Submit your post

Follow Us

पंत की बैटिंग पर इशांत शर्मा ने कहा, 'उसको पता ही नहीं होता वो किधर मार रहा है'

लॉकडाउन के बीच लाइव चैट के जरिए क्रिकेटर इशांत शर्मा ने अपने फैन्स से बात की. दिल्ली कैपिटल्स के पेज से इशांत वीडियो चैट किया. इशांत ने इस बातचीत में ऋषभ पंत का ज़िक्र किया और बताया कि दिल्ली कैपिटल्स की टीम में उनके लिए बोलिंग करना सबसे मुश्किल है.

इशांत ने कहा कि पंत को लेकर नेट्स में अंदाज़ा लगाना बहुत मुश्किल है कि वो कब कहां गेंद को दे मारें. इशांत ने कहा,

”मैं सच कहूं तो नेट्स में किसी भी बल्लेबाज़ को गेंदबाज़ी करने में दिक्कत नहीं है, लेकिन ऋषभ पंत को करने में है. क्योंकि उसे भी नहीं पता होता कि वो किधर मार रहा है. वो सीधे आपके सिर पर भी दे मार सकता है.”

2016 से लगातार ऋषभ पंत दिल्ली कैपिटल्स टीम का हिस्सा हैं. उन्हें पहली बार ज़हीर खान की कप्तानी और राहुल द्रविड़ की मेंटरशिप में दिल्ली के लिए मौका मिला था. तबसे उनका प्रदर्शन आईपीएल में इतना बढ़िया रहा है कि उन्हें दिल्ली की टीम ने फिर नहीं छोड़ा.

इशांत ने पंत के अलावा खुद की गेंदबाज़ी और फिटनेस पर भी बात की. उन्होंने बताया कि टेस्ट क्रिकेट में उनकी कामयाबी के पीछे कई लोगों का हाथ है. इशांत ने कहा,

”हर किसी को श्रेय लेना चाहिए. अगर आप 20 विकेट नहीं लेते हैं, तो आप टेस्ट मैच जीत सकते हैं. मुझे लगता है कि यह इंडियन बोलर्स के बीच एक हेल्थी कॉम्पटिशन है.”

इशांत ने विराट के साथ खेलने के बारे में भी जवाब दिया. उन्होंने कहा कि

”हम दोनों अंडर-19 के दिनों से साथ खेल रहे हैं. हमारे बीच अलग तरह की दोस्ती और बॉन्डिंग है. हमारे एक कोच थे जो कि अंडर-17 के दिनों में हम सबका मज़ाक बनाते थे. उन्होंने ने ही विराट को चीकू बुलाना शुरू किया. इस वजह से उनका ये नाम पड़ गया.”

इशांत शर्मा इंडिया की शॉर्टर फॉर्मेट टीम का हिस्सा नहीं हैं. लेकिन वो लगातार आईपीएल खेल रहे हैं. पिछले लंबे वक्त से वो टेस्ट क्रिकेट में अहम गेंदबाज़ हैं.


अगर सुरेश रैना की ये बात सही है, तो टीम इंडिया में धोनी को वापसी करने से कोई नहीं रोक पाएगा 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

20 अप्रैल से कौन-कौन से लोग अपना काम-धंधा शुरू कर सकते हैं?

और खाने-पीने के सामान को लेकर सरकार ने क्या कहा?

लॉकडाउन के बीच ज़रूरी सामान भेजना है? बस एक कॉल पर हो जाएगा काम

रेलवे अधिकारियों ने शुरू की है 'सेतु' सर्विस.

सड़क पर मजदूरों संग खाना खाने वाले अर्थशास्त्री ने सरकार को कमाल का फॉर्मूला सुझाया है

कोरोना और लॉकडाउन ने मजदूर को कहीं का नहीं छोड़ा.

सरकार की नई गाइडलाइंस, जानिए किन इलाकों में, किन लोगों को लॉकडाउन से छूट

कोरोना से निपटने के लिए लॉकडाउन पहले ही बढ़ाया जा चुका है.

टेस्टिंग किट की बात पर राहुल गांधी ने भारत की तुलना किन देशों से की?

कहा, 'हम पूरे खेल में कहीं नहीं हैं.'

चीन से भारत के लिए चली टेस्टिंग किट की खेप अमरीका निकल गयी!

और अभी तक भारत में नहीं शुरू हो पाई मास टेस्टिंग.

कोरोना: मरीजों की खातिर बेड और लैब के लिए कितना तैयार है भारत, PM मोदी ने बताया

लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा पीएम ने क्या-क्या कहा?

15 अप्रैल को लॉकडाउन-2 की जो गाइडलाइंस आनी हैं, उनमें क्या-क्या हो सकता है

पूरे देश में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ चुका है.

सुप्रीम कोर्ट ने बता दिया है कि किन लोगों का कोरोना वायरस टेस्ट फ्री में होगा

प्राइवेट लैब भी नहीं ले सकेंगे इनसे पैसा.

PM CARES Fund पर लगातार उठ रहे सवाल, अब हिसाब-किताब की होगी जांच

वकील ने PM Cares फंड को रद्द करने की मांग की है.