Submit your post

Follow Us

राहुल द्रविड़ ने ऐसा क्या कर दिया कि टूट गया करोड़ों क्रिकेट फैंस का दिल!

तो राहुल द्रविड़ अब टीम इंडिया के कोच नहीं बनेंगे? ये सवाल इसलिए क्योंकि द्रविड़ ने एक बार फिर से नेशनल क्रिकेट एकेडमी के हेड ऑफ क्रिकेट पद के लिए अप्लाई किया है. द्रविड़ एनसीए में ही बने रहना चाहते हैं. द्रविड़ के इस फैसले का मतलब ये भी है कि सीनियर टीम के कोच अब वो नहीं बन पाएंगे. यानी फैंस का सपना टूट सकता है. या यूं कहिए कि लगभग टूट गया है.

द्रविड़ ने फिर किया अप्लाई

गौरतलब है कि एनसीए के क्रिकेट हेड की पोस्ट के लिए द्रविड़ का दो साल का कॉन्ट्रेक्ट हाल ही में समाप्त हुआ है. बीसीसीआई के नए संविधान के मुताबिक, कार्यकाल को आगे बढ़ाने का कोई नियम नहीं है. फिर से चयन की प्रक्रिया शुरू करने का नियम है. यानी द्रविड़ को फ्रेश अप्लाई करना था. और अब नियुक्ति की प्रक्रिया से गुजरना होगा.

दूसरी ओर, टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री का कार्यकाल टी20 विश्वकप के बाद खत्म हो रहा है. अक्टूबर में टी20 विश्व कप होना है. उसके बाद शास्त्री की जगह किसी और को चुना जाएगा. चूंकि, राहुल द्रविड़ हेड कोच की रेस में सबसे आगे थे. तो अटकलें लगाई जा रही थी कि वो ही शास्त्री की जगह लेंगे.

श्रीलंका दौरे पर द्रविड़ बने थे कोच

आपको बता दें, जब श्रीलंका दौरे पर राहुल द्रविड़ को टीम इंडिया का कोच बनाया गया. तो क्रिकेट फैंस बड़े खुश हुए. द्रविड़ को टीम इंडिया का कोच बनते देखना, हर किसी के लिए सुखद एहसास था. इसके पीछे की वजह है द्रविड़ का व्यक्तित्व. साथ ही उन्होंने जूनियर लेवल पर एक सिरे से युवा खिलाड़ियों को तैयार किया है. कई ऐसे खिलाड़ी हैं, जो आज टीम इंडिया के लिए खेल रहे हैं. और उनकी कामयाबी में द्रविड़ की मेहनत है.

उदाहरण के तौर पर ऋषभ पंत, मोहम्मद सिराज, पृथ्वी शॉ, शुभमन गिल. और जो खिलाड़ी टीम इंडिया का हिस्सा नहीं हैं. वो आईपीएल में बढ़िया खेल रहे हैं. हो सकता है आने वाले महीने और सालों में उन्हें फैंस टीम इंडिया के लिए खेलते हुए देखे भी. ऐसे में राहुल द्रविड़ के योगदान को देखते हुए हर किसी की यही ख्वाहिश थी कि अब एनसीए छोड़कर द्रविड़ सीनियर टीम के हेड कोच बनें. लेकिन द्रविड़ के एनसीए में अप्लाई करने की वजह से उम्मीदें लगभग खत्म हो गई हैं.

बीसीसीआई के एक सूत्र ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया,

हां, राहुल ने क्रिकेट प्रमुख के पद के लिए फिर से आवेदन किया है. अब आपको इस बात को समझने के लिए जीनियस बनने की जरूरत नहीं कि वो फिर इस पद पर आ सकते हैं. उन्होंने एनसीए में रहते हुए शानदार काम किया है. सच्ची मायनों में एनसीए अब सेंटर ऑफ एक्सलेंस बन गया है. राहुल के अलावा किसी ने अब तक इस पद के लिए आवेदन नहीं किया है. बावजूद इसके बीसीसीआई ने आवेदन की तारीख को आगे बढ़ाने का फैसला किया है. ताकि इच्छुक उम्मीदवारों को पर्याप्त समय मिल सके.”

बीसीसीआई के इस सूत्र ने अपनी बात आगे जोड़ते हुए कहा,

बीसीसीआई पदाधिकारियों ने समयसीमा को 15 अगस्त से कुछ दिन और आगे बढ़ाने का फैसला किया है. जब राहुल हेड ऑफ क्रिकेट पद के लिए रेस में हैं तो सभी को पता है कि इस पद के लिए आवेदन करने का ज्यादा मतलब नहीं है. ये एकमात्र औपचारिकता की तरह है. लेकिन हां, अगर किसी को लगता है कि वो इस दौड़ में शामिल हो सकते हैं, तो वो आवेदन दे सकते हैं.

आपको बता दें, राहुल द्रविड़ को टीम इंडिया का कोच बनते देखना, लगभग हर हिंदुस्तानियों की ख्वाहिश है. शास्त्री की जगह द्रविड़ लेते तो हर किसी को खुशी होती. लेकिन द्रविड़ के इस फैसले से आईना लगभग साफ हो गया है. कि बीसीसीआई को द्रविड़ से आगे सोचने की जरूरत है.


लॉर्ड्स में पांचवें दिन विराट कोहली ने ऐसा क्या कहा, कि टीम इंडिया ने गदर मचा दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.