Submit your post

Follow Us

राकेश टिकैत की गिरफ्तारी की झूठी खबर किसने फैलाई?

तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों ने शनिवार, 26 जून को विरोध मार्च निकाला. आंदोलन के 26 जून को सात महीने पूरे होने पर किसानों की योजना देशभर में राजभवनों की ओर मार्च करने और ज्ञापन सौंपने की थी. इस बीच भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत की गिरफ्तारी की खबर सोशल मीडिया पर चलने लगी.

कहां से उड़ी खबर?

26 जून की दोपहर 12 बजकर 28 मिनट पर एक ट्वीट आया. किसान एकता मोर्चा के ट्विटर हैंडल से. लिखा गया- राकेश टिकैत को दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया गया. पर थोड़ी देर बार ये ट्वीट डिलीट हो गया. इंडिया टुडे की पत्रकार मिलन शर्मा ने इस ट्वीट का स्क्रीनशॉट शेयर किया, जो आप नीचे देख सकते हैं-

इसके बाद किसान एकता मोर्चा ने गलती सुधारते हुए खुद ट्वीट कर कर जानकारी दी कि राकेश टिकैत की गिरफ्तारी नहीं हुई है. इसमें राकेश टिकैत का वीडियो भी है. वह कह रहे हैं कि गिरफ्तारी की बात चली है. पर ऐसा नहीं हुआ है. बस एक अफवाह फैलाई गई. टिकैत ने लोगों को थैंक्यू कहते हुए अपील की कि जिस तेज़ी से ये फैला है, चीजों को पहले वैरिफाई कर लें और आगे इसका ध्यान रखें.

वहीं, राकेश टिकैत ने भी अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर बताया कि उनकी गिरफ्तारी की खबर फर्जी है. वह गाजीपुर बॉर्डर पर हैं और सामान्य है. ANI से बात करते हुए टिकैत ने कहा कि

पुलिस किसी युद्धवीर सिंह नाम के व्यक्ति को लेकर गई है. इसलिए शायद कुछ लोग असमंजस में पड़ गए.

DCP ईस्ट दिल्ली के ट्विटर हैंडल ने भी इस पर ट्वीट किया. कहा

फर्जी खबर, राकेश टिकैत की गिरफ्तारी की खबर फेक है. कृपया इस तरह की खबरों से दूर रहें. जिन लोगों ने ये भ्रामक खबर फैलाई है, उनके लिखाफ दिल्ली पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी.

युद्धवीर सिंह को पुलिस साथ क्यों ले गई?

खबर थी कि किसान 26 जून को राज्यपाल और उपराज्यपाल को ज्ञापन सौंपेंगे. लेकिन राकेश टिकैत के बेटे गौरव टिकैत ने आश्वासन दिया था कि किसान देशभर में शांतिपूर्ण तरीके से राज्यपालों से मिलेंगे और ज्ञापन सौंपेंगे. पर जब किसान नेता युद्धवीर सिंह दिल्ली में उपराज्यपाल को ज्ञापन देने के लिए उनके घर के पास पहुंचे, तो उनके साथ 8-10 लोग थे. हालांकि पुलिस ने उन्हें राजभवन जाने नहीं दिया और उन्हें अपने साथ ले गई. बता दें कि किसान प्रदर्शन को देखते हुए पहले से ही उपराज्यपाल के घर के सभी रास्तों पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात थी.

दरअसल, कृषि कानून को लेकर देश में देश के किसान आंदोलन कर रहे हैं. सात महीने पूरे हो चुके हैं. और आंठवा महीना शुरू हो गया है. किसान सिंधू, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे हैं. संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा था कि किसान 26 की तैयारी कर रहे हैं और इसे ‘कृषि बचाओ, लोकतंत्र बचाओ दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा. इसके अलावा राकेश टिकैत ने भी कहा था कि आंदोलन जारी रहेगा और गाजीपुर बॉर्डर पर 26 जून को होने वाली किसान महामंचायत में आगे की रणनीति बनाई जाएगी.

आखिरकार उपराज्यपाल से हुई मुलाकात

टिकैत ने भी खुली चेतावनी दी थी. कहा था कि अगर उन्हें उपराज्यपाल से मिलने नहीं दिया गया तो वह दिल्ली कूच करेंगे. पर दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने कहा कि कुछ किसान मिलना चाहते हैं उन्हें परमीशन दे दी गई है. वह शांतिपूर्ण तरीके से उपराज्यपाल से मिलकर उन्हें ज्ञापन सौपेंगे. और ऐसा हुआ भी.  खुद टिकैत ने अपने ट्विटर हैंडल से जानकारी दी. बताया-

दिल्ली के उप राज्यपाल महोदय जी से किसानों की नॉर्थ ईस्ट डीसीपी दफ्तर में वर्चुअल मीटिंग कराई गई राज्यपाल महोदय के सचिव ने डीसीपी दफ्तर आकर ज्ञापन लिया.आज किसान दिल्ली कूच नहीं करेंगे.

किसान नेताओं का कहना है कि जब तक कानून वापस नहीं होते उनका आंदोलन खत्म नहीं होगा. वहीं कृषि मंत्री ने कहा है कि सरकार बातचीत के लिए तैयार है. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि केंद्र सरकार कृषि कानूनों के प्रावधानों पर बातचीत फिर से शुरू करने के लिए तैयार है.


वीडियो देखें:  राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव समेत कई किसान टोहना में थाने के बाहर क्यों प्रदर्शन कर रहे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

चंडीगढ़ और पंचकुला में बवाल.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

ट्विटर ने क्या वजह बताई?

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

मामला एक वायरल वीडियो से जुड़ा है.

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

नंबर देने के फॉर्मूले से सुप्रीम कोर्ट भी सहमत.

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

चिराग को राजनीति में आने की सलाह किसने दी थी?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

कुछ वक़्त से लगातार हो रहे हैं फ़ेरबदल.

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

क्या यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों को सरकारी प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

कौन हैं रामबाबू हरित और जसवंत सैनी?

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

अयोध्याः 20 लाख की जमीन मेयर के भतीजे ने ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, महंत ने उठाए सवाल

ट्रस्ट द्वारा खरीदी जा रही जमीनों के दो और सौदे विवादों के घेरे में.

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

आरोप लगाने वाली महिला के खिलाफ प्रिंस ने भी फरवरी में दर्ज कराई थी FIR.