Submit your post

Follow Us

टोक्यो में सिल्वर मेडल जीतकर भी क्यों दुखी हैं नोएडा के डीएम सुहास?

सुहास लालिनकेरे यतिराज. इंडिया के पैरा-बैडमिंटन स्टार और नोएडा यानी गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी. भारत के लिए पैरालंपिक्स में मेडल लाने वाले पहले IAS अफसर. सुहास ने टोक्यो पैरालंपिक्स में बैडमिंटन की SL4 कैटेगरी में भारत के लिए ऐतिहासिक सिल्वर मेडल जीता. एक कड़े फ़ाइनल में भारत के खिलाड़ी को फ़्रांस के लुकास मज़ूर से 1-15, 17-21, 15-21 से हार का सामना करना पड़ा. मेडल जीतने के बाद सुहास का कहना है कि वे अपनी लाइफ में इतना खुश और दुखी एकसाथ कभी नहीं हुए.

38 वर्षीय सुहास ने फाइनल में फ्रेंच खिलाड़ी को तगड़ी टक्कर दी. दूसरे सेट के हाफटाइम तक भी सुहास गोल्ड जीतते दिख रहे थे. लेकिन लुकास ने आखिरी मौकों पर बाजी मार गोल्ड मेडल पर कब्ज़ा किया. सुहास को सिल्वर मेडल जीतने की ख़ुशी तो है लेकिन इस बात को भी दुःख भी है कि वे गोल्ड जीतते-जीतते रह गए. उनका मानना है कि उन्हें दूसरे सेट में ही मैच खत्म कर देना चाहिए था. सिल्वर मेडल जीतने के बाद भारत की पैरालंपिक कमिटी द्वारा रिलीज़ किए एक वीडियो में सुहास ने कहा,

‘बेहद भावुक मौका है. मैं कभी भी अपने जीवन में एक साथ इतना खुश और इतना दुखी नहीं हुआ. बहुत ज्यादा खुश हूं कि मैंने सिल्वर जीता और बेहद दुखी हूं गोल्ड जीतने के इतने क़रीब आकर चूक गया.’

सुहास का कहना है कि हर खिलाड़ी का सपना होता है कि वो जीते और देश का राष्ट्रगान बजते हुए सुने. सुहास ने गोल्ड मेडल मैच हारने पर मलाल जाहिर करते हुए कहा,

‘हां, आप इसी के लिए दुआ करते हो. इसी के लिए आप इतनी मेहनत करते हो. आप इसी की उम्मीद करते हो और सपना देखते हो. जैसा कि मैंने कहा मैं कभी अपने जीवन में इतना इतना खुश और दुखी नहीं हुआ. इतनी पास आकर भी बहुत दूर रह रह गया. लेकिन फिर भी एक पैरालंपिक्स मेडल जीतना कोई छोटी जीत नहीं है. मैंने पिछले कुछ दिनों में जो किया है उसके लिए मुझे खुद पर बहुत गर्व है.’

मैच की बात करें तो सुहास ने फाइनल की शुरुआत बेहद तगड़े अंदाज़ में की. उन्होंने पहले सेट में मजबूत खेल दिखते हुए सेट को 21-15 से जीत लिया. दूसरे सेट में भी एक समय पर वे चार पॉइंट्स से आगे चल रहे थे. लेकिन दो बार के वर्ल्ड चैंपियन लुकास ने वापसी करते हुए सेट को 21-17 से जीत लिया. तीसरे और निर्णायक सेट में भी फ़्रांस के खिलाड़ी ने बेहतर खेल दिखाया और सेट को 21-15 से जीत गोल्ड पर कब्ज़ा किया.

सुहास ने टोक्यो पैरालंपिक्स में भारत को बैडमिंटन में चौथा मेडल दिलवाया है. सुहास से पहले प्रमोद भगत और कृष्णा नागर ने बैडमिंटन की अलग-अलग कैटेगरी में भारत को दो गोल्ड दिलवाए थे. जबकि मनोज सरकार ने ब्रॉन्ज़ जीता है. इंडिया ने इस साल टोक्यो पैरालंपिक्स में 19 मेडल अपने नाम किए है. ये पैरालंपिक्स में भारत का अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है.


टोक्यो पैरालंपिक्स में भारतीय आर्चर हरविंदर सिंह ने क्या कमाल किया है ?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.