Submit your post

Follow Us

कोटा में दो दिन में 10 बच्चों की मौत की वजह डॉक्टरों की लापरवाही नहीं, भारी ठंड: जांच रिपोर्ट

राजस्थान का कोटा. अक्सर खबरों में रहता है. कोचिंग क्लास और वहां पढ़ने गए बच्चों के सुसाइड रेट की वजह से. ये शहर एक बार फिर खबरों में हैं. इस बार कोचिंग कर रहे बच्चों के सुसाइड की घटनाओं की वजह से नहीं, बल्कि नवजातों की मौत की वजह से. कोटा के जेके लोन सरकारी अस्पताल में एक महीने के अंदर 77 बच्चों की मौत हो गई. 10 बच्चों की मौत तो केवल 23 और 24 दिसंबर के दिन ही हुई. बवाल मचा. सरकार से सवाल किया गया. एक जांच कमेटी बनाई गई.

कमेटी में जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल के दो डॉक्टरों को शामिल किया गया. अमरजीत मेहता, जो एडिशनल प्रिंसिपल डॉक्टर हैं और रामबाबू शर्मा, जो शिशु रोग विशेषज्ञ हैं. इन दोनों की कमेटी ने जांच की और 30 दिसंबर के दिन रिपोर्ट सरकार को सौंप दी.

क्या है रिपोर्ट में?

कमेटी ने अस्पताल प्रशासन और डॉक्टर्स को क्लीन चिट दे दी है. कमेटी ने बच्चों के इलाज में कोई कमी नहीं पाई है. हालांकि ये बात जरूर कही है कि आईसीयू में सिलेंडर के जरिए ऑक्सीजन मुहैया कराई जाती है, जबकि ऑक्सीजन पाइपलाइन के जरिए पहुंचाई जानी चाहिए. बाहर से सिलेंडर अंदर लाने से संक्रमण का खतरा बढ़ता है.

इसके अलावा कमेटी ने कहा कि दो दिन में 10 बच्चों की मौत का कारण इलाज में कमी नहीं, बल्कि ठंड है. 10 में से 5 बच्चे एक माह से छोटे थे और भारी सर्दी में उनके पैरेंट्स जीप में रखकर उन्हें दूसरे अस्पतालों से रेफर करवाकर लाए थे. सर्दी के कारण गले में इंफेक्शन हो गया था. सांस रुकने जैसे हालात हो गए थे. इस वजह से उनकी मौत हुई. डॉक्टरों ने इलाज में कोताही नहीं की थी. लापरवाही नहीं बरती थी.

कमेटी ने ये भी कहा कि आईसीयू के 53 बिस्तरों पर 70 से ज्यादा बच्चों का इलाज किया जा रहा है, इससे भी संक्रमण हो सकता है.

ये भी पढ़ें-

एक महीने में 77 बच्चों की मौत पर राजस्थान के CM बोले- इसमें कोई नई बात नहीं है


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.