Submit your post

Follow Us

सागर धनखड़ हत्या: जिस दोस्त ने मारपीट का वीडियो बनाया, उसने सुशील कुमार की मुश्किल बढ़ा दी है!

4 मई की रात दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में युवा पहलवान सागर धनखड़ की कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी. हत्या का आरोप है ओलंपिक मेडलिस्ट रेसलर सुशील कुमार और उनके दोस्तों पर. CCTV फुटेज भी सामने आए हैं, जिसमें ये लोग लाठी-डंडा लेकर पीटते दिख रहे हैं. उस रात वहां पर एक व्यक्ति और था. सुशील का दोस्त प्रिंस, जो घटना का वीडियो बना रहा था. ख़बर ये है कि सुशील का ये दोस्त अब सरकारी गवाह बन गया है.

इंडिया टुडे की ख़बर के मुताबिक घटना की रात सुशील ने ही प्रिंस से वीडियो बनाने के लिए कहा था. अब तक इस मामले में 9 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. 3 की तलाश जारी है.

यहां पर बताते चलें कि सरकारी गवाह असल में होता कौन है? यूं तो हर वो गवाह सरकारी गवाह है, जो अदालत में गवाही दे रहा है. लेकिन अगर किसी अपराध में एक से ज़्यादा लोग शामिल हैं और इन संयुक्त अपराधियो में से कोई एक गवाही दे, साक्ष्य उपलब्ध कराए. तो उसे कहते हैं – वायदा माफ़ गवाह. आम तौर पर इसे भी सरकारी गवाह ही कह दिया जाता है.

कौन बन सकता है सरकारी गवाह?

अगर प्रोसीक्यूशन किसी सह-अपराधी को सरकारी गवाह बनाना चाहती है तो उसे अदालत में अर्ज़ी देनी होती है. कि हम फलां अपराधी को सरकारी (वायदा माफ़) गवाह बनाना चाहते हैं. अब इसमें अदालत ये देखती है कि उस व्यक्ति का अपराध में कितना रोल है. अगर वो ही मुख्य आरोपी है तो वो चाहकर भी सरकारी गवाह नहीं बन सकेगा. वो आरोपी ही रहेगा. अगर कोई ऐसा व्यक्ति, जिसकी अपराध में संलिप्तता तो है, लेकिन बहुत बड़े स्तर पर नहीं तो अदालत उसे सरकारी गवाह बनने की अनुमति दे देती है. CrPC की धारा-306 के तहत वायदा माफ़ गवाह को क्षमादान दिए जाने का प्रावधान है. न्यायाधीश स्वविवेक के आधार पर उसे सज़ा में कुछ छूट भी दे सकते हैं.

बेइज्जती का बदला लेने के लिए हत्या?

इंडिया टुडे के रिपोर्टर अरविंद ओझा ने पुलिस के हवाले से बताया है कि 4 मई को दिन में सुशील कुमार छत्रसाल स्टेडियम आए थे. तब उनके साथ ज्यादा रेसलर नहीं थे. स्टेडियम में अचानक उनकी सोनू, सागर, अमित, भक्तु, रविन्द्र और विकास वगैरह से कहासुनी हो गई. सोनू कुख्यात गैंगस्टर काला जठेड़ी का ममेरा भाई है. ये विवाद मॉडल टाउन के एक फ्लैट को लेकर हुआ था. पुलिस सूत्र बताते हैं कि इन सबने सुशील कुमार की शर्ट का कॉलर पकड़ लिया था. इतना ही नहीं, देख लेने की धमकी देते हुए दौड़ा भी दिया. सुशील को यह अपनी बेइज्जती लगी. उन्होंने कुख्यात नीरज बवाना और असौदा गिरोह के बदमाशों का सहारा लिया और हरियाणा से तमाम गुंडे बुलाकर उसी रात सागर और उसके दोस्तों को फ्लैट से उठाया और स्टेडियम ले जाकर पीटा. इसी में सागर की मौत हो गई.


सुशील कुमार ने क्या कॉलर पकड़ने का बदला लेने के लिए गुंडे बुलाकर की पहलवान सागर धनखड़ की हत्या?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

राजस्थान: बीच सड़क गोली मारकर डॉक्टर दंपति की हत्या के मामले में पुलिस को क्या पता चला है?

सोशल मीडिया में वायरल है CCTV फुटेज.

वो तस्वीर जिसमें पहलवान सुशील कुमार खुद सागर को पीटते दिख रहे हैं

'स्टेडियम में मारपीट के दौरान गैंगस्टर के भाई को पेशाब पिलाने की भी कोशिश हुई थी'.

सरकार के नए नियमों पर कोर्ट पहुंचा वॉट्सऐप, कहा- निर्दोष इंसान जेल जा सकता है

इस पर सरकार ने भी जवाब दिया है.

किस संस्था ने रामदेव के खिलाफ एक हजार करोड़ की मानहानि का केस करने की बात कही है?

इससे बचने के लिए बाबा को क्या करने की सलाह दी है?

ओडिशा पहुंचा तूफान 'यास', पटरियों से बांधने पड़े ट्रेन के पहिए

पश्चिम बंगाल से लेकर झारखंड हाई अलर्ट पर हैं.

सागर हत्याकांड: सुशील कुमार का साथ देने के आरोप में बवाना गैंग के चार मेंबर गिरफ्तार

सागर की हत्या के आरोप में पुलिस सुशील कुमार को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है.

भारत में 26 मई से फेसबुक और ट्विटर जैसे ऐप बंद हो जाएंगे?

क्या हैं भारत सरकार के नए नियम, जिन्हें कंपनियों ने अब तक नहीं माना?

हत्यारोपी पहलवान सुशील कुमार से मेडल्स और अवॉर्ड्स छीने जा सकते हैं, क्या कहते हैं नियम?

पद्म श्री, खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्ड के अलावा सुशील कुमार के नाम तमाम मेडल भी हैं.

कौन हैं डॉ.जयेश लेले, जिन्होंने बीच डिबेट में ही रामदेव को शटअप बोल दिया?

एलोपैथी बनाम आयुर्वेद को लेकर डॉक्टर और बाबा के बीच हुई तीखी बहस.

रामदेव ने वापस लिया एलोपैथी के विरोध वाला बयान, कहा- वॉट्सऐप मैसेज पढ़कर बोल दिया था

रामदेव ने बयान पर खेद जताया लेकिन एलोपैथी डॉक्टरों को एक नसीहत भी दे डाली.