Submit your post

Follow Us

हरिद्वार हेट स्पीच मामले में पहली गिरफ्तारी पर भड़के नरसिंहानंद, कहा- 'तुम सब मरोगे'

हरिद्वार धर्म संसद हेट स्पीच मामले में वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी की गिरफ्तारी हो चुकी है. रिजवी के ऊपर दो समुदायों के बीच दुश्मनी पैदा करने का आरोप है. हरिद्वार पुलिस ने रिजवी को 13 जनवरी को गिरफ्तार किया. इस बीच सोशल मीडिया पर इस मामले के एक दूसरे आरोपी यति नरसिंहानंद का वीडियो वायरल हुआ है. इस वीडियो में नरसिंहानंद, रिजवी की गिरफ्तारी का विरोध कर रहे हैं और पुलिस के लोग उनके सामने लाचार नजर आ रहे हैं. नरसिहानंद पुलिसवालों से यह भी कह रहे हैं कि ‘तुम सब मरोगे.’ पूरा वीडियो इस तरह से है-

नरसिंहानंदइन्हें (वसीम रिजवी उर्फ़ जितेंद्र नारायण त्यागी को) क्यों गिरफ्तार कर रहे हो आप?

पुलिस अधिकारीहमने बता दिया है. वो लीगल प्रोटोकॉल के तहत गिरफ्तारी करनी है, इनका तीन मुकदमों में नाम है.

नरसिंहानंदमैं तीनों में इनके साथ हूँ. क्या इन्होंने अकेले ऐसा किया?

पुलिस अधिकारीस्वामी जी, आप आइए तो. बाकी चीजें हो जाएंगी. हम आपको त्यागी जी के साथ नहीं आने को नहीं कह रहे हैं. आप साथ-साथ आ जाइए.

दूसरा पुलिस वालात्यागी जी समझिए प्लीज.

नरसिंहानंदत्यागी जी तो समझ रहे हैं..लेकिन मैं नहीं. वह हमारे भरोसे तो हिंदू बने हैं भाई…

पुलिस अधिकारीआप आइए.

नरसिंहानंदतुम सब मरोगे और अपने बच्चों को भी….

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गिरफ्तारी

इससे पहले गुरूवार 13 जनवरी खबर आई थी कि हरिद्वार हेट स्पीच मामले में वसीम रिजवी के साथ-साथ यति नरसिंहानंद को भी गिरफ्तार किया गया है. लेकिन, इस बारे में हरिद्वार पुलिस की तरफ से कुछ साफ नहीं किया गया. इस बीच सोशल मीडिया पर ये वीडियो तैरने लगा. आपको बतादें, वसीम रिजवी की गिरफ्तारी भी उत्तराखंड सरकार को सुप्रीम कोर्ट की तरफ से भेजे गए नोटिस के बाद हुई. इस पूरे मामले में नरसिंहानंद के खिलाफ भी गंभीर धाराओं में FIR दर्ज है.

यति नरसिंहानंद सबसे पहले पिछले साल गाजियाबाद के डासना देवी मंदिर मामले से चर्चा में आए थे. मंदिर में पानी पीने गए एक मुस्लिम बच्चे को पीटा गया था और नरसिंहानंद ने उसकी पिटाई को सही ठहराया था. इसके बाद नरसिंहानंद ने इस्लाम धर्म और मुस्लिम समुदाय के खिलाफ एक के बाद एक भड़काऊ बयानबाजी की. राजनीति में शामिल महिलाओं के साथ-साथ आम महिलाओं के चरित्र पर भी उन्होंने सवाल उठाए. इन तमाम मामलों में उनके खिलाफ FIR दर्ज हुई. हालांकि, अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई.

Waseem Rizvi और Yati Narsinghanand.
Waseem Rizvi और Yati Narsinghanand.

दूसरी तरफ, वसीम रिजी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी उत्तर प्रदेश के शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन हैं. बीते महीने उन्होंने धर्मांतरण की घोषणा की. इस्लाम धर्म के खिलाफ बयानबाजी करते हुए हिंदू धर्म अपनाने की बात कही. फिर हरिद्वार में हुए कार्यक्रम में कथित तौर पर भड़काऊ भाषण दिए. इस कार्यक्रम की अध्यक्षता नरसिंहानंद ने की थी.

कार्यक्रम में खुद को हिंदू धर्म का ठेकेदार बताने वाले तमाम लोग शामिल हुए. अपने नाम के पीछे संत और साध्वी लगाने वालों ने एक से एक जहरीले भाषण दिए. मरने-मारने की बात कीं. नरसंहार की अपील की और उसे जायज ठहराया. हिंदू समुदाय के लोगों से हथियार उठाने को कहा. आर्मी और पुलिस के लोगों से नरसंहार में शामिल होने के लिए कहा. पुलिस ने इस मामले में शुरूआत में तो कुछ नहीं किया. हालांकि, बाद में आलोचना होने पर FIR दर्ज की गई.

हरिद्वार के बाद एक ऐसा ही कार्यक्रम छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भी हुआ. इस कार्यक्रम में भी एक समुदाय विशेष के खिलाफ भड़काऊ बयानबाजी हुई. साथ ही साथ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के लिए अपशब्दों का प्रयोग किया गया और उनके हत्यारे नाथूराम गोडसे का महिमामंडन भी किया गया. ऐसा करने के आरोपी कालीचरण को छत्तीसगढ़ पुलिस ने मध्य प्रदेश से गिरफ्तार कर लिया.


वीडियो- यति नरसिंहानंद फिर विवादों में, कहा- ‘एक बेटा पैदा करने वाली औरत को मां ना मानें’

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

Bull Run कांड में सेबी का फैसला, एक ही परिवार के 6 लोगों पर लगा बैन.

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

कांग्रेस की पहली लिस्ट में 50 महिला उम्मीदवार शामिल हैं

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

तस्वीर गौर से देखेंगे तो समझ आ जाएगा, हम तो बता ही देंगे.

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

बीते 24 घंटों के भीतर यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है.

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने असल में क्या कहा है?

दिल्ली में प्राइवेट ऑफिस, रेस्टोरेंट और बार पूरी तरह बंद किए गए, छूट किसे मिली है ये जान लो

कोरोना के केस बढ़ने के बीच DDMA की नई गाइडलाइंस जारी.

यूपी में MSP कृषि लागत से ज्यादा नहीं तो BJP इसका ढोल क्यों पीट रही है?

यूपी में MSP की तारीफ़ का सच.

Nykaa का IPO अशनीर ग्रोवर और कोटक महिंद्रा के बीच जंग की वजह कैसे बन गया?

BharatPe के लीगल नोटिस और अशनीर ग्रोवर के 'गाली' वाले ऑडियो पर क्या बोला Kotak?

Xiaomi ने सरकार को कैसे लगा दिया 653 करोड़ का चूना?

Xiaomi भारत में सबसे ज्यादा मोबाइल बेचने वाली चीनी कंपनी है.

नरसिंहानंद का एक और घटिया बयान, 'जिसने एक बेटा पैदा किया, उस मां को औरत मत मानना'

नरसिंहानंद ने कहा, "मुसलमानों से हिंदुओं को मरवाओगे क्या?"