Submit your post

Follow Us

कार चला रहे आदमी पर लगा हेलमेट न पहनने का जुर्माना

107
शेयर्स

नए ट्रैफिक नियम लागू होने के बाद से ही कई खबरें आ रही हैं. कैसी? ऐसी की भारी-भरकम चालान काटे जा रहे हैं. लोगों के पैसे चुटकी बजाते ही हवा हो जा रहे हैं. किसी को 23 हज़ार रुपए का चालान लग रहा है, तो किसी को 59 हज़ार रुपए का. इसी बीच एक खबर आई. इन सब खबरों जैसी ही, लेकिन इन सबसे काफी अलग. क्या? ये कि कार चलाने वाले एक आदमी का चालान काटा गया, क्योंकि उसने हेलमेट नहीं पहना था. चौंक गए? हम भी चौंक गए थे.

मामला उत्तर प्रदेश के बरेली का है. कार चलाने वाले का 500 रुपए का चालान काटा गया है. उसकी कार को स्कूटी मानकर ये चालान कटा. अब भई, सवाल ये आता है कि क्या कार के अंदर भी हेलमेट पहनें? यही सवाल उस आदमी के मन में भी आया होगा, जिसका चालान कटा है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिस आदमी की कार का चालान कटा, उसका नाम है अनीस नरूला. जहां इनका घर है वो इलाका इज्जतनगर थाने के तहत आता है. अनीस के पास एक कार है. कुछ दिन पहले वो अपनी गाड़ी से रिलेटेड कुछ डॉक्यूमेंट्स इंटरनेट पर चेक कर रहे थे. तब उन्हें पता चला कि हेलमेट न पहनने के चलते 500 रुपए का चालान काटा गया है. ये चालान 26 जुलाई के दिन हुआ था. चालान स्लिप पर उनकी कार के नंबर को स्कूटी का नंबर बताया गया था. अनीस के फोन पर भी चालान काटे जाने का कोई मैसेज नहीं आया था.

अनीस पुलिस के पास पहुंचा. शिकायत की. पुलिस ने सफाई दी कि ये चालान सिविल पुलिस ने काटा था. साथ ही ये भी कहा कि हो सकता है कि सीट बेल्ट और हेलमेट को लेकर कन्फ्यूज़न हुआ हो. खैर, कारण जो भी रहा हो. लेकिन ये खबर वाकई चौंकाने वाली है.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

यूपी के उर्स में हिंदुओं ने खाकर 43 मुस्लिमों पर केस किया, कहा - भैंसे की बिरयानी खिला दी

केस किया भी तो दो दिन बाद.

15 हज़ार की गाड़ी थी, 23 हज़ार का चालान ठोंक दिया

किन पांच चीज़ों पर एक स्कूटी का ऐसा चालान हुआ?

योगी आदित्यनाथ के 'प्रेरणा ऐप' को प्ले स्टोर पर 1-स्टार की रेटिंग क्यों मिल रही है?

यूपी के टीचर अब सेल्फी नहीं लेना चाह रहे हैं.

यूपी के स्कूल में नमक-रोटी खाते बच्चों का वीडियो बनाने वाला पत्रकार फंस गया

बदनामी से गुस्साए डीएम ने केस करने की धमकी दी थी!

मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार में आर्थिक मंदी पर क्या कहा?

मनमोहन सिंह की बात पढ़ेंगे तो समझ जाएंगे कि मंदी क्यों आई.

असम के विधायक हैं, विपक्ष के नेता हैं, लेकिन NRC की लिस्ट में नहीं हैं अनंत कुमार मालो

कई नेताओं और सैनिकों के साथ ऐसा ही हुआ है.

BJP ने बड़बोली प्रज्ञा ठाकुर को चुप कराने का आईडिया निकाल लिया है

और प्रज्ञा ठाकुर बहुते परेशान हो गयी हैं

इमरान खान की भयानक बेज्ज़ती बिजली विभाग के क्लर्क ने कर दी है

सोचा होगा, 'हमरा एक्के मकसद है, बदला!'

जज साहब ने भ्रष्टाचार पर जजों का धागा खोला, मगर फिर जो हुआ वो बहुत बुरा है

कहानी पटना हाईकोर्ट के जज राकेश कुमार की, जो चारा घोटाले के हीरो हैं.

अयोध्या में बाबरी मस्जिद को बाबर ने बनवाया ही नहीं?

ये बात सुनकर मुग़लों की बीच मार हो गयी होती.