Submit your post

Follow Us

द्रविड़, गांगुली के बाद टीम इंडिया में सचिन तेंडुलकर को मिलेगी बड़ी ज़िम्मेदारी?

सौरव गांगुली और सचिन तेंडुलकर की जोड़ी भारतीय क्रिकेट की बेहतरीन जोड़ियों में से एक है. कितना बढ़िया हो अगर ये जोड़ी एक बार फिर से टीम इंडिया के काम आ सके तो. BCCI प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने इशारा दिया है कि जल्द ही सचिन तेंडुलकर भारतीय क्रिकेट में एक महत्वपूर्ण भूमिका में दिख सकते हैं. उनका विश्वास है कि सचिन खुद भी भारतीय क्रिकेट से जुड़ने का कोई ना कोई खोज लेंगे.

सौरव गांगुली का मानना है कि सचिन जैसे खिलाड़ी की भारतीय क्रिकेट को बहुत ज़्यादा ज़रुरत है. हालांकि सचिन को इस बात के लिए मनाना काफी मुश्किल है क्योंकि वे ऐसे इंसान हैं जो कोचिंग या एडमिनिस्ट्रेशन जैसी चीज़ों में ज्यादा विश्वास नहीं रखते. सौरव गांगुली भी इस बात से भली-भांति वाकिफ़ हैं. हाल में स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट बोरिया मजूमदार को दिए इंटरव्यू के दौरान सचिन के भारतीय क्रिकेट से जुड़ने वाले सवाल पर दादा ने कहा,

‘सचिन निश्चित ही थोड़े से अलग किस्म के इंसान हैं. वो इन सब में नहीं पड़ना चाहते. लेकिन मुझे पूरा यकीन है कि अगर सचिन किसी भी तरह भारतीय क्रिकेट से जुड़ पाएं तो इससे बेहतर न्यूज़ हमारे लिए नहीं हो सकती.’

सचिन तेंडुलकर को लेकर लंबे समय से ऐसी चर्चा है कि अब जब राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण और खुद सौरव गांगुली भारतीय क्रिकेट में अहम योगदान दे रहे हैं. तो फिर क्यों सचिन तेंडुलकर किसी बड़ी ज़िम्मेदारी से अलग हैं.

इस बातचीत में सौरव गांगुली ने भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली को वनडे कप्तानी से हटाने वाले विवाद की तरफ भी इशारा किया है. उनका कहना है कि भारतीय क्रिकेट में इस समय काफी अस्थिरता फैली हुई है. वो जो भी फैसला लेते हैं, वो विवाद में बदल जाता है. हल्के-फुल्के अंदाज़ में उन्होंने कहा कि कहीं सचिन को भारतीय क्रिकेट में लाने पर भी विवाद खड़ा न हो जाए. गांगुली ने कहा,

‘निश्चित रूप से ही इसका कुछ ना कुछ हल तो निकालना पड़ेगा. क्योंकि आज कल आसपास काफी विवाद चल रहे हैं. सही या गलत, आप कुछ भी करें उसके साथ विवाद शब्द जुड़ ही जाता है. और इनमें से कुछ तो बिल्कुल ही बेबुनियाद हैं.

इसलिए अगर आपको अपना सबसे बेहतरीन टैलेंट खेल के साथ जोड़ना है तो इसके लिए आपको एक अच्छा रास्ता खोजना होगा. और कभी ना कभी सचिन भी भारतीय क्रिकेट में शामिल होने का रास्ता खोज ही लेंगे.’

गांगुली की कप्तानी में खेले राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण पहले ही भारतीय क्रिकेट टीम में अहम पदों पर हैं. अब सचिन तेंडुलकर भी इस लिस्ट में नया नाम हो सकते हैं. हालांकि ये देखना होगा कि सचिन तेंडुलकर को टीम इंडिया में किस भूमिका के लिए चुना जाता है.


वो पांच मौके जब कप्तानी को लेकर जमकर हुआ विवाद

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

अभी ये सुविधा कुछ ही बैंको तक सीमित है.

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

2013 की बात है जब चहल मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेलते थे.

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

कोर्ट ने आकार पटेल को बड़ी राहत दी है.

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

ये वेरिएंट कितना खतरनाक है, ये भी जान लें.

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

हंसी होगी, संगीत होगा और होंगे सौरभ द्विवेदी!

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

कार्रवाई पर संजय राउत भड़क गए हैं.

यूपी सरकार के लिए गोरखनाथ मंदिर हमला 'आतंकी घटना', हमलावर के पिता ने क्या बताया?

यूपी सरकार के लिए गोरखनाथ मंदिर हमला 'आतंकी घटना', हमलावर के पिता ने क्या बताया?

यूपी सरकार ने आरोपी के खिलाफ तगड़ी जांच के आदेश दे दिए हैं.

1 अप्रैल से E-Invoicing अनिवार्य, फर्जी बिल बनाने वालों की नींद उड़ी

1 अप्रैल से E-Invoicing अनिवार्य, फर्जी बिल बनाने वालों की नींद उड़ी

20 करोड़ सालाना बिक्री पर ई-इनवॉइसिंग जरूरी, टैक्स चोरी थमेगी.

रुचि सोया के FPO के 'चमत्कार' को नमस्कार करने के बजाय SEBI ने क्यों दिखाई सख्ती?

रुचि सोया के FPO के 'चमत्कार' को नमस्कार करने के बजाय SEBI ने क्यों दिखाई सख्ती?

वजह पतंजलि समूह का एक कथित संदेश बताया गया है?

योगी सरकार 2.0 में राज्यमंत्री बने नेताओं के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

योगी सरकार 2.0 में राज्यमंत्री बने नेताओं के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

कई पुराने तो कुछ नए चेहरों को मंत्रीमंडल में जगह मिली है.