Submit your post

Follow Us

कोरोना के इलाज में काम आने वाले ऑक्सीमीटर समेत 5 उपकरणों के दाम 20 जुलाई से होंगे कम

ऑक्सीमीटर, नेबुलाइजर और डिजिटल थर्मामीटर समेत कई ऐसे उपकरण हैं, जिनका कोरोना महामारी में खूब प्रयोग होता है. कोरोना की पहली और दूसरी लहर के दौरान इनकी बिक्री भी चरम पर थी. लेकिन ये चिकित्सा उपकरण इतने महंगे हैं कि कई गरीब और मध्यम वर्गीय परिवार मन मारकर रह गए. बीमारी से जूझते हुए भी इनके इस्तेमाल के लिए भटकते रहे. अब कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए बाजार में इन उपकरणों की मांग फिर से बढ़ रही है,  लेकिन इस बार राहत की बात ये है कि इन उपकरणों के दाम कम किए जा रहे हैं.

NPPA यानी राष्ट्रीय औषधि मूल्य निर्धारण प्राधिकरण. भारत में दवाओं की कीमत पर निगरानी रखने वाली रेग्यूलेटरी अथॉरिटी है. NPPA ने आदेश जारी किया है और पांच चिकित्सा उपकरण पर ड्रिस्ट्रीब्यूटर्स का मार्जिन घटा दिया है. ये पांच उपकरण हैं-  ऑक्सीमीटर, नेबुलाइजर, ग्लूकोमीटर, बीपी जांच मशीन और डिजिटल थर्मामीटर.

NPPA ने तय किया 70% मार्जिन

प्राधिकरण ने मंगलवार को एक ट्वीट करते हुए लिखा,

‘‘NPPA ने ऑक्सीमीटर, ग्लूकोमीटर, बीपी जांच मशीन, नेबुलाइजर और डिजिटल थर्मामीटर के मामले में व्यापार मार्जिन को युक्तिसंगत बनाने के लिये कदम उठाए हैं. वितरकों के स्तर पर मार्जिन को 70 प्रतिशत नियत कर दिया गया है.’’

आपको बता दें कि फिलहाल इन उपकरणों पर 709 प्रतिशत तक मार्जिन लगता है, लेकिन अब NPPA ने इसे 70 प्रतिशत पर फिक्स करने का फैसला किया है. NPPA ने ये आदेश औषधि कीमत नियंत्रण आदेश (DPCO) 2013 के पैरा 19 के तहत मिली शक्तियों का प्रयोग करते हुए जारी किया है. डीपीसीओ का पैरा 19 NPPA को उन दवाओं और चिकित्सा उपकरणों की कीमतों पर नियंत्रण रखने का अधिकार देता है, जो आवश्यक दवाओं की राष्ट्रीय सूची में दर्ज हों.

ये है कीमत का नया फॉर्मूला?

उपकरण का वितरक को पड़ा मूल्य + इस मूल्य का 70% + जीएसटी= MRP (अधिकतम खुदरा मूल्य).

इसे एक उदाहरण के माध्यम से समझते हैं. यदि एक ऑक्सीमीटर वितरक यानी डिस्ट्रीब्यूटर को 500 रुपये में पड़ता है तो नए नियम के हिसाब से उसकी बाजार कीमत 875 रुपये से अधिक नहीं की जा सकती. फिलहाल इन पांच उपकरणों की कीमतें बाजार में ज्यादा हैं, जिसे ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है. ये नियम 20 जुलाई 2021 से लेकर 31 जनवरी 2022 तक प्रभावी रहेगा. यह अवधि कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए तय की गई है.

Covid Test Pti 647x363
कोरोना की संभावित तीसरी लहर हेतु बड़ा फैसला

नियम नहीं माना तो लगेगा जुर्माना

NPPA ने बताया है कि इन पांच चिकित्सा उपकरणों पर मार्जिन का नया रूल लागू होने के बाद 20 जुलाई से घटी हुई कीमतें पूरे देश में लागू होंगी. नए आदेश के तहत कंपनियों को अपने उत्पादों पर दर्ज एमआरपी को नए मार्जिन के हिसाब से संशोधित करना होगा. ऐसा नहीं करने पर निर्माता कंपनियों पर अतिरिक्त कीमत का 100% जुर्माना लगाया जाएगा. इसके अलावा उन्हें ज्यादा चार्ज की गई राशि पर 15 फीसदी ब्याज भी चुकाना होगा. बता दें कि इससे पहले, जून महीने में केंद्र सरकार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स की बिक्री पर भी अधिकतम 70 फीसदी मार्जिन तय कर चुकी है.

(ये खबर हमारे यहाँ इंटर्नशिप कर रहे रौनक भैड़ा में लिखी है)


वीडियो- ऑक्सीमीटर के अलावा ये 5 सस्ती स्मार्टवॉच भी कोरोना मरीज़ों का ऑक्सीजन लेवल नाप सकती हैं!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

PM मोदी ने वाराणसी में जिस रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का उद्घाटन किया, वो है क्या?

PM मोदी ने वाराणसी में जिस रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का उद्घाटन किया, वो है क्या?

योगी सरकार के लिए क्या बोले PM?

कांवड़ यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई सख्ती, लेकिन यूपी सरकार पीछे हटने को तैयार नहीं?

कांवड़ यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई सख्ती, लेकिन यूपी सरकार पीछे हटने को तैयार नहीं?

योगी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री के बयान से तो कुछ ऐसा ही लग रहा.

पीएम मोदी के मंत्रिमंडल विस्तार में ऐसा क्या हुआ कि महाराष्ट्र बीजेपी में उथल-पुथल मच गई?

पीएम मोदी के मंत्रिमंडल विस्तार में ऐसा क्या हुआ कि महाराष्ट्र बीजेपी में उथल-पुथल मच गई?

क्या पंकजा मुंडे की नाराजगी महाराष्ट्र बीजेपी को भारी पड़ेगी?

पंजाबी सिंगर मनमीत सिंह का शव बरामद हुआ, भारी बारिश के बाद बह गए थे

पंजाबी सिंगर मनमीत सिंह का शव बरामद हुआ, भारी बारिश के बाद बह गए थे

एक नाला पार करते वक्त गिर गए थे मनमीत सिंह.

कोंगु नाडु: मोदी कैबिनेट का विस्तार तमिलनाडु के विभाजन से जुड़े इस पुराने मुद्दे को कैसे हवा दे गया?

कोंगु नाडु: मोदी कैबिनेट का विस्तार तमिलनाडु के विभाजन से जुड़े इस पुराने मुद्दे को कैसे हवा दे गया?

तमिल मीडिया के एक हिस्से में इसे लेकर काफी गर्मजोशी दिखाई जा रही है.

कोरोना की तीसरी लहर का सामना करने के लिए कितने तैयार हैं हम?

कोरोना की तीसरी लहर का सामना करने के लिए कितने तैयार हैं हम?

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों की बैठक में क्या बता दिया?

नेपाल की राष्ट्रपति ने क्या किया जो सुप्रीम कोर्ट को दखल देना पड़ गया?

नेपाल की राष्ट्रपति ने क्या किया जो सुप्रीम कोर्ट को दखल देना पड़ गया?

अब कौन बना है नेपाल का नया पीएम?

जनसंख्या नीति का समर्थन या विरोध करने से पहले ये खबर पढ़ लीजिए

जनसंख्या नीति का समर्थन या विरोध करने से पहले ये खबर पढ़ लीजिए

बढ़ती जनसंख्या की चिंता असम के CM हेमंत बिस्वा सर्मा को भी है और यूपी के CM योगी आदित्यनाथ को भी.

अफगानिस्तान में तालिबान के बनने-बिखरने और फिर से ताकतवर होने की पूरी कहानी

अफगानिस्तान में तालिबान के बनने-बिखरने और फिर से ताकतवर होने की पूरी कहानी

अफगानिस्तान में भारत ने 22 हज़ार करोड़ रुपए से ज़्यादा की रकम इन्वेस्ट की थी.

भाजपा समर्थकों पर लाठीचार्ज करने वाले थानेदार की विदाई में नाचे पुलिसवाले भी सस्पेंड

भाजपा समर्थकों पर लाठीचार्ज करने वाले थानेदार की विदाई में नाचे पुलिसवाले भी सस्पेंड

थानेदार को किया गया था लाइन हाजिर.