Submit your post

Follow Us

लखनऊ: अप्रैल में कोविड से 672 की मौत, 2327 डेथ सर्टिफिकेट उठा रहे दावों पर सवाल

पूरा देश कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से जूझ रहा है. सरकारी आंकड़ा कहता है कि देश में अभी तक (18 मई सुबह 8 बजे तक) 2 लाख 74 हजार 390 लोगों की मौत हुई है. बात यूपी की करें, तो अभी तक 17 हजार 817 लोगों की मौत इस वायरस के कारण हुई है. लेकिन इन आंकडों पर विपक्ष सवाल उठा रहा है. लखनऊ से लेकर वाराणसी तक, सरकारी आंकड़ों और मृत्यु प्रमाण पत्रों की संख्या में बड़ा फर्क है.

हर ओर बर्बादी का सा मंज़र

पश्चिमी यूपी से लेकर रुहेलखंड तक, अवध के इलाके से लेकर पूर्वांचल तक और बुंदेलखंड से लेकर ब्रज के इलाके तक, हर कहीं केवल कोरोना की ही चर्चा है. हर गांव से, हर कस्बे से, हर शहर से जो तस्वीरें आ रही हैं वो इस बीमारी की भयावहता को दिखा रही हैं. उन्नाव में लाशों को नदी किनारे दबा देने की खबरें हों या फिर लखनऊ के श्मशानों में लगी लाइनों की खबरें, हमीरपुर में नदी में बहती लाशों की खबरें हों या फिर गाजीपुर और बलिया में गंगा में मिली लाशों की खबरें, ये तमाम खबरें आंकडों पर सवाल खड़ी करती हैं.

Lucknow4
तस्वीर लखनऊ के श्मशान की है. फोटो- आजतक

मृत्यु प्रमाण पत्रों की संख्या पर उठ रहा सवाल

आजतक की एक रिपोर्ट के मुताबिक मार्च के महीने में, लखनऊ में कोविड के कारण 540 लोगों की जान गई. जबकि लखनऊ नगर निगम ने मार्च के महीने में 2422 डेथ सर्टिफिकेट बनाए.

अप्रैल में इस बीमारी से लखनऊ में 672 लोगों की मौत हुई, वहीं इसी दौरान लखनऊ नगर निगम ने 2327 डेथ सर्टिफिकेट जारी किए.

कोविड के कारण वाराणसी में मार्च में 17 और अप्रैल में 176 लोगों की मौत हुई. जबकि वाराणसी नगर निगम ने मार्च में 739 और अप्रैल में 887 मृत्यु प्रमाणपत्र बनाए. और 16 मई तक 1265 डेथ सर्टिफिकेट बनाए गए हैं.

अप्रैल के महीने में देवरिया में कोरोना से 162 लोगों की मौत हुई है. जबकि अप्रैल में ही यहां 653 मृत्यु प्रमाणपत्र बनाए गए और मई के महीने में 9 तारीख तक 300 प्रमाणपत्र बनाए जा चुके थे.

march and april
लखनऊ में मार्च और अप्रैल की स्थिति कुछ ऐसी रही.

इतने बड़े फर्क के पीछे क्या कारण है?

आजतक ने अपनी इस रिपोर्ट में कहा है कि कोई अधिकारी कैमरे पर कुछ कहने को तैयार नहीं है, लेकिन ऑफ द रिकॉर्ड कुछ जिम्मेदार अधिकारियों ने कहा कि ऐसा इसलिए भी हो सकता है कि लोग पुराने प्रमाणपत्र लेने के लिए पहुंचे हों और ये आंकडे अलग-अलग महीनों के हो सकते हैं. वहीं कोविड के अलावा अन्य बीमारियों से और दुर्घटनाओं आदि से मरने वालों की संख्या के चलते ये फर्क देखने को मिल रहा है.

लखनऊ नगर निगम की मेयर संयुक्ता भाटिया ने ‘दी लल्लनटॉप’ से बातचीत में कहा,

“आंकडों को लेकर तमाम तरह की खबरें प्रकाशित हो रही हैं. पारदर्शिता के लिए शासन की ओर से एक कमेटी बनाने का निर्देश आया था. हमने इस पर एक कमेटी बनाई है. संभवत: कल तक सारी स्थिति साफ हो जाएगी कि आंकडों में कोई फर्क है कि नहीं, और है तो कितना है. रिपोर्ट के बाद ही मैं इस पर चर्चा कर पाऊंगी. इतना जरूर कहा जा सकता है कि कोविड के अलावा अन्य बीमारियों आदि के कारण भी मौतें हुई हैं, प्राकृतिक मौतें भी हैं. इस बात को भी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए.”


वीडियो- गांव में कोरोना की सच्चाई ऐसे छिपाते रहे तो तीसरी लहर आने में देर नहीं लगेगी!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

रैशफर्ड ने माफी मांगी तो माइकल वॉन और एबीडी ने क्या कहा?

रैशफर्ड ने माफी मांगी तो माइकल वॉन और एबीडी ने क्या कहा?

इंग्लैंड के 'ब्लैक' खिलाड़ियों को आलोचना झेलनी पड़ रही है.

भारत की पहली कोविड-19 पेशंट दूसरी बार कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई

भारत की पहली कोविड-19 पेशंट दूसरी बार कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई

इससे पहले 30 जनवरी 2020 को इस मरीज में कोरोना वायरस होने की पुष्टि हुई थी.

केंद्र सरकार के कर्मचारियों को कोरोना को लेकर बड़ी राहत!

केंद्र सरकार के कर्मचारियों को कोरोना को लेकर बड़ी राहत!

कोरोना होने पर छुट्टियां और WFH को लेकर नए नियम में क्या है?

उत्तर प्रदेश: खाली शिक्षक पदों को भरने की मांग कर रहे अभ्यर्थियों को मिल रही मुकदमे की धमकी

उत्तर प्रदेश: खाली शिक्षक पदों को भरने की मांग कर रहे अभ्यर्थियों को मिल रही मुकदमे की धमकी

प्राथमिक शिक्षक भर्ती की मांग को लेकर 22 जून से लखनऊ में प्रदर्शन कर रहे हैं अभ्यर्थी.

सौरभ गांगुली की बायोपिक बन रही है, उसका बजट जानते हो?

सौरभ गांगुली की बायोपिक बन रही है, उसका बजट जानते हो?

पहले चर्चा थी कि ऋतिक रौशन गांगुली का रोल कर सकते हैं, मगर गेम बदल गया!

बिजली चोरी का सबूत मिटाते इन साहब का वीडियो देख आप हंसी नहीं रोक पाएंगे

बिजली चोरी का सबूत मिटाते इन साहब का वीडियो देख आप हंसी नहीं रोक पाएंगे

लाइनमैन ने सही टाइम पर 'धप्पा' कर दिया.

शोएब अख्तर को क्यों मुरली को आउट करना सबसे मुश्किल लगता था?

शोएब अख्तर को क्यों मुरली को आउट करना सबसे मुश्किल लगता था?

IPL या PSL में कौन सा टूर्नामेंट बेहतर ये भी बताया.

गेल के वर्ल्ड रिकॉर्ड से ऑस्ट्रेलिया के साथ बहुत बुरा हो गया!

गेल के वर्ल्ड रिकॉर्ड से ऑस्ट्रेलिया के साथ बहुत बुरा हो गया!

क्रिस गेल मैदान पर उतरें और रिकॉर्ड ना बने मुश्किल है.

शराब के नाम पर शबाना आज़मी को ठगने वालों के बारे में पता चल गया

शराब के नाम पर शबाना आज़मी को ठगने वालों के बारे में पता चल गया

महाराष्ट्र साइबर क्राइम सेल ने शबाना आज़मी के नाम पर राज्यभर के लोगों की मदद कर दी है.

भारत की सीमा में फिर घुसे चीन के सैनिक, जानें क्यों की ये हरकत

भारत की सीमा में फिर घुसे चीन के सैनिक, जानें क्यों की ये हरकत

क्या पीएम मोदी के ट्वीट से इसका कोई लेना-देना है?