Submit your post

Follow Us

BCCI एपेक्स काउंसिल मेंबर ने बताया, कब हो सकता है IPL

BCCI एपेक्स काउंसिल मेंबर अंशुमान गायकवाड़ का मानना है कि इस साल T20 वर्ल्ड कप हो पाना मुश्किल है. गायकवाड़ को लगता है कि इस साल वर्ल्ड कप के वक्त में IPL का आयोजन हो सकता है. हालांकि यह भारत में COVID-19 के हालात पर निर्भर करेगा.

इंडियन क्रिकेट टीम के कोच रह चुके गायकवाड़ ने कहा कि क्रिकेटर्स को इस महामारी से उपजी अनिश्चितता से पार पाने के लिए अपनी पूरी मानसिक ताकत बटोरनी होगी. गायकवाड़ ने PTI/भाषा से कहा,

‘मुझे शक है कि T20 वर्ल्ड कप इस साल हो पाएगा. IPL की बात करूं, तो अभी हम इसके बारे में नहीं सोच सकते. यह भारत के हालात और विंडो की उपस्थिति पर निर्भर करेगा. इस साल विंडो सिर्फ अक्टूबर-नवंबर में है, जब T20 वर्ल्ड कप होना था. अगर वर्ल्ड कप रद्द होता है या टाला जाता है, तभी IPL का आयोजन हो पाएगा.’

गायकवाड़ को लगता है कि वायरस से निपटने के बाद का जीवन एकदम नया होगा और इसे अडॉप्ट करने के लिए प्लेयर्स को दिमागी तौर पर मजबूत होना पड़ेगा. उन्होंने कहा,

‘क्रिकेट पहले जैसा नहीं रह जाएगा, इस बार अप्रोच अलग होगा. स्टेडियम में फैंस नहीं होंगे. क्रिकेटर्स को खाली स्टेडियम में खेलने की आदत नहीं है. नए तरह की क्रिकेट खेलना बेहद मुश्किल होगा. क्रिकेट दोबारा शुरू होने में शायद दो से चार महीने और लगेंगे. यह कोई थ्योरी नहीं है कि आप इसे पढ़ और लिख लें. आपको परफॉर्म करना होगा और इसीलिए कुछ भी आसान नहीं होगा.’

भारत के लिए 40 टेस्ट और 15 वनडे खेलने वाले गायकवाड़ टीम के कोच भी रह चुके हैं. वह पहले 1997-99 और फिर सन 2000 में कुछ महीनों के लिए टीम इंडिया के कोच थे. अंशुमान के पिता दत्ता गायकवाड़ भी भारत के लिए टेस्ट मैच खेले थे.


वर्ल्ड कप 2019 में टीम इंडिया की हार के बाद विराट कोहली के बयान पर बेन स्टोक्स क्यों बरसे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब इस तारीख से देश के अंदर फ्लाइट्स से यात्रा कर सकेंगे

इससे पहले 200 नॉन एसी ट्रेन चलने की सूचना दी गई थी.

'अम्फान' आ चुका है, ये कहां से निकला और हमारी तैयारियां कैसी हैं?

ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में इसका साफ असर दिखने लगा है.

प्रियंका गांधी ने जो गाड़ियां यूपी भेजी हैं, उनमें कितनी बसें हैं, कितने ऑटो?

छह सूचियों में कुल 1049 गाड़ियों की डिटेल्स भेजी गई है.

देशभर में 200 और ट्रेनें चलने की तारीख़ आ गई है

इस बार ख़ुद रेल मंत्री ने बताया है.

लॉकडाउन 4: दफ़्तरों के लिए क्या गाइडलाइंस हैं?

इस लॉकडाउन में तमाम तरह की छूट दी गई हैं.

प्रियंका गांधी वाड्रा की 1000 बसों में कुछ नंबर ऑटो और कार के कैसे निकल गए?

हालांकि संबित पात्रा ने भी जिस बस को स्कूटर बताया, वहां एक पेच है.

मज़दूरों की लाश की ऐसी बेक़द्री पर झारखंड के सीएम कसके गुस्साए हैं

घायल मज़दूरों के साथ अमानवीय व्यवहार करने का आरोप.

कोरोना की वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर, जल्द ही आखिरी स्टेज का टेस्ट होने की उम्मीद

जुलाई के महीने को लेकर अहम बात भी कह डाली है.

केजरीवाल ने लॉकडाउन 4 में बहुत सारी छूट दे दी हैं

ऑड-ईवन आ गया, लेकिन ट्रांसपोर्ट में नहीं.

लॉकडाउन 4: पर्सनल गाड़ी से शहर या राज्य के बाहर जाने के क्या नियम हैं?

केंद्र सरकार ने इस पर क्या कहा है?