Submit your post

Follow Us

इनके लिए गैंगरेप 'खेल' है, अब ये घिनापा पूरी दुनिया में फैलने लगा है

लारा लोगन एक रिपोर्टर हैं. अमेरिका के CBS चैनल के लिए काम करती हैं. जनवरी 2011 में इजिप्ट में बहुत बवाल मचा था. वहां के राष्ट्रपति होस्नी मुबारक को उनके पद से हटाने के लिए राजधानी कायरो में बहुत दिनों से प्रदर्शन किए जा रहे थे. खूब तोड़-फोड़ मची थी. लोग सड़कों पर थे. दुकानों, पुलिस स्टेशन्स जलाए जा रहे थे. आखिर में होस्नी मुबारक को राष्ट्रपति पद से हटा दिया गया था. उसकी तानाशाही अब ख़त्म हो चुकी थी. इस घटना को इजिप्ट की क्रांति कहा जाता है.

लारा इजिप्ट क्रांति के वक़्त कायरो गईं थीं. वहां तहरीर स्क्वायर पर बहुत सारे प्रदर्शनकारी इकट्ठे हुए थे. सब जश्न मना रहे थे. तानाशाही से आजादी मिली थी. लाखों की भीड़ थी. दुनिया भर के मीडिया वाले इस पूरी घटना की रिपोर्टिंग कर रहे थे. भीड़ में लारा अपने क्रू से बिछड़ गईं. अचानक लारा को लगा, कुछ लोगों ने उनको घेर लिया है. कुछ हाथ उन्हें अपनी पैंट के अन्दर जाते हुए महसूस हुए. भीड़ इतनी ठस थी कि वो अपनी जगह से हिल ही नहीं पा रहीं थी. उनको एक तेज़ आवाज़ सुनाई पड़ी, ‘इसके कपड़े फाड़ दो’. लारा के पूरे शरीर में एक तेज़ करंट दौड़ गया. अचानक उनपर 10-20 लोग टूट पड़े. उनके बाल नोचने लगे. कपड़े फाड़ने लगे. कुछ लोग उनको लाठियों से मारने लगे. किसी ने लारा का शर्ट फाड़ कर उनके ही गले में कसकर लपेट दिया. 

लारा ने हमला करने वालों से छूटने की कोशिशें भी की. लेकिन ऐसा लग रहा था कि पूरी भीड़ एकजुट होकर लारा के कपड़े फाड़ने में लगी थी. हर कोई उनका रेप करने की कोशिश कर रहा था.

लारा को अपने शरीर पर जगह-जगह बहुत से हाथ महसूस होने लगे. कोई उनके ब्रेस्ट मसल रहा था तो कोई उनकी वेजाइना में अपना पूरा हाथ डाल रहा था. लारा खुद को छुड़ाने की कोशिश करती रहीं. लेकिन कई आदमी लगातार उनका रेप करते रहे. वो चिल्ला रही थीं. और हमला करने वाले लोग खुशी से शोर मचा रहे थे. करीब एक घंटे बाद मिलिट्री के कुछ लोग भीड़ में घुस पाए. उन लोगों ने लारा को वहां से बाहर निकाला.

credit: youtube
credit: youtube

इतने सारे पुलिस वाले और मिलिट्री के लोग वहां मौजूद थे. फिर भी भीड़ में घुस कर वो लोग लारा की मदद नहीं कर पाए. वो लोग भी भीड़ से डरे हुए थे.  इस घटना के बाद लारा ने काफी समय तक अपनी नौकरी छोड़ दी थी. करीबी 3 साल बाद उन्होंने अपने ही चैनल CBS को इंटरव्यू दिया. उन्होंने जब ये पूरा हादसा बताया. पूरा वेस्टर्न वर्ल्ड हदस गया. ये एक ग्रुप हैरेसमेंट का मामला था. सामूहिक रेप.

और सिर्फ रेप नहीं. रेप गेम. हज़ारों आदमीं एक औरत का रेप करने के लिए आपस में भिड़ते है. जीतने वाले को ईनाम भी मिलता है. 


न्यू ईयर ईव थी. 2015 ख़त्म होने को था. जर्मनी के कोलोन शहर में लोग एक दूसरे को नए साल की बधाइयां देने सड़कों पर इकट्ठे हुए थे. अचानक मिशेल नाम की एक लड़की पर किसी ने हमला कर दिया. वो खुद को बचाने के लिए चिल्ला रही थी. किसी तरह पुलिस ने उसे भीड़ से बाहर निकाला. मिशेल के कपड़े फट चुके थे. पूरे शरीर से खून बह रहा था.

ग्रुप रेप का ये दूसरा बड़ा मामला सामने आया था.


खोजबीन हुई. पता चला इजिप्ट में ये एक बहुत आम बात है. पिछले करीब दस सालों से वहां खुले आम ग्रुप रेप-गेम होता है. इस ग्रुप रेप को कहते हैं तहार्रुश जामाइ. तहार्रुश शब्द का मतलब है, हैरेसमेंट. और जमाइ मतलब भीड़ के साथ.

ये एक तरह का खेल है. ऐसी औरतों को सबक सिखाने के लिए ये खेल बनाया गया है जो अपनी औकात भूल गईं हैं.

जो भी औरत अबाया या बुर्का नहीं पहनती. जिसका भी शरीर पूरी तरह से ढका हुआ नहीं होता. इन एक्सट्रीमिस्ट ग्रुप के लोगों के लिए वो औरत एक स्लट है. उसे सबक सिखाना उन आदमियों को अपना फ़र्ज़ लगता है.

credit: AP
credit: AP

जब भी कोई प्रदर्शन या बड़े इवेंट्स होते हैं. ये घिनौने लोग ऐसी औरतों को ढूंढते हैं, जिन्होंने पूरे ढके हुए कपड़े ना पहने हों. या शरीर से बहुत ज्यादा चिपके हुए कपड़े पहने हों. फिर ये रेप -गेम शुरू होता है.

इस रेप गेम के लिए सट्टा लगता है. ईनाम तय किया जाता है. नियम भी बनाए गए हैं.

उस स्लट को किसी भी तरह उसके दोस्तों से अलग कर दिया जाता है. उस अकेली औरत के चारों तरफ आदमियों का पहला घेरा होता है. ये लोग उसके कपड़े फाड़ते है. उसको लाठियां मारते हैं. कुछ लोग पेट्रोल गन से उसके बाल भी जलाते हैं. फिर इस घेरे का हर आदमी उस औरत का रेप करता है. औरत जितना ज्यादा चिल्लाएगी, आदमी को मिलने वाले ईनाम की कीमत उतनी ज्यादा होती जाएगी.

पहले घेरे के बाहर एक दूसरा बड़ा घेरा होता है. इस घेरे के आदमियों का काम पुलिस और भीड़ से लड़ना होता है. साथ में ही इनको पहले घेरे के लोगों को बाहर फेंक कर खुद अपने लिए अंदर जगह बनानी होती है. इनका भी मेन गोल उस स्लट का रेप करना ही होता है.

सबसे बाहर दो चार ऐसे लोग होते हैं जो उस औरत को बचाने का नाटक करते हैं. वो उसको बचा कर भीड़ से थोड़ी दूर ले कर जाते हैं. फिर भीड़ पीछे से आकर औरत को दबोच लेती है. वो लोग मानते हैं ऐसा करने से खेल में रोमांच बढ़ जाता है.

इसी बीच अगर पुलिस या मिलिट्री ने उस औरत को बचा लिया तो वो शायद जिंदा बच जाती है. वरना जब उस भीड़ का हर आदमी उसका रेप कर लेता है, उसे घेरे से बाहर फेंक दिया जाता है.

सबसे ज्यादा वायलेंट और खतरनाक तरीके से औरत को डराने और रेप करने वाले को विनर माना जाता है. और जो भी इनाम तय हुआ था, वो उसको दिया जाता है.


यूरोप और अमेरिका के लोग कह रहे हैं कि इसके लिए अरब ज़िम्मेदार है. इस रेप गेम के फैलने की वजह वो लोग इमिग्रेंट्स को मान रहे हैं. कहते हैं, अरब और बाकि मिडिल ईस्ट देशों से लोग हमारे देश आते हैं. इस वजह से हमारे देश की औरतें सेफ नहीं हैं. बेशक. कुछ लोग होंगे ऐसे जिन्होंने पूरी दुनिया के लोगों के दिल में अरब के लोगों का डर बिठा दिया है. लेकिन ये समस्या इससे बड़ी है. समस्या वो लोग हैं जो औरत को उसकी सही जगह दिखाना चाहते हैं. और मानते हैं कि ये हक आदमियों का है. अगर दुनिया के सारे देश अरब के लिए अपने बॉर्डर बंद कर भी लेंगे तब भी समस्या ख़त्म नहीं हो जाएगी.  10 साल से भी ज्यादा समय से ये घटिया सी प्रथा इजिप्ट में चली आ रही है. कभी रिपोर्ट भी नहीं हुई. क्योंकि उन आदमियों को लगता है कि ये उनके एंटरटेनमेंट का एक जरिया है. ‘आज कहीं भीड़ इकट्ठी होगी, चलो किसी औरत का रेप कर आएं.फिर खाना खा के आराम से सो जाएंगे.’ जो औरत ‘ढके हुए कपड़ों’ में नहीं है, उसको इतना हैरेस कर दें कि वो आदमियों की शक्ल से भी घबराने लग जाए. और औरतों के दिल में भी ये बात बैठ गई होगी कि शायद घर से बाहर निकल कर उसने ही कोई गुनाह कर दिया. जब तक उन लोगों के खिलाफ कोई सॉलिड एक्शन नहीं लिए जाएंगे, ये घटिया और घिनौना काम बंद नहीं होगा.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

75 साल बाद नर्सिंग के पाठ्यक्रम में किए गए बड़े बदलाव हैं क्या?

75 साल बाद नर्सिंग के पाठ्यक्रम में किए गए बड़े बदलाव हैं क्या?

ये बदलाव जनवरी 2022 से लागू होंगे.

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

इरा बसु वायरोलॉजी में PhD हैं और 30 साल से भी ज्यादा समय तक पढ़ाया है.

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

यहां तक कि CRPF कान्स्टेबल की मौत भी फ्रेंडली फायर में हुई थी!

अक्षय कुमार की मां का निधन

अक्षय कुमार की मां का निधन

अपने जन्मदिन से सिर्फ एक दिन पहले अक्षय को मिला गहरा सदमा.

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

अफगानिस्तान: तालिबान ने नई सरकार की घोषणा की, किसे बनाया मुखिया?

नई अफगानिस्तान सरकार का लीडर यूएन की आतंकियों की लिस्ट में शामिल है.

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता गिरफ्तार, कोर्ट ने 15 दिन के लिए भेजा जेल

रायपुर पुलिस ने नंद कुमार बघेल को ब्राह्मणों पर आपत्तिजनक टिप्पणी के आरोप में गिरफ्तार किया.

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

एक्टर रजत बेदी ने रोड पार करते व्यक्ति को टक्कर मारी!

पीड़ित इस वक़्त कूपर अस्पताल में भर्ती है, जहां उसकी हालत बेहद नाज़ुक है.

अक्षय कुमार की मां ICU में एडमिट, यूके से शूटिंग छोड़ वापस आए अक्षय

अक्षय कुमार की मां ICU में एडमिट, यूके से शूटिंग छोड़ वापस आए अक्षय

कई दिनों से अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया की तबीयत खराब है.

तस्वीरों में देखिए मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत

तस्वीरों में देखिए मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत

500 लंगर, 100 चिकित्सा शिविर, 5 हज़ार वॉलेंटियर्स.

Hurricane Ida से अमेरिका में तबाही, दिल दहलाने वाली तस्वीरें आ रही हैं

Hurricane Ida से अमेरिका में तबाही, दिल दहलाने वाली तस्वीरें आ रही हैं

न्यूयॉर्क समेत पूरे अमेरिका में अब तक 44 लोगों के मारे जाने की बात कही गई है.