Submit your post

Follow Us

मोदी कैबिनेट में ये 43 मंत्री लेंगे शपथ, जान लीजिए कौन हैं ये

मोदी कैबिनेट में बुधवार, 7 जुलाई की शाम को बड़े बदलाव की तैयारी चल रही है. मंत्रिमंडल में कुछ नए नाम जुड़ेंगे. उससे पहले कुछ पुराने चेहरों की विदाई हो रही है. आइए डालते हैं पल-पल के अपडेट्स पर एक नजर-

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन की कैबिनेट से विदाई हो गई है. केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. इसके अलावा श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने भी पद से इस्तीफा दे दिया है. शिक्षा, सूचना और टेक्नॉलोजी राज्यमंत्री संजय धोत्रे ने भी इस्तीफ़ा दे दिया है. जलशक्ति मंत्रालय और सोशल जस्टिस मंत्रालय में राज्यमंत्री रतनलाल कटारिया की भी मोदी कैबिनेट से विदाई हो गई है.

केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री डी वी सदानंद गौड़ा ने भी इस्तीफा दे दिया है. इसके अलावा बाबुल सुप्रीयो ने भी मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. पर्यावरण मंत्रालय में राज्य मंत्री थे. केंद्रीय राज्यमंत्री प्रताप चंद्र सारंगी ने भी इस्तीफा दे दिया है. वह सूक्ष्म, लघु और मध्यम के साथ पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्रालय के राज्य मंत्री थे.

पश्चिम बंगाल से सांसद देबोश्री चौधरी की भी केंद्रीय मंत्रिमंडल से छुट्टी हो गई है. वह महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री हैं. माना जा रहा है कि पश्चिम बंगाल के कुछ नए चेहरों को केंद्रीय कैबिनेट में जगह मिल सकती है.

अब तक इन मंत्रियों के हुए इस्तीफे

1. डॉक्टर हर्षवर्धन
2. रमेश पोखरियाल निशंक
3. संतोष गंगवार
4. संजय धोत्रे
5. बाबुल सुप्रियो
6. राव साहेब दानवे पाटिल
7. सदानंद गौड़ा
8. रतन लाल कटारिया
9. प्रताप सारंगी
10. देबोश्री चौधरी
11 थावरचंद गहलोत

वहीं कैबिनेट विस्तार से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोक कल्याण मार्ग पर बीजेपी सांसदों से मुलाकात हुई.

सुप्रियो ने फेसबुक पर दुख जताया

अपने इस्तीफे पर बाबुल सुप्रियो ने फेसबुक पर एक पोस्ट लिखा. इसमें उन्होंने लिखा,

हां, जब धुआं होता है तो कहीं आग जरूर लगी होती है. मैं मीडिया के मेरे उन दोस्तों के फोन कॉल नहीं ले पा रहा हूं जो मेरी परवाह करते हैं, इसलिए मैं इसे खुद बताता हूं. हां, मैंने मंत्रिपरिषद से इस्तीफा दे दिया है !!  मैं माननीय प्रधान मंत्री जी को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने मुझे अपने मंत्रिपरिषद के सदस्य के रूप में देश की सेवा करने का सौभाग्य दिया. मुझे बेहद खुशी है कि मैं आज बिना किसी भ्रष्टाचार के आरोपों के अपने निर्वाचन क्षेत्र की पूरी ताकत से सेवा कर रहा हूं. आसनसोल ने मुझे एक बार फिर से 2019 में ट्रिपल मार्जिन के साथ सांसद के रूप में वोट दिया.

मेरे उन सहयोगियों को मेरी शुभकामनाएं, जिनके नाम मैं नहीं बता सकता, लेकिन अब तक सभी जानते हैं जो बंगाल के माननीय मंत्री के रूप में शपथ लेंगे. मैं निश्चित रूप से अपने लिए दुखी हूं, लेकिन उनके लिए बहुत खुश हूं. उन सभी को अधिक शक्ति.

नई कैबिनेट में कौन कौन मंत्री?

  1. नारायण राणे
  2.  सर्बानंद सोनोवाल
  3. वीरेंद्र कुमार
  4. ज्योतिरादित्य सिंधिया
  5. रामचंद्र प्रसाद सिंह
  6. अश्विनी वैष्णव
  7. पशुपति कुमार पारस
  8. किरण रिजीजू
  9. राजकुमार सिंह
  10. हरदीप सिंह पुरी
  11. मनसुख मांडविया
  12. भूपेंद्र यादव
  13. पुरुषोत्तम रूपाला
  14. जी. किशन रेड्डी
  15. अनुराग ठाकुर
  16. पंकज चौधरी
  17. अनुप्रिया सिंह पटेल
  18. सत्यपाल सिंह बघेल
  19. राजीव चंद्रशेखर
  20. शोभा करंदलाजे
  21. भानुप्रताप सिंह वर्मा
  22. दर्शना विक्रम जारदोश
  23. मीनाक्षी लेखी
  24. अन्नपूर्णा देवी
  25. ए नारायणसामी
  26. कौशल किशोर
  27. अजट भट्ट
  28. एल. वर्मा
  29. अजय कुमार
  30. चौहान देवू सिंह
  31. भगवंत खूबा
  32. कपिल मोरेश्वर पाटिल
  33. प्रतिमा भौमिक
  34. सुभाष सरकार
  35. डॉ. भागवत किशनराव कराड
  36. डॉ. राजकुमार रंजन सिंह
  37. भारती प्रवीण पवार
  38. बिश्नेश्वर ताडू
  39. शांतनू ठाकुर
  40. मंजपारा महेंद्रभाई
  41. जॉन बारला
  42. एल. मुरुगन
  43. निशीष प्रमाणिक.

2019 के बाद पहला बड़ा कैबिनेट फेरबदल

इंडिया टुडे के हिमांशु मिश्रा की रिपोर्ट के मुताबिक, 2019 की जीत के बाद यह मोदी सरकार का पहला बड़ा कैबिनेट फेरबदल है. नई मंत्रिपरिषद में अल्पसंख्यकों और पिछड़ी जातियों को अधिक प्रतिनिधित्व देने का प्रयास हो सकता है है. चर्चा है कि नई परिषद में 5 अल्पसंख्यक मंत्री होंगे. इनमें 1 मुस्लिम, 1 सिख, 2 बौद्ध और 1 ईसाई हो सकते हैं. परिषद में 27 ओबीसी मंत्री को जगह मिल सकती है. इनमें से 5 को कैबिनेट रैंक मिलने की चर्चा है. 8 एसटी समुदाय के सदस्यों को मंत्रालय दिया जा सकता है, जिनमें से 3 कैबिनेट रैंक के होंगे. 12 अनुसूचित जाति समुदाय के सदस्यों को मंत्री पद मिल सकता है, जबकि 2 को कैबिनेट रैंक मिलने की संभावना जताई जा रही है.

ऐसी खबरें हैं कि मोदी सरकार में नई कैबिनेट में चार पूर्व सीएम हो सकते हैं. पूर्व मंत्रियों की संख्या 18 तक पहुंच सकती है. इसके अलावा 39 पूर्व विधायक और 23 सांसद भी हो सकते हैं. मोदी सरकार के इस कैबिनेट विस्तार में 11 महिलाओं को भी जगह मिलने की उम्मीद है. इनमें से दो महिलाओं को कैबिनेट रैंक दी जा सकती है.ॉ

इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैबिनेट पुनर्गठन से पहले वित्त मंत्रालय के दायरे का विस्तार किया है. सरकार के विभिन्न अंगों के बीच समन्वय में आसानी को बढ़ावा देने के लिए सार्वजनिक उद्यम विभाग (डीपीई) को भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्रालय से वित्त मंत्रालय के अधीन लाया गया है.


सोशल लिस्ट: मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में बदलाव के पहले क्या बातें चलीं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अनिल देशमुख को फंसा देगा वो काग़ज़, जिसके लिए मुंबई पुलिस ने CBI तक को धमका दिया?

अनिल देशमुख को फंसा देगा वो काग़ज़, जिसके लिए मुंबई पुलिस ने CBI तक को धमका दिया?

क्या ये काग़ज़ CBI के हत्थे लगने से अनिल देशमुख की हालत ख़राब हो जाएगी?

'CID', 'जोधा अकबर' जैसे टीवी शोज़ में काम कर चुके एक्टर को डायबिटीज़ के चलते पैर कटवाना पड़ा

'CID', 'जोधा अकबर' जैसे टीवी शोज़ में काम कर चुके एक्टर को डायबिटीज़ के चलते पैर कटवाना पड़ा

लोकेंद्र सिंह राजावत रणबीर कपूर के साथ 'जग्गा जासूस' में भी नज़र आ चुके हैं.

मुहर्रम को लेकर यूपी पुलिस के 'गोपनीय' सर्कुलर में क्या है, जिस पर मुस्लिम धर्मगुरुओं की सख्त आपत्ति है?

मुहर्रम को लेकर यूपी पुलिस के 'गोपनीय' सर्कुलर में क्या है, जिस पर मुस्लिम धर्मगुरुओं की सख्त आपत्ति है?

यूपी पुलिस का कहना है कि उसके सर्कुलर में कुछ भी नया नहीं है.

7 लाख का इनामी गैंगस्टर काला जठेड़ी यूपी के सहारनपुर से गिरफ्तार

7 लाख का इनामी गैंगस्टर काला जठेड़ी यूपी के सहारनपुर से गिरफ्तार

साथी अनुराधा उर्फ मैडम मिंज भी गिरफ्तार.

संसद में हंगामे का नतीजा, लोकसभा में इन 5 चर्चित विधेयकों को पारित होने में एक घंटा भी नहीं लगा

संसद में हंगामे का नतीजा, लोकसभा में इन 5 चर्चित विधेयकों को पारित होने में एक घंटा भी नहीं लगा

राज्यसभा का हाल भी जान लीजिए.

धनबाद: चोरी के ऑटो से मारी थी जज को टक्कर; हादसा नहीं, हत्या है?

धनबाद: चोरी के ऑटो से मारी थी जज को टक्कर; हादसा नहीं, हत्या है?

CCTV फुटेज ने दिखाई असलियत.

चर्चित हत्याकांड की सुनवाई कर रहे जज की टेम्पो से टक्कर के बाद मौत, वीडियो ने खड़े किए सवाल

चर्चित हत्याकांड की सुनवाई कर रहे जज की टेम्पो से टक्कर के बाद मौत, वीडियो ने खड़े किए सवाल

घटना झारखंड के धनबाद की है.

बिहार के इस IAS से लोगों को इतना प्यार कि ट्रांसफर रोकने के लिए ट्विटर पर मुहिम चला दी

बिहार के इस IAS से लोगों को इतना प्यार कि ट्रांसफर रोकने के लिए ट्विटर पर मुहिम चला दी

अपने पूरे करियर में IAS रंजीत सिंह ने सराहनीय काम किए हैं.

कौन हैं बसवराज बोम्मई, जिन्हें कर्नाटक का नया सीएम बनाया गया है?

कौन हैं बसवराज बोम्मई, जिन्हें कर्नाटक का नया सीएम बनाया गया है?

27 जुलाई को बीजेपी विधायक दल की बैठक में बसवराज बोम्मई के नाम पर मुहर लग गई.

छत्तीसगढ़ कांग्रेस के विधायकों का यह झगड़ा भूपेश बघेल सरकार के लिए संकट बनेगा?

छत्तीसगढ़ कांग्रेस के विधायकों का यह झगड़ा भूपेश बघेल सरकार के लिए संकट बनेगा?

भाजपा को भूपेश बघेल सरकार पर निशाना साधने का बढ़िया मौका मिल गया है.