Submit your post

Follow Us

जिस राज्य में सिर्फ सात कोरोना पेशेंट हैं, वहां के सीएम को केंद्र से क्या शिकायत है?

आज तक ई-एजेंडा कार्यक्रम में दो मई को छ्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि राज्य में अब कोरोना वायरस इंफेक्श के सिर्फ सात मरीज़ बचे हैं. बाकी राज्यों की तुलना में छत्तीसगढ़ कुछ सुरक्षित बना है, क्योंकि समय रहते राज्य की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया था. बाज़ारों को बंद कर दिया गया था. इससे संक्रमण कम जगहों पर फैला.

बघेल ने ये भी बताया कि केंद्र के किन दो कदमों से वे सहमत नहीं हैं..

“रायपुर में पहला मरीज़ 18 मार्च को, दूसरा 25 मार्च को मिला. इसके बाद यहां कोई मरीज़ नहीं मिला. इसके बाजवूद रायपुर को रेड जोन में रखे जाने की बात मेरे समझ में नहीं आई. इसे ग्रीन ज़ोन में होना चाहिए था.”

इसके अलावा बघेल प्रवासी मज़दूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए चल रही ट्रेन का पैसा राज्य सरकारों से लेने के कदम से भी सहमत नहीं हैं. उन्होंने कहा –

“कोटा से बस से लोगों को लाने में हमें 2 दिन लगे थे. काफी कठिनाई भी हुई थी. इसलिए हमने ट्रेन चलाने की अपील की थी. ट्रेन भारत सरकार की है. लेकिन मज़दूरों को लाने के लिए पैसा राज्य सरकार से लिया जा रहा है. ये गलत है.”

बिप्लब बोले- हम नेशनल लेवल से दोगुनी टेस्टिंग कर रहे

ई-एजेंडा में त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब ने कहा कि प्रदेश में 29 जनवरी से ही एयरपोर्ट पर चेकिंग शुरू हो गई थी. 16 मार्च से ही धारा 144 लागू कर दी गई थी. इस वजह से हालात ठीक बने हैं. उन्होंने कहा –

“कोरोना टेस्टिंग का बाकी राज्यों का एवरेज 667 है. वहीं त्रिपुरा में यह संख्या 1350 है. हमारे राज्य में दुकानें ज़्यादा हैं, मॉल कम. दुकानें खुल रही हैं. 75 फीसदी कारखानों में काम भी शुरू हो गया है. हम घोषणा करने वाले हैं कि कल से 100 फीसदी लोग दफ्तर जाकर काम करेंगे.”

बिप्लब देब ने कहा कि जब तक कोरोना वायरस का वैक्सीन नहीं आता, तब तक हमें कोरोना के साथ ही जीना होगा.

वहीं मेघालय के सीएम कॉनराड संगमा ने कहा कि राज्य का एक भी ज़िला रेड ज़ोन में नहीं है. हमारे राज्य में 16 मार्च से ही कई जगह ​प्रतिबंध लगाए गए थे, उसका फायदा काफी मिला. 13 मार्च को पहली बार एक घर में 12 केस मिले. उसके बाद से कंटेनमेंट रणनीति पर काफी काम किया गया. आज सिर्फ एक ही एक्टिव केस है, बाकी 10 रिकवर हुए हैं, सिर्फ एक की मौत हुई है.


रेड, ग्रीन और ऑरेंज ज़ोन में बंटा देश, 14 दिन के लिए फिर बढ़ा लॉकडाउन

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पालघर: लिंचिंग स्पॉट पर जा रही पुलिस की बस को 200 लोगों ने रोका था, मारे थे पत्थर

लिंचिंग वाली जगह से करीब 13 किमी दूर तीन घंटे तक रोक कर रखा था.

यूजीसी ने बताया, इन तारीखों को और इस तरह होंगे यूनिवर्सिटी के एग्जाम

जिन बच्चों के पेपर अटके हुए हैं, उनका साल बर्बाद न हो, इसकी पूरी व्यवस्था है.

आतंकियों को हथियार पहुंचाने में BJP का पूर्व नेता पकड़ाया, पार्टी ने कहा 'बैकग्राउंड पता नहीं था'

ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा #BJPwithTerrorists.

मज़दूरों को अपने राज्य ले जाने वाली पहली ट्रेन चल पड़ी है

केंद्र ने तो बस की बात की थी, फिर ये कैसे मुमकिन हुआ?

ऋषि कपूर नहीं रहे, अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर बताया

29 अप्रैल की देर रात अस्पताल में हुए थे भर्ती.

ऋषि कपूर अस्पताल में भर्ती, भाई रणधीर ने बताया- उनकी सेहत ठीक नहीं है

कुछ ही महीनों पहले कैंसर से ठीक होकर न्यू यॉर्क से लौटे हैं.

समंदर के तूफानों का नामकरण हो गया है, जानिए क्या-क्या नाम रखे गए हैं

अगले 25 साल तक का इंतजाम हो गया है.

पंजाब का पांच साल का ये सरदार टिक-टॉक स्टार असल में लड़की है?

इसके हाज़िरजवाबी को लोग पसंद कर रहे हैं.

क्या मोदी सरकार ने पैसा लेकर भागने वालों का लोन माफ़ कर दिया?

इस तरह के वायरल मैसेज की सचाई क्या है?

इरफ़ान के निधन पर पीएम मोदी ने दुखी मन से ट्वीट किया

फ़िल्मी दुनिया में लौट चुके थे, मगर पूरी तरह रोगमुक्त नहीं हुए थे.