की है. हम इस पक्ष में हैं कि व्यापारी वर्ग के समस्याओं का समाधान होना चाहिए.

रिलायंस का दावा, नहीं खोल रहे स्टोर

इस पूरे बवाल के बीच रिलायंस रिटेल की सफाई भी आई. कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि जम्मू में 100 स्टोर खोलने की खबरों में कोई दम नहीं है. ये बिल्कुल बेबुनियाद बाते हैं. उन्होंने कहा कि हमने जम्मू में कोई स्टोर नहीं खोला है. कुछ डिलीवरी पॉइंट्स जरूर खोले गए हैं. ये भी हमारे डिलीवरी पार्टनर्स ने खोले हैं ताकि छोटे कारोबारियों की मदद हो सके. हम लंबे समय से छोटे व्यापारियों की मदद करते रहे हैं. आगे भी करते रहेंगे.


वीडियो- कश्मीरी पंडितों पर जम्मू कश्मीर हाईकोर्ट ने क्या कह दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

असम में बॉडी के ऊपर कूदता रहा 'कैमरामैन', पुलिस के अतिक्रमण हटवाने में 2 की मौत

असम के दरांग में हुई इस हिंसा के दृश्य विचलित करने वाले हैं.

पाकिस्तान ने तालिबान के लिए कुर्सी मांगकर झगड़ा करा दिया, SAARC बैठक रद्द

अफगानिस्तान की पूर्व लोकतांत्रिक सरकार के शामिल होने के खिलाफ है पाकिस्तान.

गोवा घूमने गई 25 साल की एक्ट्रेस की कार एक्सीडेंट में डेथ

गोवा में पुल से नीचे गिरी कार, पानी में डूबने से हुई डेथ.

नरेंद्र गिरि कथित आत्महत्या: आरोपी आनंद गिरि को किस महंत ने 'हिस्ट्रीशीटर' कहा?

यूपी पुलिस ने आनंद गिरि को गिरफ्तार कर लिया है.

रूस की यूनिवर्सिटी में अंधाधुंध गोलीबारी, 8 की मौत, आरोपी की उम्र हैरान कर देगी

इस यूनिवर्सिटी में भारत के भी कई छात्र पढ़ते हैं.

डेढ़ महीने पहले राजनीति छोड़ने का ऐलान करने वाले बाबुल सुप्रियो ने TMC जॉइन की

केंद्रीय मंत्री पद से हटाए जाने के बाद भाजपा छोड़ी थी.

मनोज पाटिल सुसाइड अटेम्प्ट केस: साहिल खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, कहा नकली स्टेरॉयड्स का रैकेट

कहानी में एक और किरदार सामने आया है, राज फौजदार.

राजस्थान में अब सब-इंस्पेक्टर परीक्षा का पेपर लीक, वॉट्सऐप बना जरिया

पुलिस ने बीकानेर, जयपुर, पाली और उदयपुर से 17 लोगों को गिरफ्तार किया है.

क्या पाकिस्तान यूपी चुनाव में आतंकी हमले कराने की तैयारी में है?

दिल्ली पुलिस ने 6 संदिग्धों को गिरफ्तार कर कई दावे किए हैं.

नसीरुद्दीन शाह ने योगी आदित्यनाथ के 'अब्बा जान' वाले बयान पर बड़ी बात कह दी है!

नसीर ने ये भी कहा कि कई मुस्लिम अपने पिता को बाबा भी कहते हैं.