Submit your post

Follow Us

तो क्या वाकई 7 मई से घटने शुरू हो जाएंगे भारत में कोरोना केस?

भारत में कोरोना की दूसरी लहर का पीक 7 मई तक हो सकता है. ये मानना है सरकार के मैथमेटिकल मॉडलिंग एक्सपर्ट प्रोफेसर एम. विद्यासागर का. इंडिया टुडे टीवी से बात करते हुए उन्होंने कहा कि भारत में कोरोना के मामलों में इस हफ्ते से कमी होनी शुरू हो सकती है. हालांकि अलग-अलग राज्यों के लिए पीक टाइम अलग-अलग हो सकता है. लेकिन देश की बात करें तो अब मामले या तो चरम पर हैं या पीक के बेहद नजदीक हैं.

देश के हर कोने से कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं. कहीं दवाओं की कमी है तो कहीं एंबुलेंस की. कहीं ऑक्सीजन की कमी है तो कहीं अस्पतालों में बेड नहीं मिल रहे हैं. ऐसे में दुनिया के कई देश भारत की मदद के लिए आगे आए हैं. भारत के डॉक्टर और तमाम हेल्थवर्कर भी जान हथेली पर रखकर दिनरात काम में जुटे हैं. इस सबके बीच हर किसी के मन में यही सवाल है कि आखिर कोरोना के मामले कब से घटने शुरू होंगे. यानी कोरोना केसों का पीक कब आएगा. और अब विशेषज्ञ कह रहे हैं कि 7 मई से शायद कोरोना के केसों में कमी आना शुरू हो सकता है.

अपने इस आंकलन के पीछे नेशनल कोविड-19 सुपरमॉडल समिति के अध्यक्ष प्रोफेसर विद्यासागर तर्क भी देते हैं. उनका कहना है कि अगर हम 7 दिनों का औसत देखें, और रोजाना के डेटा का अध्ययन करें तो पता चलता कि नंबर ऊपर-नीचे हो रहे हैं. इस पूरे डेटा का अध्ययन करने के बाद ऐसा लगता है कि इस हफ्ते के अंत से कोरोना के केस कम होना शुरू हो जाएंगे.

बता दें कि प्रोफेसर विद्यासागर, डिपार्टमेंट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी को रिपोर्ट करते हैं. जून 2020 में सरकार ने ‘नेशनल सुपरमॉडल फॉर कोविड-19 प्रोग्रेशन’ नाम का एक प्रोजेक्ट शुरू किया था. इस प्रोजेक्ट के तहत वैज्ञानिकों को डेटा के आधार पर कोविड की स्थितियों का पूर्वानुमान लगाना होता है. इस समिति में IIT हैदराबाद समेत देश के कई प्रतिष्ठित संस्थानों के लोग जुड़े हुए हैं.

महाराष्ट्र में सबसे पहले कम होंगे केस

प्रोफेसर विद्यासागर ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर महाराष्ट्र से शुरू हुई थी, तो अब महाराष्ट्र में केस घटने शुरू होंगे. फिर जो प्रदेश महाराष्ट्र के नजदीक हैं, वहां केसों में कमी आएगी. इस तरह से हमें फिर देशभर में कोरोना के केसों में कमी देखने को मिलेगी. उन्होंने कहा कि पूरे भारत के लिहाज से इस हफ्ते पीक आ सकता है. अधिकतम अगले 10 से 15 दिनों में हर राज्य में कोरोना अपने सर्वोच्च स्तर को छू लेगा. उसके बाद नीचे उतरना शुरू हो जाएगा. केस कम होने लगेंगे.

प्रोफेसर विद्यासागर ने कहा कि आप कोरोना की पहली वेव के कर्व को देखें और फिर सेकेंड वेव के कर्व को देखें, तो कुछ अंदाजा लगाया जा सकता है. पहली वेव ने पीक पर पहुंचने में करीब साढे़ तीन महीने का वक्त लिया था, और फिर इसी रफ्तार से मामले कम भी हुए थे. यानी फर्स्ट वेव ने उतरने में भी करीब साढे़ तीन महीने का वक्त लिया था. दूसरी वेव की बात करें तो 1 अप्रैल को हमारे यहां 75 हजार केस थे, और एक महीने बाद ये तादाद बहुत बढ़ गई. उन्होंने कहा,

“हम उम्मीद कर रहे हैं कि कोरोना के केस तेजी से कम होंगे. मई के अंत तक रोजाना के करीब 1.2 लाख नए केस रह जाएंगे. लेकिन ये स्थिति जीरो नहीं होने वाली है. ये फिलहाल ऐसा नहीं होने जा रहा.”

सभी विशेषज्ञ इस पर सहमत नहीं?

प्रोफेसर विद्यासागर की बात से हालांकि कुछ एक्सपर्ट्स सहमत नहीं हैं. अशोका यूनिवर्सिटी के बायोलॉजी के प्रोफेसर गौतम मेनन मानते हैं कि कोरोना का पीक मई के दूसरे हफ्ते में होगा या फिर महीने के अंत तक होगा. उनके अलावा, अमेरिका की ब्राउन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के डीन डॉक्टर आशीष झा का मानना है कि जितनी तेजी से भारत में कोरोना केस बढ़े हैं, उतनी तेजी से कम नहीं होंगे. वह कहते हैं कि ये बात पॉलिसी पर निर्भर करती है. अगर सरकार-प्रशासन प्रभावी फैसले ले और उन पर अच्छे से अमल करे तो केसों की संख्या में तेजी से कमी दिख सकती है. यदि ऐसा नहीं होता तो कोरोना की रफ्तार थमने में महीनों भी लग सकते हैं.


वीडियो- दुनियादारी: कोरोना वैक्सीन से ‘हर्ड इम्युनिटी मिलने के दावे को झटका क्यों लगा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नरेंद्र गिरि कथित आत्महत्या: आरोपी आनंद गिरि को किस महंत ने 'हिस्ट्रीशीटर' कहा?

नरेंद्र गिरि कथित आत्महत्या: आरोपी आनंद गिरि को किस महंत ने 'हिस्ट्रीशीटर' कहा?

यूपी पुलिस ने आनंद गिरि को गिरफ्तार कर लिया है.

रूस की यूनिवर्सिटी में अंधाधुंध गोलीबारी, 8 की मौत, आरोपी की उम्र हैरान कर देगी

रूस की यूनिवर्सिटी में अंधाधुंध गोलीबारी, 8 की मौत, आरोपी की उम्र हैरान कर देगी

इस यूनिवर्सिटी में भारत के भी कई छात्र पढ़ते हैं.

डेढ़ महीने पहले राजनीति छोड़ने का ऐलान करने वाले बाबुल सुप्रियो ने TMC जॉइन की

डेढ़ महीने पहले राजनीति छोड़ने का ऐलान करने वाले बाबुल सुप्रियो ने TMC जॉइन की

केंद्रीय मंत्री पद से हटाए जाने के बाद भाजपा छोड़ी थी.

मनोज पाटिल सुसाइड अटेम्प्ट केस: साहिल खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, कहा नकली स्टेरॉयड्स का रैकेट

मनोज पाटिल सुसाइड अटेम्प्ट केस: साहिल खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, कहा नकली स्टेरॉयड्स का रैकेट

कहानी में एक और किरदार सामने आया है, राज फौजदार.

राजस्थान में अब सब-इंस्पेक्टर परीक्षा का पेपर लीक, वॉट्सऐप बना जरिया

राजस्थान में अब सब-इंस्पेक्टर परीक्षा का पेपर लीक, वॉट्सऐप बना जरिया

पुलिस ने बीकानेर, जयपुर, पाली और उदयपुर से 17 लोगों को गिरफ्तार किया है.

क्या पाकिस्तान यूपी चुनाव में आतंकी हमले कराने की तैयारी में है?

क्या पाकिस्तान यूपी चुनाव में आतंकी हमले कराने की तैयारी में है?

दिल्ली पुलिस ने 6 संदिग्धों को गिरफ्तार कर कई दावे किए हैं.

नसीरुद्दीन शाह ने योगी आदित्यनाथ के 'अब्बा जान' वाले बयान पर बड़ी बात कह दी है!

नसीरुद्दीन शाह ने योगी आदित्यनाथ के 'अब्बा जान' वाले बयान पर बड़ी बात कह दी है!

नसीर ने ये भी कहा कि कई मुस्लिम अपने पिता को बाबा भी कहते हैं.

AIMIM के पूर्व नेता पर FIR, दोस्त के साथ हलाला कराने की कोशिश का आरोप

AIMIM के पूर्व नेता पर FIR, दोस्त के साथ हलाला कराने की कोशिश का आरोप

पूर्व पत्नी ने लगाया रेप के प्रयास का आरोप, AIMIM नेता ने कहा- बेबुनियाद.

75 साल बाद नर्सिंग के पाठ्यक्रम में किए गए बड़े बदलाव हैं क्या?

75 साल बाद नर्सिंग के पाठ्यक्रम में किए गए बड़े बदलाव हैं क्या?

ये बदलाव जनवरी 2022 से लागू होंगे.

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

इरा बसु वायरोलॉजी में PhD हैं और 30 साल से भी ज्यादा समय तक पढ़ाया है.