Submit your post

Follow Us

उत्तराखंड में एक और आपदा, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग के पास बादल फटा

उत्तराखंड के उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग से बादल फटने की ख़बर सामने आ रही है.  न्यूज़ एजेंसी ANI की ख़बर के मुताबिक, रुद्रप्रयाग के नारकोटा गांव के सैनी सोट क्षेत्र में 3 मई को बादल फटने से काफी नुकसान हुआ है. साथ ही इस घटना से उत्तरकाशी का चिन्यालीसौड़ भी काफी प्रभावित हुआ है. दोनों जगहों से घरों, सड़कों को काफी नुकसान पहुंचने की ख़बरें हैं, लेकिन अभी तक किसी व्यक्ति के हताहत होने की सूचना अभी तक सामने नहीं आयी है.

नुकसान के कारण क्षेत्रों को आने वाले तमाम रास्ते भी ब्लॉक हो गए हैं. स्थानीय पुलिस और प्रशासन के लोग मौके पर पहुंचे हैं. राहत टीम भी लगाई गई है. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने इस मौक़े पर ट्वीट किया है,

“रुद्रप्रयाग व उत्तरकाशी जिलों में बादल फट जाने की खबर का तत्काल संज्ञान लेते हुए संबंधित जिलाधिकारियों से फ़ोन पर जानकारी ली. उन्हें प्रभावितों को तुरंत राहत और अनुमन्य सहायता राशि अविलंब देने के निर्देश दिए. दोनों जिलाधिकारी को स्थिति पर लगातार नज़र रखने को कहा. लोक निर्माण विभाग, एनएच व बीआरओ को आदेश दिए जो मार्ग बंद हो गए हों उन्हें तत्काल खुलवाया जाये ताकि जनता को परेशानी न हो.”

साल की तीसरी बड़ी आपदा

उत्तराखंड में ये साल की तीसरी बड़ी आपदा है. सबसे बड़ी आपदा फरवरी में आई थी. चमोली के रैणी इलाके में ऋषि गंगा पावर प्रोजेक्ट के पास 7 फरवरी की सुबह ग्लेशियर टूटा. इसके बाद अलकनंदा नदी ओवरफ्लो हो गई. बहाव में पानी के साथ-साथ भारी मात्रा में चट्टानों का मलबा भी था. तेज रफ्तार सैलाब ने तबाही मचा दी थी. मृतकों की संख्या 40 से ऊपर पहुंच गई थी. लापता हुए लोगों की संख्या और भी ज़्यादा.

इसके बाद 3-4 अप्रैल को राज्य के करीब 62 हेक्टेयर जंगल में आग लग गई थी. 960 से ज़्यादा जगहों पर आग लगी थी. इस आग में कम से कम 4 लोगों की और जंगल के तमाम जानवरों की जलकर मौत हो गई. 37 लाख से ज़्यादा की संपत्ति का नुकसान हुआ था.

इसी के बाद 23 अप्रैल की शाम चमोली ज़िले का जो इलाका भारत-चीन बॉर्डर से लगा है, वहां ग्लेशियर टूटने की वजह से हिमस्खलन हो गया. करीब 400 लोगों को यहां से रेस्क्यू किया गया. चमोली के डिज़ास्टर मैनेजमेंट ऑफिसर एनके जोशी ने बताया था कि उस आपदा में कम से कम 23 लोग मारे गए थे.


उत्तराखंड के जंगलों में आग भड़कने के बाद एक जलती चिड़िया की वायरल तस्वीर का सच क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

चुनाव आयोग के वकील ने क्या कहते हुए इस्तीफ़ा दे दिया है?

सुप्रीम कोर्ट में चुनाव आयोग का प्रतिनिधित्व करने वाले वकील का इस्तीफा.

कोरोना के समय BJP नेता राजीव प्रताप रूडी के ऑफिस में खड़ी मिलीं दर्जनों एंबुलेंस

पप्पू यादव ने सवाल उठाए तो सांसद ने क्या जवाब दिया?

यूपी पुलिस ने अस्पताल के ऑक्सीजन सिलेंडर रोके, पूछने पर कहा- 'इंस्पेक्टर कुछ भी कर सकता है'

सोशल मीडिया पर पत्रकार के सवाल और एसओ के जवाब का ऑडियो वायरल हो रहा है.

टैगोर ने किसे खत लिखा और गांधी जी को अनशन समाप्त करना पड़ा?

टैगोर और गांधी के ये किस्से सुनकर आपके चेहरे पर मुस्कान आ जाएगी!

महाराष्ट्र में बिना सेफ्टी के बनाए जा रहे थे कोविड स्वैब टेस्ट किट, आरोपी हिरासत में

पुलिस ने बचे हुए स्वैब स्टिक स्टॉक को ज़ब्त कर लिया है.

इस टीम के साथ टेस्ट क्रिकेट का वर्ल्ड कप जीतने जाएंगे विराट

हार्दिक, कुलदीप बाहर. जानिए रोहित का क्या हुआ?

IMPACT FEATURE: Mx ओरिजिनल सीरीज़ 'रामयुग' में बहुत कुछ है खास

निर्देशक कुणाल कोहली रामायण को एक नए रूप में दर्शकों के बीच लाए हैं.

भारत एक खोज और तमस का संगीत देने वाले दिग्गज कंपोज़र वनराज भाटिया का निधन

7000 से ऊपर विज्ञापनों के जिंगल्स बनाने वाले नेशनल अवार्ड विनिंग म्यूजिक कंपोज़र.

UP: यमुना नदी में बहते मिले दर्जन भर शव, पुलिस ने इसकी ये वजह बताई है

हमीरपुर में यमुना का हाल देख लोग हैरान.

इस ऑक्सीजन टैंकर ड्राइवर की 'झपकी' से 400 लोगों की जान खतरे में थी!

ड्राइवर का पक्ष सुनकर उसपर गुस्सा नहीं आएगा.