Submit your post

Follow Us

खुद को प्रशांत किशोर बताकर इस गैंग ने कांग्रेसी नेताओं को करोड़ों का फटका लगा दिया!

पंजाब में अगले साल के शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं. टिकटों को लेकर जोड़तोड़, पैरवी का खेल शुरू हो गया है. राज्य की सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी में भी खींचतान मची है. कुछ लोग इसी का फायदा उठाने की फिराक में जुट गए हैं. एक गैंग ऐसा भी है, जो चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर बनकर नेताओं को ठगने में लगा है. गैंग के लोग नेताओं को फोन करके प्रशांत किशोर की आवाज और अंदाज में बात करते हैं. फिर मनचाहे सर्वे से लेकर चुनावी टिकट दिलाने तक का वादा करके मोटी रकम मांगते हैं. यहां तक कि इस गैंग ने एक विधायक को भी नहीं बख्शा.

‘कांग्रेस नेताओं से पांच करोड़ की ठगी’

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, मंगलवार, 15 जून को लुधियाना में पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया. आरोप है कि ये लोग कांग्रेस के नेताओं को फोन करके सार्वजनिक रूप से मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की आलोचना करने के लिए कह रहे थे. जांच के दौरान पता चला कि पिछले महीने प्रशांत किशोर बनकर ठगने वाले एक गैंग का पता चला था. ये गैंग लुधियाना, बठिंडा, जालंधर, अमृतसर और संगरूर के कम से कम 30-40 कांग्रेसी नेताओं के संपर्क में था. पुलिस सूत्रों के हवाले से अखबार ने लिखा है कि गिरोह ने कांग्रेसी नेताओं से कम से कम पांच करोड़ रुपये ठगे हैं.

विधायक को ठगने चले तो पकड़े गए

गैंग के लोगों ने विधायक कुलदीप सिंह वैद को भी ठगने की कोशिश की. उनसे प्रशांत किशोर बनकर संपर्क किया गया. टिकट के लिए उनके पक्ष में सर्वे रिपोर्ट देने की बात कही. बदले में गिफ्ट की मांग की. इस पर विधायक को शक हुआ. उन्होंने पुलिस को खबर कर दी. पुलिस ने जाल बिछाया. 11 और 13 मई को जालंधर से दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तार लोगों की पहचान राकेश कुमार भसीन और रजत कुमार राजा के रूप में हुई. मुख्य आरोपी गौरव शर्मा को बाद में गिरफ्तार किया गया. ये सभी अमृतसर के रहने वाले हैं.

विधायक कुलदीप सिंह वैद का कहना है,

मैं प्रशांत किशोर से पहले मिल चुका था. हाल ही में वह चंडीगढ़ में भी विधायकों से मिले थे. लेकिन वो बहुरूपिया इतना आश्वस्त था कि एक पल के लिए तो मुझे लगा कि प्रशांत किशोर ही लाइन पर हैं. उस बहुरूपिये ने अपना होमवर्क अच्छे से किया था. वो मुझसे ऐसे बात कर रहा था, जैसे उसने वास्तव में मेरे निर्वाचन क्षेत्र का सर्वेक्षण किया हो. मुझे 4-5 दिनों में उसके कई फोन आए.

लेकिन फिर उसने मुझसे 10 लाख रुपये की मांग की. मेरे पक्ष में सर्वे रिपोर्ट जमा करने और मुझे टिकट मिले, ये सुनिश्चित कराने के लिए. इसके बाद मुझे यकीन हो गया कि यह प्रशांत किशोर नहीं हो सकते. मैंने पार्टी में अपने दोस्तों और पुलिस से बात की. मुझे बताया गया कि दमन थिंद बाजवा (2017 में कांग्रेस के उम्मीदवार) की ओर से भी संगरूर में शिकायत की गई थी. हम पुलिस के साथ जालंधर गए, और गिरोह को गिरफ्तार कर लिया गया.

दमन थिंद बाजवा ने पुलिस को बताया था कि जब धोखेबाज ने उन्हें सात लाख रुपये जमा करने के लिए कहा तो उन्हें भी शक हो गया था. इसी के बाद उन्होंने केस दर्ज कराया.

ठगे गए, पर शिकायत दर्ज नहीं कराई

ताजा मामले में लुधियाना के पुलिस आयुक्त राकेश अग्रवाल ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि लुधियाना में प्रशांत किशोर बनकर ठगने के मामले में में पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है. इंस्पेक्टर अमनदीप सिंह की शिकायत पर 420 (धोखाधड़ी) और आईटी अधिनियम की धारा 66-डी सहित कई धाराओं के तहत केस दर्ज हुआ है. एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने अखबार को बताया,

गौरव शर्मा एक जुआरी है. हर दिन लाखों का सट्टा लगाता है. उसके गिरोह ने प्रशांत किशोर को टीवी पर देख-देखकर उनके बोलने के अंदाज में महारत हासिल कर ली. इन लोगों ने न केवल पंजाब बल्कि बिहार, राजस्थान, हरियाणा और पश्चिम बंगाल के नेताओं को भी ठगा है. गिरोह के खिलाफ अन्य राज्यों में भी मामले दर्ज हैं. लेकिन पुलिस उन तक नहीं पहुंच पाई थी. जो लोग ठगे गए, उनमें से ज्यादातर अपनी पहचान उजागर नहीं होने देना चाहते, इसलिए उन्होंने केस भी दर्ज नहीं कराया.

पुलिस सूत्रों का कहना है कि पिछले विधानसभा चुनाव में भी गैंग ने इसी तरह कई नेताओं को निशाना बनाया था. इनके शिकारों में विधायक, एक पूर्व मेयर, उम्मीदवार सहित कई नेता शामिल थे.

बता दें कि 2017 के विधानसभा चुनाव में भी मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस पार्टी के लिए प्रशांत किशोर की सेवाएं ली थीं. वहीं इस साल मार्च में मुख्यमंत्री ने उन्हें अपना प्रमुख सलाहकार नियुक्त किया है. हालांकि प्रशांत किशोर ने पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद कहा था कि वह चुनाव प्रबंधन से ब्रेक लेना चाहते हैं. उन्होंने पश्चिम बंगाल में टीएमसी की जीत की रणनीति बनाने का भी काम किया था.


ममता बनर्जी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने TMC की जीत के बाद बड़ा ऐलान किया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

बहादुरगढ़ की घटना, पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है.

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

31 जुलाई से पहले फाइनल रिजल्ट जारी करने की जानकारी भी दी है.

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

नए नियम के बाद विवादों में कमी आएगी?

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

अख़बार का दावा, सरकारी जांच में हुआ ख़ुलासा

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

जानिए क्या है पूरा मामला?

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सेना के इतिहास से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक करने की पॉलिसी को मंजूरी

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब के अलावा बाकी चुनाव भी साथ लड़ने की घोषणा.

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

मुकुल रॉय को बराबर में बिठाकर ममता बनर्जी किन गद्दारों पर भड़कीं?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

पहले TV डिबेट में बोला, फिर फेसबुक पर पोस्ट लिखा.

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद शरीर से सिक्के-चम्मच चिपकने के दावों में कितना सच?

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद शरीर से सिक्के-चम्मच चिपकने के दावों में कितना सच?

क्या शरीर में वाकई चुंबकीय शक्ति पैदा हो जाती है?