Submit your post

Follow Us

बांद्रा में मजदूरों के इकट्ठा होने पर पुलिस ने शुरुआती जांच में क्या-क्या कहा?

14 अप्रैल को मुंबई के बांद्रा रेलवे स्टेशन पर भीड़ जमा हुई थी. मुंबई पुलिस की शुरुआती जांच में कहा गया है कि इनमें ज़्यादातर लोग आस-पास की झुग्गियों में रहने वाले थे. पुलिस के मुताबिक, सीसीटीवी फुटेज और ड्रोन कैमरा फुटेज दिखाते हैं कि ज़्यादातर लोग जो वहां इकट्ठा हुए, एक ही इलाके से थे. सड़क किनारे जमा लोगों को जब पुलिस ने तितर-बितर करने की कोशिश की, तो झुग्गियों की तरफ लौट गए.

पुलिस का कहना है कि इस घटना के पीछे शुरुआती कारण सोशल मीडिया पर फैली एक फेक न्यूज़ है कि मजदूरों के लिए स्पेशल ट्रेन चलने वाली है. पुलिस ने बताया कि अधिकारियों और NGO की तरफ से इन लोगों को खाना दिया गया. खिचड़ी, पुलाव या दाल चावल जैसी चीज़ें बड़ी मात्रा में बनाई जा रही हैं और बॉक्स में इनको बांटा जा रहा है.

‘इंडिया टुडे’ के मुताबिक, जांच से जुड़े एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया,

हमें कई सूत्रों से पता चला कि हज़ारों की संख्या में मजदूरों को पैकेट में खाना मिल रहा है. पुलाव और खिचड़ी. लेकिन वो चावल की जगह रोटी और चपाती चाहते थे. वो कच्चे अनाज की भी मांग कर रहे थे, लेकिन उन्हें मिला नहीं. इसके बाद वो लगातार अपने परिवारों के संपर्क में थे. परिवारवालों ने उनसे जल्द से जल्द लौटने को कहा. इसके बाद अफरा-तफरी मच गई. उन्होंने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया, ये सोचकर कि इससे सरकार पर दबाव बनेगा और कुछ ट्रेनें चलाई जा सकती हैं.

प्रोटेस्ट से जुड़े एक वीडियो की जांच

पुलिस का कहना है कि एक दूसरे ऐंगल से भी जांच की जा रही है, जिसमें एक वायरल वीडियो में कुछ लोग कथित तौर पर प्रोटेस्ट के लिए पैसे देने की बात कह रहे हैं. दो या तीन लोगों की पहचान बाकी है. मुंबई पुलिस इसमें दिख रहे लोगों की पहचान के लिए स्थानीय लोगों से बात कर रही है.

30 से ज़्यादा सोशल मीडिया अकाउंट पर नज़र

पुलिस ने कहा कि लगता नहीं कि प्रोटेस्ट करने के लिए कोई राजनीतिक हस्तक्षेप किया गया है, लेकिन हर संभव ऐंगल की जांच की जा रही है. क्राइम ब्रांच की टीमें भी ग्राउंड इंटेलिजेंस के साथ मिलकर काम कर रही हैं, ताकि उन लोगों को पकड़ा जा सके, जिन पर लोगों को उकसाने का आरोप है. राज्य के गृह मंत्रालय की साइबर यूनिट ने 30 से ज़्यादा सोशल मीडिया अकाउंट्स की पहचान की है, जिन पर ग़लत और भ्रामक सूचनाएं फैलाई गईं. मामले में एक मराठी चैनल पर भी नज़र है. आरोप है कि चैनल पर स्पेशल ट्रेन चलाने की ग़लत सूचना चलाई गई है. ये ख़बर देने वाले रिपोर्टर को गिरफ्तार भी किया गया है.

विनय दुबे और रिपोर्टर को गिरफ्तार किया गया

इसके अलावा आरोपी विनय दुबे को भी गिरफ्तार किया गया है. बांद्रा पुलिस और उसकी फेसबुक प्रोफाइल और यूट्यूब वीडियो को चिह्नित किया गया है. इस शख्स फेसबुक पर पिछले कई दिनों से महाराष्ट्र के अलग-अलग इलाकों से 40 बसें चलवाने की बात कह रहा था, ताकि मजदूरों को उत्तर भारत के राज्यों में ले जाया जा सके. नवी मुंबई से उसे गिरफ्तार कर मुलुंड पुलिस थाने के हवाले कर दिया. इसके बाद उसे बांद्रा पुलिस को सौंपा गया. वो 21 अप्रैल तक पुलिस रिमांड में रहेगा. इसके अलावा बांद्रा पुलिस रिपोर्टर समेत 10 लोगों को बांद्रा कोर्ट में पेश करने वाली है.


मुंबई पुलिस ने बांद्रा मामले में जिस विनय दुबे को पकड़ा, उसने मोदी सरकार को क्या चैलेंज दिया था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?

किस बात पर पंजाब में सनी देओल के 'सामाजिक बहिष्कार' की बात हो रही है?

किस बात पर पंजाब में सनी देओल के 'सामाजिक बहिष्कार' की बात हो रही है?

कुछ लोग कह रहे हैं कि अपने गांवों में घुसने नहीं देंगे.

एक्ट्रेस के यौन शोषण के इल्ज़ाम पर अनुराग कश्यप का जवाब आया है

एक्ट्रेस के यौन शोषण के इल्ज़ाम पर अनुराग कश्यप का जवाब आया है

पायल घोष ने आरोप लगाया है.