Submit your post

Follow Us

क्या अनिल देशमुख कोरोना पीड़ित होते हुए भी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे?

मुंबई के एंटीलिया केस से शुरू हुआ मामला सचिन वाझे से होते हुए मुंबई पुलिस कमिश्नर और अब महाराष्ट्र के गृहमंत्री तक पहुंच चुका है. महाविकास आघाडी गठबंधन सरकार पर सवाल उठने लगे हैं और प्रमुख विपक्षी दल बीजेपी इस मौके को हाथ से जाने नहीं देना चाहती है. बीजेपी नेता संसद में भी इस मामले को उठा रहे हैं और महाराष्ट्र सरकार को घेर रहे हैं. इस मामले में चौतरफा घिरती दिख रही उद्धव ठाकरे सरकार को बचाने के लिए शरद पवार सामने आए और एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में शरद पवार ने कहा कि गृहमंत्री अनिल देशमुख पर लगे आरोप निराधार हैं और वो अपना इस्तीफा नहीं देंगे. उन्होंने कहा कि देशमुख पर सचिन वाझे से मिलने के आरोपों में भी कोई दम नहीं है क्योंकि जिस दौरान इस मुलाकात की बातें कही जा रही हैं, उस वक्त देशमुख कोरोना से जूझ रहे थे. वे पहले अस्पताल और फिर होम क्वारंटीन में थे. पवार ने कहा कि अनिल देशमुख 5 से 15 फरवरी के बीच अस्पताल में थे और 16 से 27 फरवरी के बीच क्वारंटीन थे.

इधर शरद पवार प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे, उधर बीजेपी नेताओं ने ट्विटर पर सवाल करने शुरू कर दिए. बीजेपी नेता अमित मालवीय ने अनिल देशमुख के ही एक वीडियो ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा कि शरद पवार दावा कर रहे हैं कि देशमुख अस्पताल और क्वारंटीन में थे लेकिन 15 फरवरी को देशमुख प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे.

अमित मालवीय ने ठीक उसी वक्त ट्वीट किया जिस वक्त शरद पवार की प्रेस कॉन्फ्रेंस चल रही थी. मालवीय के ट्वीट को लेकर शरद पवार से प्रेस कॉन्फ्रेंस में सवाल किए गए. इस पर शरद पवार ने कहा कि देशमुख के मेडिकल कागज उनके पास हैं, जिनमें लिखा है कि 5 से 15 फरवरी तक वो अस्पताल में थे. इसके बाद भी पत्रकार जब उनसे सवाल करते रहे तब पवार ने कहा कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ये कॉन्फ्रेंस हुई थी. पवार ने कहा कि इस पूरे विवाद का महाराष्ट्र की सरकार पर कोई असर नहीं पड़ेगा, क्योंकि जिस अफसर ने आरोप लगाए हैं वह खुद संदेह के घेरे में हैं.

इस बाच अनिल देशमुख ने भी ट्विटर पर एक वीडियो जारी किया, जिसमें उन्होंने बताया कि 15 तारीख को वो अस्पताल से डिस्चार्ज हुए थे और फिर घर पर क्वारंटीन हो गए थे. उन्होंने कहा कि जिस वक्त वे अस्पताल से निकल रहे थे, पत्रकारों ने सवाल किए. देशमुख ने कहा कि मैं कमजोरी महसूस कर रहा था और इसलिए कुर्सी पर बैठ गया. ये अस्पताल के गेट पर हुआ.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक देशमुख ने कहा कि पत्रकार एक दिन पहले से उनके साथ बात करना चाहते थे, लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इंकार कर दिया था. उन्होंने कहा कि मैं लगातार मना कर रहा था लेकिन कुछ मीडिया वाले बात करने पर अड़े थे.

देशमुख ने कहा कि जब उनकी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई, तब वह अस्पताल से बाहर निकले थे. देशमुख का RTPCR टेस्ट पॉजिटिव आया था, जिसके बाद वे अस्पताल में भर्ती हुए थे. जिस दिन उन्हें कोरोना पाया गया था, उसके 11 दिन के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया था.

गौरतलब है कि परमबीर सिंह की चिट्ठी को शिवसेना और NCP साजिश बता रहे हैं. दूसरी तरफ परमबीर सिंह सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं और CBI जांच की मांग की है. परमबीर सिंह ने कहा है कि अनिल देशमुख के घर की CCTV की पड़ताल होनी चाहिए. साथ ही उन्होंने मुंबई पुलिस कमिश्नर पद से अपने ट्रांसफऱ को भी चुनौती दी है.


 

वीडियो- मनसुख हिरेन केस: NIA को केस सौंपने से पहले, ATS ने सचिन वाझे को बनाया मुख्य आरोपी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

कोरोना मरीजों को अस्पताल में भर्ती करने के नियमों में क्या बड़ा बदलाव हुआ है?

कोरोना मरीजों को अस्पताल में भर्ती करने के नियमों में क्या बड़ा बदलाव हुआ है?

स्वास्थ्य मंत्रालय ने नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं.

मदरसे में क्लीनिक चला रहा था फर्जी डॉक्टर, छापेमारी के लिए गई टीम को बंधक बनाने की कोशिश

मदरसे में क्लीनिक चला रहा था फर्जी डॉक्टर, छापेमारी के लिए गई टीम को बंधक बनाने की कोशिश

मामला मध्य प्रदेश के आगर मालवा का है.

कोरोना: ऑक्सीजन और दवाइयों की सप्लाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने टास्क फोर्स बनाया

कोरोना: ऑक्सीजन और दवाइयों की सप्लाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने टास्क फोर्स बनाया

इनमें 10 देश के जाने-माने डॉक्टर और दो सेक्रेटरी लेवल के अधिकारी हैं.

पंजाब: नहर में बहते मिले 600 से ज्यादा रेमडेसिवीर इजेक्‍शन

पंजाब: नहर में बहते मिले 600 से ज्यादा रेमडेसिवीर इजेक्‍शन

डिब्‍बे पर लिखा था 'सरकारी आपूर्ति' के लिए.

कोरोना के इलाज में एक और दवा के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी

कोरोना के इलाज में एक और दवा के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी

DRDO ने तैयार किया है.

कोविड-19: सरकार जो दवा बांट रही है, उसके बारे में अलग ही दावा किया जा रहा है!

कोविड-19: सरकार जो दवा बांट रही है, उसके बारे में अलग ही दावा किया जा रहा है!

कोविड के एसिंप्टोमेटिक या हल्के इंफेक्शन वालों को आयुष-64 दिया जा रहा है.

BJP के विधायक ने किया गोमूत्र से कोरोना ठीक होने का फर्जी दावा

BJP के विधायक ने किया गोमूत्र से कोरोना ठीक होने का फर्जी दावा

आप इस चक्कर में मत पड़िए

चीन की वैक्सीन को WHO का अप्रूवल, जानिए कितनी कारगर है?

चीन की वैक्सीन को WHO का अप्रूवल, जानिए कितनी कारगर है?

45 देशों में ऑलरेडी इस्तेमाल हो रही है ये वैक्सीन.

परिवार सहित अंडरग्राउंड हुआ खान चाचा रेस्टोरेंट का मालिक नवनीत कालरा

परिवार सहित अंडरग्राउंड हुआ खान चाचा रेस्टोरेंट का मालिक नवनीत कालरा

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कालाबाजारी का आरोप, पुलिस तलाश में जुटी.

चुनाव आयोग के वकील ने क्या कहते हुए इस्तीफ़ा दे दिया है?

चुनाव आयोग के वकील ने क्या कहते हुए इस्तीफ़ा दे दिया है?

सुप्रीम कोर्ट में चुनाव आयोग का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील का इस्तीफा.