Submit your post

Follow Us

मनोज तिवारी बोले - कम उम्र में मां को खोने पर भी सुशांत ने आत्महत्या नहीं की, अब कैसे कर ली?

सुशांत सिंह राजपूत. 14 जून को उन्होंने आत्महत्या कर ली थी. उनकी मौत के बाद से ही सोशल मीडिया पर कई तरह की बातें हो रही हैं. लोग नेपोटिज्म यानी भाई-भतीजावाद की बात कर रहे हैं. स्टार किड्स को अनफॉलो करने को कह रहे हैं. इसी सब के बीच बीजेपी सांसद और भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता मनोज तिवारी ने महाराष्ट्र सरकार से सुशांत के मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की है. मनोज तिवारी ने सोमवार,  21 जून को पटना पहुंचकर सुशांत सिंह राजपूत के परिवार से मुलाकात की.

मनोज तिवारी ने सीबीआई जांच को लेकर क्या कहा?

बीजेपी सांसद ने मांग की है कि सुशांत सिंह राजपूत की किन परिस्थितियों में मौत हुई है इसकी उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए. आजतक से बातचीत में मनोज तिवारी ने कहा,

जब भी किसी छोटे शहर का लड़का बॉलीवुड में जाता है तो उसके लिए वहां पर काफी विपरीत स्थिति होती है. ऐसे में अगर आप अपने काम के जरिए खुद को स्थापित करने लगते हैं तो काफी सारी शक्तियां आपको रोकने में लग जाती है. अपनी मां को कम उम्र में खो देने के बावजूद भी सुशांत विचलित नहीं हुआ. मगर बड़ा सवाल यह है कि अब ऐसा क्या हुआ था कि वह विचलित हो गया था.

बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद की तरफ इशारा करते हुए मनोज तिवारी ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत भी इसी का शिकार हुए हैं. और इसकी सीबीआई जांच की जानी चाहिए. उन्होंने कहा,

सुशांत के मामले में भाई भतीजावाद पर जो आरोप लग रहे हैं उसकी तह तक जाकर जांच होनी चाहिए. जो भी इस मामले में दोषी है उनको सजा मिलनी चाहिए. परिवारवाले सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं और मैं चाहता हूं कि महाराष्ट्र सरकार को भी मामले की जांच सीबीआई को सौंप देनी चाहिए.

बीते दिनों भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता खेसारी लाल यादव, अभिनेत्री अक्षरा सिंह, केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी, जाप अध्यक्ष पप्पू यादव भी ने भी सुशांत सिंह राजपूत के परिजनों से मुलाकात की थी.


 

वीडियो देखें: सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद सलमान खान ने फैन्स से क्या कहा है?

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गलवान घाटी में भारत से लड़ाई पर चीन के लोग किस-किस तरह के सवाल उठा रहे हैं?

चीनी टि्वटर 'वीबो' पर कई पोस्ट लिखी गई हैं.

Exclusive: गलवान घाटी में 15 जून को तीन बार हुई लड़ाई में क्या-क्या हुआ था, विस्तार से जानिए

तीसरी लड़ाई के बाद भारत ने 16 चीनी सैनिकों के शव सौंपे थे.

राज्यसभा की 18 सीटों में से कांग्रेस और बीजेपी ने कितनी जीतीं?

एक और पार्टी है जिसने कांग्रेस जितनी सीटें जीती हैं.

दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ऑक्सीजन सपोर्ट पर, दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किए गए

कुछ दिन पहले कोरोना पॉज़िटिव आए थे, अब प्लाज़मा थेरेपी दी जाएगी.

चीनी सेना की यूनिट 61398, जिससे पूरी दुनिया के डेटाबाज़ डरते हैं

बड़ी चालाकी से काम करती है ये यूनिट.

गलवान घाटी में झड़प के बाद भी चीनी सेना मौजूद, 200 से ज्यादा ट्रक और टेंट लगाए

सैटेलाइट से ली गई तस्वीरों में यह सामने आया है.

पेट्रोल-डीजल के दाम में फिर से उबाल क्यों आ रहा है?

रोजाना इनके दाम घटने-बढ़ने की पूरी कहानी.

उत्तर प्रदेश में एक IPS अधिकारी के ट्रांसफर पर क्यों तहलका मचा हुआ है?

69000 भर्ती में कार्रवाई का नतीजा ट्रांसफर बता रहे लोग. मगर बात कुछ और भी है.

गलवान घाटी: LAC पर भारत के तीन नहीं, 20 जवान शहीद हुए हैं, कई चीनी सैनिक भी मारे गए

लड़ाई में हमारे एक के मुकाबले तीन थे चीनी सैनिक.

गलवान घाटीः वो जगह जहां भारत-चीन के बीच झड़प हुई

पिछले कुछ समय से यहां पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं.