Submit your post

Follow Us

स्मृति ईरानी ने अमेठी पहुंचकर पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की अर्थी को कंधा दिया

अमेठी में स्मृति ईरानी के करीबी सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई. उन्होंने ईरानी की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. सुरेंद्र सिंह को उस समय गोली मारी गई जब वह घर के बाहर सो रहे थे. जैसे ही इस बारे में स्मृति ईरानी को पता चला वह अमेठी पहुंच गईं. ईरानी न केवल परिवार से मिलीं. बल्कि सुरेंद्र सिंह की अंतिम यात्रा में शामिल हुईं. सुरेंद्र सिंह की अर्थी को कंधा दिया. ईरानी ने सुरेंद्र सिंह के पैर छूकर उन्हें अंतिम विदाई दी.

इस हत्या के मामले में उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह का कहना है कि 7 संदिग्धों को हिरासत में लिया है. उनसे पूछताछ की जा रही है. रात तक गिरफ्तारी कर लेंगे. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर भी कार्रवाई की जा रही है. डीजीपी ने बतयाा कि आईजी अयोध्या मौके पर हैं. पीएसी और लोकल पुलिस मौजूद है. इस हत्या के मामले में पुलिस को महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं. पुलिस सारे अंगल को देख रही है. हत्या का क्या कारण है यह बताना मुश्किल है. कुछ लोगों से सुरेंद्र सिंह की दुश्मनी थी. हाल ही में चुनाव हुए हैं. सुरेंद्र सिंह का पार्टिसिपेशन बहुत रहा है. उस एंगल को भी देख रहे हैं. सर्विलांस की भी मदद ली जा रही है. आईविटनेस नहीं था. ब्लाइंड मर्डर के तौर पर देख रहे हैं. हम जल्द ही क्रिमिनल को गिरफ्तार कर लेंगे.

अमेठी का गांव है बरौलिया. सुरेंद्र सिंह इस गांव के पूर्व प्रधान थे. रविवार भोर में 3 बजे अज्ञात बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी. उन्हें लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया. रास्ते में ही उन्होंने दम तोड़ दिया. लोकसभा चुनाव में सुरेंद्र सिंह ने स्मृति ईरानी का जमकर चुनाव प्रचार किया था. सुरेंद्र सिंह का कई गावों में प्रभाव था. इसका फायदा बीजेपी को मिला.

सुरेंद्र सिंह के बेटे का कहना है कि उनके पिता पिता स्मृति ईरानी के करीबी थे. उनके लिए 24 घंटे चुनाव प्रचार में लगे रहते थे. जब वह अमेठी से जीत गईं विजय यात्रा निकाली गई थी. मुझे लगता है कि कांग्रेस के कुछ समर्थकों को ये बात पसंद नहीं आई. हमें कुछ लोगों पर शक है.


कन्नौज में कैसे सुब्रत पाठक ने डिंपल यादव को हराया?| दी लल्लनटॉप शो| Episode 223

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

शादी और त्योहार से जुड़ी झारखंड की 5000 साल पुरानी इस चित्रकला को बड़ी पहचान मिली है

जानिए क्या खास है इस कला में.

जिस मंदिर के पास हजारों करोड़ रुपये हैं, उसके 50 प्रॉपर्टी बेचने के फैसले पर हंगामा क्यों हो गया

साल 2019 में इस मंदिर के 12 हजार करोड़ रुपये बैंकों में जमा थे.

पुलवामा हमले के लिए विस्फोटक कहां से और कैसे लाए गए, नई जानकारी सामने आई

पुलवामा हमला 14 फरवरी, 2019 को हुआ था.

दो महीने बाद शुरू हुई हवाई यात्रा, जानिए कैसा रहा पहले दिन का हाल?

दिल्ली में पहले दिन 80 से ज्यादा उड़ानें कैंसिल क्यों करनी पड़ी?

बलबीर सिंह सीनियर: तीन बार के हॉकी गोल्ड मेडलिस्ट, जिन्होंने 1948 में इंग्लैंड को घुटनों पर ला दिया था

हॉकी लेजेंड और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और कोच बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन.

दूसरे राज्य इन शर्तों पर यूपी के मजदूरों को अपने यहां काम करने के लिए ले जा सकते हैं

प्रवासी मजदूरों को लेकर सीएम योगी ने बड़ा फैसला किया है.

ऑनलाइन क्लास में Noun समझाने के चक्कर में पाकिस्तान की तारीफ, टीचर सस्पेंड

टीचर शादाब खनम ने माफी भी मांगी, लेकिन पैरेंट्स ने शिकायत कर दी.

लद्दाख में तकरार बढ़ी, तीन जगह चीनी सेना ने मोर्चा लगाया, तंबू गाड़े

दोनों ओर के सैनिकों ने मोर्चा संभाला.

पाताल लोक वेब सीरीज में फोटो से छेड़छाड़ पर BJP विधायक ने की अनुष्का से माफी की मांग

प्रोड्यूसर अनुष्का शर्मा पर रासुका के तहत कार्रवाई की मांग की.

कानपुर स्टेशन पर ट्रेन रुकी और खाने को लेकर आपस में भिड़ गए प्रवासी मज़दूर

दो कोचों के मज़दूर आपस में झगड़ पड़े. कुछ को खाना मिला, बाकी जमीन पर गिर गया.