Submit your post

Follow Us

नितिन गडकरी ने अधिकारियों से कहा 'काम पूरा करो वरना जनता से धुलाई करवाऊंगा'

नितिन गडकरी, केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री हैं. अपने बयान की वजह से चर्चा में हैं. गडकरी नागपुर में संघ से जुड़े एक कार्यक्रम में बोल रहे थे. और बोलते हुए अचानक ‘फ़ैसला ऑन दी स्पॉट’ वाले मोड में चले गए. वो लघु उद्योगों के विस्तार पर बात कर रहे थे. और ये भी बताने लगे कि अधिकारियों से कैसे काम करवाने चाहिए. गडकरी अपनी सकारात्मक इच्छा शक्ति के बारे में जानकारी दे रहे थे. और इन्हीं सब में एक मीटिंग का भी ज़िक्र किया. अपने अधिकारियों के साथ हुई मीटिंग में उन्होंने अधिकारियों को कैसे फटकारा ये भी बताने लगे.

# कहा क्या?

नितिन गडकरी ने कहा-

हमारे पास यह लालफीताशाही क्यों है. ये सब इंस्पेक्टर क्यों आते हैं. वे रिश्वत लेते हैं. मैं उनके मुंह पर कहता हूं कि आप सरकारी नौकर हैं, मैं जनता के द्वारा चुना गया हूं. मैं लोगों के प्रति जवाबदेह हूं. यदि आप चोरी करते हैं, तो मैं कहूंगा कि आप एक चोर हैं.

नितिन गडकरी ने इस दौरान ये भी कहा-

आज मैंने आरटीओ कार्यालय में एक बैठक की, जिसमें निदेशक और परिवहन आयुक्त ने भाग लिया. मैंने उनसे कहा कि आप आठ दिनों के भीतर इस समस्या को हल करें, अन्यथा मैं लोगों को कानून हाथ में लेकर धुलाई करने को कहूंगा.’ उन्होंने आगे कहा कि उनके शिक्षकों ने यह सिखाया है कि उस सिस्टम को बाहर फेंक दो जो न्याय नहीं देती है.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अधिवेशन में भाग लेने आए उद्यमियों से निडर होकर अपने व्यापार का विस्तार करने के लिए कहा. उन्होंने कहा कि अधिकारी व्यापारियों को परेशान नहीं कर सकते.

उन्होंने कहा कि एमएसएमई रोजगार सृजन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. गडकरी ने कहा, ‘अभी एमएसएमई 11.50 करोड़ युवाओं को रोजगार दे रहे हैं. मैं कोशिश कर रहा हूं कि अगले पांच साल में एमएसएमई में पांच करोड़ और लोगों को रोजगार मिल सके.’ उन्होंने कृषि क्षेत्र के संकट के बारे में चिंता जाहिर करते हुए कहा कि एमएसएमई मंत्रालय हथकरघा, हस्तशिल्प और कृषि उत्पाद प्रसंस्करण उद्योगों पर भी ध्यान दे रहा है.

साथ ही उन्होंने दिल्ली में प्रदूषण के बारे में कहा, ‘मैं आपको यह बताना चाहता हूं कि इन पांच सालों में इस दिशा में कदम उठाये गये हैं. अगले पांच साल में दिल्ली वायु प्रदूषण और जल प्रदूषण से पूरी तरह मुक्त हो जाएगा.’


वीडियो देखें: 

नरेंद्र मोदी ने भारत रत्न से पहले प्रणब मुखर्जी से क्या अफसोस जताया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

Exclusive: गलवान घाटी में 15 जून को तीन बार हुई लड़ाई में क्या-क्या हुआ था, विस्तार से जानिए

तीसरी लड़ाई के बाद भारत ने 16 चीनी सैनिकों के शव सौंपे थे.

राज्यसभा की 18 सीटों में से कांग्रेस और बीजेपी ने कितनी जीतीं?

एक और पार्टी है जिसने कांग्रेस जितनी सीटें जीती हैं.

दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ऑक्सीजन सपोर्ट पर, दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किए गए

कुछ दिन पहले कोरोना पॉज़िटिव आए थे, अब प्लाज़मा थेरेपी दी जाएगी.

चीनी सेना की यूनिट 61398, जिससे पूरी दुनिया के डेटाबाज़ डरते हैं

बड़ी चालाकी से काम करती है ये यूनिट.

गलवान घाटी में झड़प के बाद भी चीनी सेना मौजूद, 200 से ज्यादा ट्रक और टेंट लगाए

सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह सामने आया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.

लद्दाख: गलवान घाटी में भारत-चीन झड़प पर विपक्ष के नेता क्या बोले?

सेना के एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद हुए हैं.