Submit your post

Follow Us

CBSE ने इस बार 10वीं और 12वीं के एग्जाम का नया सिस्टम बनाया है, जान लीजिए

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने सत्र 2021-2022 के 10वीं और 12वीं के एग्जाम का सिस्टम बदल दिया है. CBSE बोर्ड इस बार इन दोनों कक्षाओं के लिए दो बार एग्जाम लेगा. इस बारे में CBSE ने सर्कुलर जारी करके बताया है कि ये एग्जाम्स कैसे और किस सिलेबस के आधार पर लिए जाएंगे.

इस साल 2 सिलेबस, 2 एग्जाम

इस बार यानी 2021 में कोरोना की दूसरी लहर की वजह से 10वीं और 12वीं के एग्जाम कैंसल करने पड़े थे. ऐसे में साल 2022 के एग्जाम के लिए CBSE ने अभी से तैयारी कर ली है. CBSE के अनुसार, कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर 2022 के बोर्ड एग्जाम के लिए स्पेशल स्कीम तैयार की गई है. इसके मुताबिक-

#इस बार 10वीं और 12वीं में 100% सिलेबस पर आधारित पारंपरिक बोर्ड परीक्षा के बजाय साल में दो बार एग्जाम लिए जाएंगे. इन एग्जाम को टर्म-1 और टर्म-2 कहा जाएगा.
# हर परीक्षा में 50% सिलेबस से ही सवाल पूछे जाएंगे. यानी 50% सिलेबस टर्म-1 में और बचा हुआ 50% टर्म-2 में पूछा जाएगा. यह जरूर है कि दोनों ही टर्म एग्जाम के पेपर बोर्ड बनाएगा.
# टर्म-1 का पेपर मल्टीपल चॉइस आधारित होगा, जो ओएमआर शीट पर होगा.
# अगर इस बार भी कोरोना की वजह से कोई दिक्कत होती है तो उसे देखते हुए CBSE ने असेसमेंट के चार तरीके तय किए हैं. ये तरीके कुछ ऐसे काम करेंगे-

#1. यदि दोनों टर्म परीक्षाओं के लिए स्कूल खुल पाएं
यदि कोरोना महामारी की स्थितियों में सुधार आया तो टर्म-1 और टर्म-2 दोनों ही एग्जाम स्कूल या परीक्षा केंद्र पर आयोजित होंगे.
अंतिम नतीजों में दोनों टर्म के अंकों का बराबर-बराबर (50:50) योगदान माना जाएगा.

# 2. यदि टर्म-1 में स्कूल बंद रहें, टर्म-2 के लिए खुलें
स्कूल न खुलें तो टर्म-1 का एग्जाम ऑफलाइन या ऑनलाइन माध्यम से घरों से ही होगा. टर्म-2 एग्जाम तक स्कूल खुल जाएं तो परीक्षा पारंपरिक तरीके से होगी.
अंतिम नतीजों में टर्म-1 के अंकों का वेटेज कम कर दिया जाएगा.

# 3. यदि टर्म-1 स्कूल में हों, टर्म-2 में स्कूल न खुल सकें
टर्म-1 की परीक्षा तो स्कूल में हो लेकिन महामारी की परिस्थितियों के चलते मार्च-अप्रैल तक स्कूल लगातार ही बंद रहें तो टर्म-2 के पेपर नहीं होंगे.
टर्म-1 और इंटरनल असेसमेंट के आधार पर रिजल्ट बनेगा.

# 4. यदि टर्म-1 और टर्म-2 दोनों में ही स्कूल बंद रहें
यदि पूरे सत्र के दौरान स्कूल एक भी दिन नहीं खुल पाए, तो ऐसी स्थिति में टर्म-1 और टर्म-2 दोनों ही परीक्षाएं छात्र घर से देंगे.
दोनों टर्म के अंकों के साथ आंतरिक मूल्यांकन के अंक जोड़कर रिजल्ट तैयार होगा.

कैसा होगा फर्स्ट टर्म का पैटर्न?

# फर्स्ट टर्म के आखिर में CBSE बोर्ड टर्म-1 एग्जाम लेगा. यह नवंबर-दिसंबर 2021 के बीच लिया जाएगा.
# इसमें मल्टीपल च्वाइस क्वेश्चंस रहेंगे. इसमें टर्म-1 के सिलेबस से ही सवाल आएंगे. स्टूडेंट्स को ओएमआर शीट पर आंसर देने होंगे.
# हर पेपर का टेस्ट 90 मिनट का होगा.
# क्वेश्चन पेपर्स CBSE ही भेजेगा. एग्जाम उसी स्कूल में होगा, जहां स्टूडेंट्स पढ़ रहे होंगे. लेकिन एग्जाम की निगरानी के लिए CBSE बोर्ड द्वारा एक्सटर्नल सेंटर सुपरिटेंडेंट और ऑब्जर्वर नियुक्त किए जाएंगे.
# ओएमआर शीट को स्कैन करके CBSE के पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा, या फिर स्कूल इनका मूल्यांकन करके मार्क्स CBSE पोर्टल पर अपलोड करेंगे. इस पर आखिरी फैसला बोर्ड लेगा, और स्कूलों को सूचित करेगा.

कैसा होगा सेकेंड टर्म एग्जाम का पैटर्न?

# यह एग्जाम मार्च-अप्रैल 2022 के बीच लिया जाएगा. पेपर 2 घंटे का होगा.
# टर्म-2 या इयर एंड एग्जाम भी CBSE कराएगा. इसमें पहले टर्म में शामिल सिलेबस के अलावा बाकी बचे 50 फीसदी सिलेबस से सवाल पूछे जाएंगे.
# इसमें अलग-अलग तरह के सवाल पूछे जाएंगे. यानी इसमें मल्टिपल चॉइस वाले सवालों के साथ लघु उत्तरीय और विस्तृत जवाब वाले प्रश्न भी शामिल होंगे.
# लेकिन अगर कोरोना की वजह से कोई दिक्कत आई तो टर्म-2 एग्जाम को भी 90 मिनट का कर दिया जाएगा. फिर यह एग्जाम टर्म-1 की तरह ही सिर्फ मल्टिपल चॉइस क्वेश्चंस वाला रहेगा. दोनों टर्म्स के मार्क्स स्टूडेंट्स के ओवरऑल बोर्ड रिजल्ट्स में जुड़ेंगे.

क्या रहेगा सिलेबस?

CBSE ने अपने सर्कुलर में बताया है कि सत्र 2021-22 में भी पिछले सत्र की तरह ही सिलेबस होगा. यानी इस साल भी क्लास 10 और 12 के सिलेबस में कटौती की जाएगी. सिलेबस की पूरी डीटेल जुलाई के महीने में ही cbse.nic.in पर जारी कर दी जाएगी. बोर्ड का कहना है कि इंटरनल असेमेंट्स, प्रैक्टिकल एग्जाम्स, प्रोजेक्ट वर्क के सिस्टम को ज्यादा भरोसेमंद बनाने की कोशिश की जाएगी.

9वीं और 11वीं वालों का क्या होगा?

CBSE ने 9वीं और 11वीं के स्टूडेंट्स के लिए भी असेसमेंट प्लान बनाया है. 2022 के बोर्ड एग्जाम को लेकर CBSE द्वारा जारी सर्कुलर में कहा गया है कि जब तक संबंधित प्रशासन द्वारा फिजिकल क्लासेज़ की अनुमति नहीं मिलती, तब तक ऑनलाइन क्लास ही चलती रहेंगी. इस बीच टर्म-1 और 2 के अलावा क्लास 9 से 12 तक के लिए पूरे साल इंटरनल असेसमेंट्स भी लिए जाएंगे.
# क्लास 9 और 10 के लिए- 3 पीरियॉडिक टेस्ट्स, स्टूडेंट एनरिचमेंट, पोर्टफोलियो और प्रैक्टिकल वर्क/ स्पीकिंग-लिसनिंग एक्टिविटीज़ / प्रोजेक्ट.
# क्लास 11 व 12 के लिए – हर टॉपिक खत्म होने पर टेस्ट या यूनिट टेस्ट, एक्स्प्लोरेटरी एक्टिविटीज़, प्रैक्टिकल्स व प्रोजेक्ट्स.
इंटरनल असेसमेंट्स को लेकर पूरी गाइडलाइन 2021-22 सिलेबस के साथ ही जारी की जाएगी.


वीडियो – कोरोना के दौर में 12वीं के बोर्ड एग्जाम को लेकर छात्रों, अभिभावकों और टीचर्स की क्या राय है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

काबुल एयरपोर्ट के बाहर सीरियल ब्लास्ट में 12 US कमांडो समेत 100 से ज्यादा की मौत, IS ने ली जिम्मेदारी

काबुल एयरपोर्ट के बाहर सीरियल ब्लास्ट में 12 US कमांडो समेत 100 से ज्यादा की मौत, IS ने ली जिम्मेदारी

इन धमाकों में 143 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है.

इस लीक हुए डॉक्यूमेंट की मानें, तो कांग्रेस सोनू सूद को मुंबई का मेयर बनाना चाहती है!

इस लीक हुए डॉक्यूमेंट की मानें, तो कांग्रेस सोनू सूद को मुंबई का मेयर बनाना चाहती है!

बताया जा रहा है 25 पन्नों के इस कथित चुनाव रणनीति डॉक्यूमेंट को मुंबई कांग्रेस के सेक्रेटरी गणेश यादव ने तैयार किया है.

क्या एक केंद्रीय मंत्री को किसी राज्य की पुलिस गिरफ्तार कर सकती है?

क्या एक केंद्रीय मंत्री को किसी राज्य की पुलिस गिरफ्तार कर सकती है?

भारत के इतिहास में तीसरी बार केंद्रीय मंत्री को गिरफ्तार किया गया है. पहले दो कौन थे, जानते हैं?

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे गिरफ्तार किए गए, CM उद्धव ठाकरे को थप्पड़ मारने की बात कही थी

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे गिरफ्तार किए गए, CM उद्धव ठाकरे को थप्पड़ मारने की बात कही थी

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के बयान से महाराष्ट्र की राजनीति उबल रही है.

इनकम टैक्स पोर्टल से जनता इतनी परेशान हुई कि वित्त मंत्री ने इंफोसिस के CEO को तलब कर लिया

इनकम टैक्स पोर्टल से जनता इतनी परेशान हुई कि वित्त मंत्री ने इंफोसिस के CEO को तलब कर लिया

मुलाकात से पहले ही इन्फोसिस ने सारा सिस्टम ठीक कर दिया.

मद्रास हाई कोर्ट ने केंद्र से क्यों कहा- हिंदी में जवाब देना कानून का उल्लंघन?

मद्रास हाई कोर्ट ने केंद्र से क्यों कहा- हिंदी में जवाब देना कानून का उल्लंघन?

केंद्र सरकार के अधिकारियों के खिलाफ एक्शन लेने तक की सलाह दे दी.

अफगानिस्तान: काबुल छोड़ने की कोशिश में प्लेन से गिरकर नेशनल फुटबॉलर की मौत

अफगानिस्तान: काबुल छोड़ने की कोशिश में प्लेन से गिरकर नेशनल फुटबॉलर की मौत

19 साल के जाकी अनावरी अफगानिस्तान के उभरते फुटबॉलर थे.

विकी कौशल की बहुप्रतीक्षित फ़िल्म 'दी इम्मोर्टल अश्वत्थामा'  के साथ बड़ा पंगा हो गया

विकी कौशल की बहुप्रतीक्षित फ़िल्म 'दी इम्मोर्टल अश्वत्थामा' के साथ बड़ा पंगा हो गया

'दी इम्मोर्टल अश्वत्थामा' का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे फैन्स को ये खबर ज़रूर पढ़नी चाहिए.

सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम की सूची में शामिल ये जज देश की पहली महिला CJI हो सकती हैं?

सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम की सूची में शामिल ये जज देश की पहली महिला CJI हो सकती हैं?

CJI एनवी रमना की अध्यक्षता वाले सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने 9 जजों के नाम की सिफारिश की.

अमरीका में बजी फ़ोन की घंटी और अफ़ग़ानिस्तान से 120 भारतीय नागरिक बचकर इंडिया आ गए!

अमरीका में बजी फ़ोन की घंटी और अफ़ग़ानिस्तान से 120 भारतीय नागरिक बचकर इंडिया आ गए!

भारत की धरती पर उतरते ही यात्रियों ने लगाए भारत माता की जय के नारे.