Submit your post

Follow Us

लॉकडाउन में राम गोपाल वर्मा ने कांड कर दिया है, उनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा

”जब तमाम फिल्मी लोग झाड़ू-पोछा, खाना बनाने, बर्तन धोने और कपड़े सुखाने में लगे थे, तब मैंने एक फिल्म बना दी.”

ये कहना है मशहूर फिल्ममेकर राम गोपाल वर्मा का. और उनका कहना फैक्चुअली करेक्ट है. राम गोपाल वर्मा शॉर्ट में रामू ने ‘कोरोनावायरस’ नाम की फिल्म बनाई और उसका ट्रेलर भी रिलीज़ कर दिया. ये सबकुछ हुआ लॉकडाउन के दौरान. लोगों ने कहा ये कैसे कर लिया भाई शूटिंग वगैरह पर तो रोक है. इस पर रामू का कहना है कि उन्होंने सभी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए और एक्टर्स की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इस फिल्म को शूट किया है. लोगों ने कहा-

रामू ने दैनिक भास्कर से हुई बातचीत में इसका जवाब देते हुए कहा-

”मैंने किसी भी इंडस्ट्री मेंबर से इसकी परमिशन इसलिए नहीं ली क्योंकि वो लोग एमेच्योर (नौसिखिया या अपरिपक्व) हैं. इस मुश्किल परिस्थिति में हमें नए तरीके सोचने चाहिए कि हम शूटिंग और दूसरे काम कैसे करें. वो कहावत है न- ‘आवश्यकता ही अविष्कार की जननी है’. हमने शूटिंग के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा इसलिए हमें किसी से परमिशन लेने की ज़रूरत नहीं पड़ी. इस फिल्म को पूरी तरह से एक ही लोकेशन (एक घर) पर शूट किया गया है.”

फिल्म में क्या है?

‘कोरोनावायरस’ नाम की ये फिल्म एक फैमिली के बारे में है. लॉकडाउन की वजह से पूरी फैमिली एक घर में कैद है. इसी बीच एक सदस्या को खांसी आनी शुरू हो जाती है. घर में खौफ का माहौल बन जाता है. सबको उसी बात का डर है, लेकिन लोग स्वीकार करने से बचते नज़र आ रहे हैं. ट्रेलर के आखिरी पलों में दिखता है कि इस बीमारी का जो डर उनके भीतर बैठा हुआ है, उसके चक्कर में घर के मुखिया क्रेज़ावस्था में पहुंच जाते हैं. फिल्म का ट्रेलर यहां देखिए:

फिल्म का ट्रेलर जैसे कटा, उससे ये बिलकुल थ्रिलर वाली फील दे रही है. खैर, ये तो ट्रेलर की बात हुई लेकिन जिस तरह की बात रामू अपने ट्वीट्स में कर रहे हैं, वो फिल्म के लिए स्पॉयलर से कुछ खास कम नहीं है. उनका स्टैंड क्लीयर है कि कोरोना वायरस उन्हें कैद में नहीं रख सकता. वो ऐसे ‘चंगू-मंगू’ वायरस से नहीं डरते. जो आदमी ये सोचता हो, वो फिल्म में इस वायरस को निष्पक्ष तरीके से तो नहीं ही दिखाने वाला. अमिताभ बच्चन ने जब ‘कोरोनावायरस’ का ट्रेलर ट्वीट किया, तब देखिए रामू का कहना था-

रामू के खिलाफ लिया जाएगा एक्शन

रामू तो ठीक हैं लेकिन पहले इस फिल्म के खिलाफ एक्शन लिया जाना चाहिए. शायद यही ट्रेलर देखने के बाद सरदार खान ने पूछा था-

क्या बवासीर बना दिए हो बे?

जोक्स अपार्ट. अब रामू कथा पर वापस लौटते हैं. इस वायरस से बचाव का पहला उपाय था सोशल डिस्टेंसिंग यानी लोगों को शारीरिक रूप से एक-दूसरे से दूर रहना था. लेकिन FWICE (Federation of Western India Cine Employees) के मुताबिक रामू ने अपनी फिल्म में इस नियम की धज्जियां उड़ाकर रख दी हैं. दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के मुताबिक FWICE के प्रमुख बीएन तिवारी का कहना है कि उन्होंने रामू की फिल्म का ट्रेलर देखा. ट्रेलर के एक सीन में उन्हें आधे दर्जन कलाकार एक ही कमरे या छोटे स्पेस में नज़र आ रहे हैं. ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कहां किया जा रहा? तिवारी के मुताबिक इस मामले में राम गोपाल वर्मा के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया जाएगा.

‘कोरोनावायरस’ से पहले ही रोम गोपाल वर्मा की दो फिल्में रिलीज़ के लिए ड्यू हैं.पहली ‘एंटर द गर्ल ड्रैगन’ और दूसरी पॉर्नस्टार मिया माल्कोवा स्टारर ‘क्लाइमैक्स’. उनकी तीसरी फिल्म ‘कोरोनावायरस’ कब और कहां रिलीज़ होगी, इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है.


वीडियो देखें: राम गोपाल वर्मा ने शराब खरीदती लड़कियों की तस्वीर ट्वीट की, तो बवाल मच गया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लॉकडाउन-5 को लेकर किस तरह के प्रपोज़ल सामने आ रहे हैं?

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ सकता है.

क्या जम्मू-कश्मीर में फिर से पुलवामा जैसा अटैक करने की तैयारी में थे आतंकी?

सिक्योरिटी फोर्स ने कैसे एक्शन लिया? कितना विस्फोटक मिला?

लद्दाख में भारत और चीन के बीच डोकलाम जैसे हालात हैं?

18 दिनों से भारत और चीन की फौज़ आमने-सामने हैं.

शादी और त्योहार से जुड़ी झारखंड की 5000 साल पुरानी इस चित्रकला को बड़ी पहचान मिली है

जानिए क्या खास है इस कला में.

जिस मंदिर के पास हजारों करोड़ रुपये हैं, उसके 50 प्रॉपर्टी बेचने के फैसले पर हंगामा क्यों हो गया

साल 2019 में इस मंदिर के 12 हजार करोड़ रुपये बैंकों में जमा थे.

पुलवामा हमले के लिए विस्फोटक कहां से और कैसे लाए गए, नई जानकारी सामने आई

पुलवामा हमला 14 फरवरी, 2019 को हुआ था.

दो महीने बाद शुरू हुई हवाई यात्रा, जानिए कैसा रहा पहले दिन का हाल?

दिल्ली में पहले दिन 80 से ज्यादा उड़ानें कैंसिल क्यों करनी पड़ी?

बलबीर सिंह सीनियर: तीन बार के हॉकी गोल्ड मेडलिस्ट, जिन्होंने 1948 में इंग्लैंड को घुटनों पर ला दिया था

हॉकी लेजेंड और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और कोच बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन.

दूसरे राज्य इन शर्तों पर यूपी के मजदूरों को अपने यहां काम करने के लिए ले जा सकते हैं

प्रवासी मजदूरों को लेकर सीएम योगी ने बड़ा फैसला किया है.

ऑनलाइन क्लास में Noun समझाने के चक्कर में पाकिस्तान की तारीफ, टीचर सस्पेंड

टीचर शादाब खनम ने माफी भी मांगी, लेकिन पैरेंट्स ने शिकायत कर दी.