Submit your post

Follow Us

GoAir ने ग़लत आसिफ़ खान को नौकरी से निकाला तो उसे क्या-क्या झेलना पड़ा?

आसिफ़ खान ने सीता को लेकर ट्विटर पर भद्दी बातें लिखी थीं. आसिफ़ खान के ट्विटर प्रोफ़ाइल पर लिखा था कि वो एयरलाइन GoAir का कर्मचारी है. GoAir ने कार्रवाई की. बयान जारी किया. कहा कि कर्मचारी को नौकरी से निकाल दिया गया है. बहुत वाहवाही हुई. 

पढ़िए : सीता को लेकर भद्दी बातें लिखने वाले शख्स के साथ गोएयर ने क्या किया?

लेकिन इधर ट्विटर पर आपत्तिजनक पोस्ट लिखने वाले ने अपना ट्विटर अकाउंट बंद कर दिया. और दूसरी तरफ़ असली आसिफ़ खान फ़ेसबुक पर सामने आ गया. कहा कि उनका उस ट्विटर हैंडल या उस पोस्ट से कोई लेनादेना नहीं है. वो नहीं जानते कि किसने लिखा है.

अपनी पोस्ट में आसिफ़ खान ने लिखा,

“मुझे जान से मारने की धमकी दी जा रही है. गाली और नफ़रत से भरे मैसेज भेजे जा रहे हैं. मेरी मां और बहन को रेप करने की धमकी दी जा रही है. और ये सब बस इस वजह से हो रहा है कि मेरा नाम एक ऐसे आदमी से मिलता जुलता है, जिसने पवित्र हिंदू भगवानों का मज़ाक़ उड़ाया है.”

आसिफ खान ने बताया है,

“GoAir में मैं Trainee First Officer की पोस्ट पर काम कर रहा था. और ये नौकरी पाने के लिए छह साल मेहनत करनी पड़ी थी. दिसम्बर 2019 में ये नौकरी लगी थी. और सबकुछ एक कॉल से बिखर गया.”

उन्होंने बताया है,

“सीनियर अधिकारियों का फ़ोन आया. मैंने ट्विटर पर चेक किया तो GoAir का बहिष्कार करने का ट्रेंड चल रहा है. क्योंकि मेरे जैसे ही नाम के एक बंदे ने हिंदू भगवानों का मज़ाक़ उड़ाया है. और लिखा है कि वो विमान में केबिन क्रू की नौकरी करता है. लेकिन उस आसिफ़ खान की तस्वीर देखकर कोई साफ़ बता सकता है कि वो मैं नहीं हूं.”

आसिफ़ खान ने बताया है कि उनके फ़ेसबुक प्रोफ़ाइल से फ़ोटो निकालकर वीडियो बनाए गए हैं. और उन्हें चलाया जा रहा है. आसिफ़ बताते हैं कि उन्हें जैसे ही मामले की पूरी जानकारी हुई, वो तुरंत स्थानीय पुलिस स्टेशन पहुंचे. वहां शिकायत दर्ज कराई. साथ ही साइबर सेल में भी शिकायत दर्ज की. 

आसिफ़ खान ने दावा किया है कि उनका कोई आपराधिक रेकर्ड नहीं है. और उन्होंने फ़ेसबुक पोस्ट के साथ कम्प्लेन की कापी भी नत्थी कर दी है. उन्होंने GoAir से अपील की है कि मामले को थोड़ा संवेदनशीलता के साथ देखे. 

अब गेंद GoAir के पाले में. GoAir ने बोला कि ठीक है. टर्मिनेशन नहीं होगा. निलम्बित रहेंगे. सस्पेंड. चूंकि मामला साइबर सेल में लम्बित है, इसलिए कोई निर्णय आ जाने के बाद ही आगे का फ़ैसला लेंगे. 


कोरोना ट्रैकर :

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.

3740 श्रमिक ट्रेनों में से 40 प्रतिशत ट्रेनें लेट रहीं, रेलवे ने बताई वजह

औसतन एक श्रमिक ट्रेन 8 घंटे लेट हुई.

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.