Submit your post

Follow Us

मज़दूरों की लाश की ऐसी बेक़द्री पर झारखंड के सीएम कसके गुस्साए हैं

उत्तर प्रदेश के ओरैया में 16 मई की रात हुए सड़क हादसे में 24 मज़दूरों की मौत हो गई थी. मृतकों में कई झारखंड के भी थे. ये शव उत्तर प्रदेश से झारखंड भेजे गए, लेकिन बड़ी बेक़द्री के साथ. शवों को काली पन्नी में लपेटकर, बर्फ़ की सिल्ली पर रखकर एक ट्रक में लाद दिया गया. इसी ट्रक में तमाम अन्य मज़दूर भी बैठा दिए गए, जो हादसे में घायल थे. सिल्ली से पानी रिस-रिसकर घायलों के पास तक पहुंच रहा था.

बात 17 मई की है. ट्रक की फोटो सामने आने पर सोशल मीडिया पर आलोचना भी शुरू हो गई. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी ट्वीट किया. लिखा –

“मज़दूरों के साथ हो रहे इस अमानवीय व्यवहार से यकीनन बचा जा सकता था. मैं यूपी सरकार और नीतीश कुमार जी से निवेदन करता हूं कि उचित ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था कर इन शवों को झारखंड सीमा तक पहुंचा दें. यहां से हम मज़दूरों के शव को सम्मान के साथ उनके घर पहुंचा देंगे.”

सोरेन का ट्वीट आने के बाद यूपी से चले ट्रक को प्रयागराज में ही रोक दिया गया और शवों को एंबुलेंस में शिफ्ट किया गया. कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी का कहना है कि ये आपराधिक काम है. जीवित लोगों को मृतकों के साथ यात्रा करने पर मजबूर किया गया है.

वहीं ओरैया के डीएम अभिषेक सिंह का कहना है कि वो सबसे पहले वायरल हो रही इन फोटो की जांच कराएंगे, फिर कुछ कहेंगे.


कोरोना सफ़र: बंगला साहिब गुरुद्वारा में प्रवासी मज़दूरों का खाना कैसे बनता है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

क्या अब कोरोना वायरस को लेकर प्रेस के सामने आने से बच रहा है स्वास्थ्य मंत्रालय?

आठ दिन से नहीं हुई प्रेस ब्रीफिंग.

बोनी कपूर के घर पर काम करने वाले चरण साहू कोरोना संक्रमित पाए गए

16 मई को उनकी तबीयत खराब हुई थी.

अनुराग कश्यप नई फिल्म ले आए हैं, इस बार क्या खास है उनके पिटारे में?

नेटफ्लिक्स पर 5 जून को रिलीज़ होगी चोक्डः पैसा बोलता है.

किसकी वजह से पेस बोलिंग को इतने अच्छे से खेल पाती है टीम इंडिया

कैप्टन विराट कोहली ने बताया.

रणवीर सिंह की इस पेंटिंग की लोग तारीफ कर रहे हैं

क्वारंटीन काल में क्या कर रहे हैं रणवीर और दीपिका?

टिक-टॉक वाले मामले पर सोना महापात्रा ने सलमान खान को लपेट दिया

मामला अब तूल पकड़ रहा है.

पाकिस्तान के 'विराट कोहली' ने क्यों कहा- क्रिकेटर हूं गोरा नहीं?

कोहली से अपनी तुलना पर भी बोले बाबर आज़म.

MP: दद्दा जी के अंतिम संस्कार में टूटे सोशल डिस्टेंसिंग के नियम, नेता, एक्टर्स समेत हजारों शामिल हुए

अंतिम संस्कार को लेकर क्या है MHA की गाइडलाइन?

इधर-उधर जाने के लिए ई-पास कैसे बनवाएं? सरकार ने रास्ता सुझाया है

बहुत सारी झंझटें एक बार में खत्म हो जाएंगी.

सरकार ने लॉकडाउन में ऐसा नियम बदला कि अब काटी जा सकेगी आपकी सैलरी

पहले लॉकडाउन से चौथे तक आते-आते ऐसा क्या हुआ कि सरकार को फैसला बदलना पड़ा?