Submit your post

Follow Us

"INS विराट राजीव गांधी की सुरक्षा के लिए था, छुट्टी के लिए नहीं"

11.04 K
शेयर्स

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडिया टुडे के एक पुराने लेख के हवाले से पूर्व पीएम राजीव गांधी पर हमला बोला. इस आर्टिकल में कहा गया था कि कैसे तत्कालीन पीएम राजीव गांधी ने नौसेना के युद्धपोत, आईएनएस विराट का उपयोग छुट्टियां मनाने के लिए किया था. वजाहत हबीबुल्लाह, जो लक्षदीप के तत्कालीन प्रशासक थे, ने इंडिया टुडे टीवी को बताया कि आईएनएस विराट लक्षद्वीप में तैनात था, लेकिन जहाज पर सवार गांधी छुट्टी नहीं मना रहे थे. वह एक आधिकारिक दौरे पर थे.

सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी हबीबुल्लाह याद करते हैं कि

‘राजीव गांधी और सोनिया गांधी एक सरकारी हेलिकॉप्टर से लक्षद्वीप में उतरे थे. आईएनएस विराट पीएम की बैकअप सुरक्षा के लिए समुद्र में था. प्रधानमंत्री को बैकअप सुरक्षा की आवश्यकता थी. समुद्र के बीच में युद्धपोतों के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं था’.

उन्होंने कहा कि ‘राजीव गांधी एक आधिकारिक बैठक के लिए लक्षद्वीप गए थे. कोई विदेशी या यहां तक कि मेहमानों को आईएनएस विराट पर जाने की अनुमति नहीं थी’. हबीबुल्ला ने इस मुद्दे को उछालने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी की खिंचाई की है. उन्होंने कहा कि यह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है. उन्होंने कहा, यदि आप असत्यापित बयान देते हैं तो यह मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट (एमसीसी) का उल्लंघन है. मैं चुनाव आयोग में अपने सहयोगियों से कहूंगा कि पीएम मोदी की बात का संज्ञान लें.

तत्कालीन पीएम राजीव गांधी, सोनिया गांधी और अन्य की लक्षद्वीप दौरे की तस्वीर. (फोटो क्रेडिट-वजाहत हबीबुल्लाह)
तत्कालीन पीएम राजीव गांधी, सोनिया गांधी और अन्य की लक्षद्वीप दौरे की तस्वीर. (फोटो क्रेडिट-वजाहत हबीबुल्लाह)

31 जनवरी, 1988. अंग्रेजी की पत्रिका इंडिया टुडे ने उस वक्त के प्रधानमंत्री रहे राजीव गांधी की 10 दिन लंबी छुट्टी की एक रिपोर्ट छापी थी. इस रिपोर्ट को लक्षद्वीप से लिखा था अनीता प्रताप ने. रिपोर्ट में कहा गया है कि राजीव गांधी ने अपने परिवार और दोस्तों के साथ 10 दिन की छुट्टियां लक्षद्वीप में प्लान की थी. प्रधानमंत्री राजीव गांधी के इस दौरे पर सबसे बड़ा सवाल उठा था देश के सबसे अच्छे लड़ाकू जहाज आईएनएस विराट के इस्तेमाल को लेकर.

तत्कालीन पीएम राजीव गांधी, सोनिया गांधी और अन्य की लक्षद्वीप दौरे की तस्वीर. (फोटो क्रेडिट-वजाहत हबीबुल्लाह)
तत्कालीन पीएम राजीव गांधी, सोनिया गांधी और अन्य की लक्षद्वीप दौरे की तस्वीर. (फोटो क्रेडिट-वजाहत हबीबुल्लाह)

रिपोर्ट के अनुसार आईएनएस विराट का इस्तेमाल राजीव गांधी की यात्रा के लिए किया गया था. 10 दिनों तक आईएनएस विराट अरब सागर में रहा था. समंदर में उतरने के बाद विराट का हर रोज का खर्च बहुत ज्यादा था, क्योंकि विराट के साथ कई और भी जहाज चलते थे. एक पनडुब्बी भी लगाए जाने की बात सामने आई थी और रक्षा विशेषज्ञों ने सवाल किए थे कि राजीव गांधी की छुट्टियों के लिए विराट जैसे लड़ाकू जहाज का इस्तेमाल क्यों किया गया. इतना ही नहीं, छुट्टियों के दौरान अगत्ती में स्पेशल सेटेलाइट के लिंक भी लगाने पड़े थे. हिन्दी में पूरी रिपोर्ट आप यहां पढ़ सकते हैं.


मोदी सरकार को इस आदमी की इस आदमी की गंगा सफाई पर बात ढूंढकर सुननी चाहिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Ex-Lakshwadeep administrator Wajahat Habibullah says INS Viraat was stationed for Rajiv Gandhi’s security, he was not holidaying on it

टॉप खबर

एक महीने से छात्र धरने पर हैं, किसी को परवाह नहीं

ये खबर हर स्टूडेंट को पढ़नी चाहिए.

बजट में सरकार ने अमीरों पर बंपर टैक्स लगाया

पेट्रोल-डीज़ल पर एक रुपया अतिरिक्त लेगी सरकार.

राहुल गांधी के पत्र की चार ख़ास बातें, तीसरी वाली में सारे देश की दिलचस्पी है

आज राहुल गांधी ने आखिरकार इस्तीफा दे ही दिया.

आकाश विजयवर्गीय पर मोदी बहुत नाराज़ हुए, उतना ही जितना साध्वी प्रज्ञा पर हुए थे!

"अफ़सोस! दिल से माफ़ नहीं कर पाएंगे."

नुसरत जहां के खिलाफ़ जिस फतवे पर बवाल मचा, वैसा फ़तवा जारी ही नहीं हुआ

निखिल से शादी के बाद सिन्दूर-साड़ी में संसद पहुंची थीं नुसरत

क्या ज़ायरा ने इस्लाम के लिए फ़िल्म लाइन छोड़ दी?

जिन चीज़ों से रील लाइफ में लड़कर सुपर स्टार बनीं, निजी ज़िंदगी में वो लड़ाई ही छोड़ दी है.

मायावती ने गठबंधन क्या तोड़ा, खुद की लुटिया ही डुबो ली है

गठबंधन तोड़कर अखिलेश और माया चवन्नी भर सीटें भी नहीं जीत रहे हैं.

खट्टर सरकार रेपिस्ट बाबा की जेल से छुट्टी का समर्थन कर रही, लेकिन जानिए ऐसा होना संभव क्यूं नहीं

जेल से छुट्टी क्यों चाह रहा है बलात्कारी बाबा राम रहीम?

चमकी बुखार में जिनके बच्चे मरे, उन्होंने विरोध किया तो केस दर्ज हो गया

बिहार में एक दो नहीं पूरे 39 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है.

चमकी बुखार से पीड़ित परिवार से मिलने गए सांसद-विधायक को लोगों ने बंधक बना लिया

उधर सुप्रीम कोर्ट ने राज्य और केंद्र सरकार को नोटिस भेज दिया है.