Submit your post

Follow Us

कोरोना की बूस्टर डोज की अभी जरूरत है या नहीं, साइंटिस्ट्स की बात जान लीजिए

कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) के मोर्चे पर एक सुकून देने वाली खबर है. इंटरनेशनल साइंटिस्ट्स के एक एक्सपर्ट्स ग्रुप का कहना है कि कोरोना के डेल्टा वैरिएंट पर वैक्सीन फिलहाल इस हद तक कारगर हैं कि बूस्टर डोज़ की जरूरत नहीं पड़ेगी. इस एक्सपर्ट ग्रुप में WHO और अमेरिका की रेग्युलेटरी एजेंसी यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) के साइंटिस्ट्स भी हैं.

बूस्टर डोज़ को लेकर ये रिव्यू मशहूर रिसर्च जर्नल लैंसेट में 13 सितंबर को प्रकाशित हुआ. यह इस मायने में अहम है कि अक्सर ये सवाल उठता है कि कोरोना की बूस्टर डोज लगनी चाहिए या नहीं. कई देशों ने अपने नागरिकों को बूस्टर डोज देने भी शुरू कर दिए हैं. हालांकि इनमें ऐसे लोग शामिल हैं, जिन्हें गंभीर बीमारी है या वैक्सीन लगवाए छह महीने से ज्यादा हो चुके हैं. भारत में भी इसे लेकर विचार चल रहा है.

इस रिव्यू की प्रमुख लेखिका डब्यूएचओ की डॉक्टर एना मारिया हेनाओ रेस्ट्रेपो हैं. उनका कहना है कि

“अगर समग्र रूप से देखा जाए तो फिलहाल जो अध्ययन उपलब्ध हैं, वो गंभीर बीमारी (कोरोना) के खिलाफ सुरक्षा में कमी के भरोसेमंद प्रमाण प्रदान नहीं करते हैं. सुरक्षा कायम रखना ही टीकाकरण का प्राथमिक लक्ष्य है. वैक्सीन के जरिए ऐसे अधिकांश लोगों की जान बचाई जा सकती है, जिन पर गंभीर बीमारी का खतरा है. अगर बूस्टर डोज़ देने से कुछ फायदा होता भी है,  तब भी प्राथमिकता उन लोगों को वैक्सीन देने पर होनी चाहिए जिन्हें अब तक नहीं दी जा सकी है. ऐसा करने से महामारी का जल्दी अंत होगा और वायरस के नए वैरिएंट भी नहीं बनेंगे.”

एंटीबॉडी कम होने से भी फर्क नहीं

स्टडी के मुताबिक, ऑब्जर्वेशन से लगातार ये बात पता चल रही है कि वैक्सीन गंभीर बीमारी पर भी काफी कारगर है, चाहे वायरस का कोई भी वैरिएंट हो. रिपोर्ट बताती हैं कि डेल्टा और अल्फा वैरिएंट वाले गंभीर मरीजों पर भी वैक्सीन की इफिकेसी 95 फीसदी है यानी 95 फीसदी प्रभावी है.

रिव्यू में लिखा है कि अगर वैक्सीनेशन के बाद समय बीतने पर शरीर से एंटीबॉडी कम भी होने लगते हैं तो इसका मतलब ये नहीं लगाया जाना चाहिए कि इससे वैक्सीन के असर में कमी आ जाएगी. इसका कारण ये है कि बीमारी के खिलाफ प्रोटेक्शन सिर्फ एंटीबॉडी के जरिए ही नहीं मिलता बल्कि मेमोरी रेस्पॉन्स और सेल मेडिएटेड इम्यूनिटी के जरिए भी मिलता है. ये लंबे वक्त तक कायम रहता है. बता दें कि मैमोरी रेस्पॉन्स शरीर की उस प्रतिक्रिया को कहते हैं, जब पुराने अनुभव के आधार पर शरीर वायरस को पहचान जाता है. इसी तरह से सेल मेडिएडेट इम्यूनिटी में बिना एंटीबॉडी के भी शरीर बीमारी के खिलाफ एक खास मैकेनिज्म के जरिए लड़ लेता है. इस रिव्यू में कहा गया है कि बूस्टर डोज़ तभी दिया जाए, जब इसके लिए कोई खास परिस्थिति पैदा हो और रिस्क से ज्यादा फायदा नजर आए.

भारत में वैक्सीनेशन 75 करोड़ के पार

देश में कोरोना का कुल टीकाकरण आंकड़ा 75 करोड़ के पार कर चुका है. WHO ने भी भारत के टीकाकरण की इस रफ्तार की तारीफ की है. WHO के अनुसार, भारत ने 13 दिन में 65 करोड़ से 75 करोड़ के आंकड़े को छू लिया, जो सराहनीय है. बता दें कि भारत में शुरुआती 10 करोड़ डोज 85 दिन में लगी थीं. देश में हिमाचल प्रदेश समेत 6 राज्य ऐसे हैं जहां 100 फीसदी पात्र लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है. बाकी राज्य हैं दादर व नागर हवेली, गोवा, सिक्किम, लद्दाख और लक्षद्वीप.


वीडियो- कैसे पहचान करें कि कोरोना वैक्सीन असली है या नहीं? जानें पूरा तिया-पांचा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.