Submit your post

Follow Us

MP: क्या बिल जमा न करने की वजह से अस्पताल में 80 साल के बुजुर्ग के हाथ-पैर रस्सी से बांधे गए?

मध्य प्रदेश का शाजापुर सिटी अस्पताल. यहां 80 साल के बुजुर्ग का एक वीडियो सामने आया, जिसमें उनके हाथ-पैर बेड से बंधे हुए दिख रहे हैं. आरोप है कि बिल जमा ना करने के विवाद की वजह से ऐसा हुआ है. वहीं, अस्पताल प्रशासन ने इससे इनकार करते हुए कहा कि उन्हें ऐंठन और कई समस्याएं हो रही थीं इसलिए ऐसा किया गया. फिलहाल मामले की जांच हो रही है.

ज़िला अस्पताल की तरफ से भी जांच के आदेश दिए गए हैं. एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मामले में सख्त कार्रवाई होगी.

बुजुर्ग के परिवार का क्या कहना है

बुजर्ग के परिवार का आरोप है कि बुजुर्ग के हाथ पैर इसलिए बांध दिए गए क्योंकि वो 11,000 रुपए की व्यवस्था नहीं कर सके. एनडीटीवी के मुताबिक, बुजुर्ग की बेटी ने कहा,

हमने पांच हजार रुपए भर्ती के समय दिए लेकिन कुछ दिनों तक इलाज चला तो हमारे पास इतने पैसे नहीं थे.

अस्पताल का क्या कहना है

अस्पताल के एक डॉक्टर ने ‘दी लल्लनटॉप’ को बताया,

बुजुर्ग की आंत में दिक्कत थी. उन्हें ऐंठन थी और घबराहट हो रही थी. इस उम्र में इलेक्ट्रोलाइट इंबैलेंस हो जाता है. मरीज बहक जाते हैं. वो गिर जाते हैं. चोट लग जाती है. ऐसी स्थिति में दो ऑप्शन होते हैं. या तो उन्हें बेहोश किया जाता लेकिन इस उम्र में ऐसा करने पर सांस की नली रुक सकती है. वेंटिलेटर की ज़रूरत पड़ती है. दूसरा ये कि मरीज को बांधा जाता है ताकि वो ख़ुद को चोट ना पहुंचा लें. ये कॉमन प्रैक्टिस है.

प्रशासन ने कहा- जांच जारी

मेडिकल बिल जमा ना करने के आरोप पर डॉक्टर कहते हैं कि बुजुर्ग की बेटी की तरफ से बिल जमा ना करने पर हंगामा किया गया. हमने बग़ैर कोई चार्ज लिए उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी. पैसों की वजह से उन्हें नहीं बांधा गया था. वो सुबह से ही बंधे हुए थे.

एएनआई के मुताबिक, शाजापुर के डीएम ने कहा कि हमने अस्पताल में एक टीम भेजी थी. पुलिस जांच कर रही है. रिपोर्ट का इंतज़ार है. उसके हिसाब से कार्रवाई होगी. मामले को लेकर यूथ कांग्रेस ने मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह सरकार को घेरा भी है.


मध्य प्रदेश: पति ने शराब के लिए पैसे मांगे, तो पत्नी ने अपनी मां के साथ मिलकर मार डाला!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

केजरीवाल का फैसला, दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पताओं में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.

3740 श्रमिक ट्रेनों में से 40 प्रतिशत ट्रेनें लेट रहीं, रेलवे ने बताई वजह

औसतन एक श्रमिक ट्रेन 8 घंटे लेट हुई.

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.

मशहूर एस्ट्रोलॉजर बेजान दारूवाला नहीं रहे, कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी

बेटे ने कहा- निमोनिया और ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत.

लॉकडाउन-5 को लेकर किस तरह के प्रपोज़ल सामने आ रहे हैं?

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ सकता है.