Submit your post

Follow Us

एबी डिविलियर्स का धमाका, बोले- मैंने वर्ल्डकप टीम में लेने की डिमांड नहीं की थी

5
शेयर्स

वर्ल्‍ड कप खेलना चाहते थे एबी डिविलियर्स, साउथ अफ्रीका ने टीम में नहीं लिया.

ये एक खबर आई थी वर्ल्‍ड कप के दौरान. साउथ अफ्रीकन टीम उस वक्त अच्छा परफॉर्म भी नहीं कर रही थी. तो कुछ लोगों ने कहा कि साउथ अफ्रीका को उनको लेना चाहिए. कुछ ने डिविलियर्स को कोसा कि वो रिटायरमेंट लेने के बाद अचानक से ऐसी मांग कैसे कर सकते हैं. तब डिविलियर्स शांत रहे. मगर अब उनका बयान आया है. जिस ईएसपीएन क्रिकइंफो ने इस खबर को ब्रेक किया है. उसे ही अब डिविलियर्स ने बताया कि उन्होंने खुद वर्ल्‍डकप स्कवॉड में शामिल किए जाने की डिमांड कभी नहीं की. उन्होंने कहा –

मई 2018 में जब मैंने रिटायरमेंट लिया था तो क्रिकेट साउथ अफ्रीका के एक बड़े अधिकारी ने मुझसे पूछा था कि क्या मैं वर्ल्‍डकप के लिए मौजूद रह सकता हूं. इस पर मैंने हां बोल दिया था. पर डु प्लेसी से उन्होंने वर्ल्‍डकप टीम में लिए जाने का प्रेशर नहीं बनाया.

एबी डिविलियर्स ने वर्ल्डकप टीम में आने की डिमांड पर सफाई दी है.
एबी डिविलियर्स ने वर्ल्डकप टीम में आने की डिमांड पर सफाई दी है.

डिविलियर्स ने इस बड़े अधिकारी का नाम नहीं बताया. ये भी बताया कि इस अधिकारी की पेशकश के कारण ही उन्होंने आईपीएल के दौरान ही एक कैजुअल चैट में डू प्लेसी से कहा था कि अगर जरूरत हो तो वो वर्ल्‍डकप के लिए मौजूद रह सकते हैं.

उन्होंने वर्ल्‍डकप टीम चुने जाने से दो दिन पहले बात पर भी अपना वर्जन रखा. बोले-

मैं और डू प्लेसी स्कूल टाइम से दोस्त हैं. टीम चुने जाने के दो दिन पहले मैंने डू प्लेसी से बात की. क्योंकि मैं आईपीएल में अच्छे फॉर्म में था तो मैंने डू प्लेसी को सिर्फ वो एक साल पहले वाली बात याद दिलाई कि अगर जरूरत हो तो वो वर्ल्डकप के लिए मौजूद रह सकते हैं. मैंने कोई डिमांड नहीं रखी. न ही मैंने कोई इस पर जोर दिया. मैंने जरूरी होने पर ही खेलने की पेशकश की.

डिविलियर्स ने ये बात पहले क्यों नहीं बोली. इस पर उन्होंने कहा कि वो नहीं चाहते थे कि जब साउथ अफ्रीकन टीम वर्ल्डकप खेल रही हो तब मैं कोई बयान दूं और कॉन्ट्रोवर्सी हो. जिससे टीम के खेल पर असर पड़े. मगर क्योंकि उनसे लगातार जवाब मांगा जा रहा था. कई लोग उनकी आलोचना कर रहे थे. ऐसे में उनको सामने आना पड़ा.

डिविलियर्स ने रिटायरमेंट पैसे के लिए लेने की बात भी नकारी.
डिविलियर्स ने रिटायरमेंट पैसे के लिए लेने की बात भी नकारी.

पैसे के लिए नहीं लिया रिटायरमेंट

डिविलियर्स बोले कि कुछ लोग कह रहे हैं कि मैंने ज्यादा पैसा कमाने के लिए रिटायरमेंट ले लिया जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है. मैं अपने परिवार और अपने दो छोटे बच्चों के साथ ज्यादा समय बिताना चाहता था, इसलिए मैंने रिटायरमेंट लिया. इसके लिए ही मैंने कई बड़े ऑफर्स भी ठुकराए.

उन्होंने ये भी साफ किया टीम में न चुने जाने के बाद ऐसा फ्रेम किया गया कि उन्होंने ये खबर लीक की. जबकि ऐसा कुछ नहीं है. न उन्होंने खबर लीक की, ना हि डू प्लेसी ने. ये किसी और का काम है जो कॉन्ट्रोवर्सी चाहता था. और वो उसे नहीं जानते. वो बोले- मेरे और डू प्लेसी में बिखराव की खबरें भी गलत हैं. हम हमेशा की तरह अच्छे दोस्त हैं. मैंने जो भी कहा और किया, बड़ी ईमानदारी से किया. मुझे कई लोगों ने स्वार्थी बताया. मगर मैं किसी से नाराज नहीं हूं. मैं हमेशा की तरह साउथ अफ्रीकन क्रिकेट को सपोर्ट करता रहूंगा.


लल्लनटॉप वीडियो देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Former South Africa captain AB de Villiers has revealed that he never demanded to be included in World Cup squad

टॉप खबर

मदरसे में मिला देसी कट्टा, जानिए क्या होता था

और अफवाहों पर बवाल हो गया

बच्चों के बलात्कार पर अब होगी फांसी, मोदी सरकार का फैसला

बहुत दिनों से बात चल रही थी, अब काम होगा!

भाजपा विधायक की बेटी ने दलित से शादी की तो बाप ने मरवाने के लिए गुंडे भेज दिए!

पति और पत्नी भागे-भागे वीडियो बना रहे हैं.

एक महीने से छात्र धरने पर हैं, किसी को परवाह नहीं

ये खबर हर स्टूडेंट को पढ़नी चाहिए.

बजट में सरकार ने अमीरों पर बंपर टैक्स लगाया

पेट्रोल-डीज़ल पर एक रुपया अतिरिक्त लेगी सरकार.

राहुल गांधी के पत्र की चार ख़ास बातें, तीसरी वाली में सारे देश की दिलचस्पी है

आज राहुल गांधी ने आखिरकार इस्तीफा दे ही दिया.

आकाश विजयवर्गीय पर मोदी बहुत नाराज़ हुए, उतना ही जितना साध्वी प्रज्ञा पर हुए थे!

"अफ़सोस! दिल से माफ़ नहीं कर पाएंगे."

नुसरत जहां के खिलाफ़ जिस फतवे पर बवाल मचा, वैसा फ़तवा जारी ही नहीं हुआ

निखिल से शादी के बाद सिन्दूर-साड़ी में संसद पहुंची थीं नुसरत

क्या ज़ायरा ने इस्लाम के लिए फ़िल्म लाइन छोड़ दी?

जिन चीज़ों से रील लाइफ में लड़कर सुपर स्टार बनीं, निजी ज़िंदगी में वो लड़ाई ही छोड़ दी है.

मायावती ने गठबंधन क्या तोड़ा, खुद की लुटिया ही डुबो ली है

गठबंधन तोड़कर अखिलेश और माया चवन्नी भर सीटें भी नहीं जीत रहे हैं.