Submit your post

Follow Us

AAP के संजय सिंह ने 'कोरोना में भ्रष्टाचार' को लेकर योगी सरकार को घेरा

आप नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने यूपी के सुल्तानपुर की डीएम पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं. उन्होंने इसे ‘कोरोना में भ्रष्टाचार’ नाम दिया है. 4 सितंबर को उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट किए.

उनके ट्वीट देखिए.

क्या है मामला?

मामले की ज्यादा जानकारी के लिए हमने ‘इंडिया टुडे’ से जुड़े आलोक श्रीवास्तव से बात की. उन्होंने बताया कि भारतीय जनता पार्टी के विधायक हैं देवमणि द्विवेदी. सुल्तानपुर के लंभुआ सीट से चुने गए हैं. उन्होंने सुल्तानपुर की डीएम सी. इंदुमती पर ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर की खरीद को लेकर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था.

उनका आरोप है कि ग्राम पंचायतों में शासनादेश है कि 2800 रुपये में किट खरीदी जाए, लेकिन इसके स्थान पर डीएम ने 9950 रुपये में यह किट खरीदने के लिए गांव की पंचायतों पर दबाव बनाया. किट आपूर्ति करने वाली फर्म को डोंगल लगवाकर भुगतान भी करा दिया गया. इस आरोप को लेकर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने बीजेपी सरकार पर हमला बोला है.

वहीं विधायक देवमणि द्विवेदी ने मीडिया से बातचीत में कहा-

मैंने पत्र लिखा है. इस मामले में प्रमुख सचिव संजय प्रसाद ने एक पत्र जारी किया है. अपर मुख्य सचिव, पंचायती राज को पत्र लिखकर मामले की जांच कराने को कहा है. जांच चल रही है, सब दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा. शासनादेश 24 जुलाई को आया है. 24 जुलाई से लकर 17 अगस्त के बीच में जो डोंगल है, हायर रेट पर लगा है. इस बहाने से पूरे उत्तर प्रदेश में जहां भी ज्यादा अमाउंट का डोंगल लगा है, उसे रिफंड होना पड़ेगा. क्योंकि हमारी सरकार घोटालों और गुंडागर्दी के खिलाफ है.

अपने ऊपर लगे आरोपों पर डीएम ने कहा-

विधायक द्वारा सीधे-सीधे जिला प्रशासन, जिला अधिकारी पर आरोप लगाया गया है. यह बिल्कुल झूठ है. सत्य के विपरीत है. विधायक ने न तो कभी मुझसे बात की है, न ही मेरे सीडीओ से फैक्ट को वेरिफाई किया है. बिना फैक्ट को वेरिफाई किए, इस तरह का इतना बड़ा आरोप है. जिला प्रशासन की छवि खराब करने के उद्देश्य से किया लग रहा है. ये कम्युनिकेशन गैप से हुआ है. हम हमेशा भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ते रहते हैं. हमने कोई क्रय नहीं किया है. सीधे-सीधे ग्राम पंचायत द्वारा और नगर पालिका की ओर से ये खरीद हुई है.


कोरोना से बचने के लिए गले में नीले रंग का कैसा कार्ड लटकाकर घूम रहे लोग?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पबजी बैन, सोशल मीडिया ने कहा- ‘उनका’ वीडियो डिसलाइक करने का नतीजा है

118 ऐप्स बैन कर दिए गए हैं.

चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए पॉज़िटिव न्यूज़ आई है

बड़े दिनों के बाद.

सेरो सर्वे की मानें, तो ठीक होने के बाद दोबारा हो सकता है कोरोना!

208 में से 97 लोगों में नहीं मिली एंटीबॉडी.

अवमानना वाले मामले में सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण को क्या सज़ा दी है?

प्रशांत भूषण के दो ट्वीट का मुद्दा था.

अनलॉक-4 की गाइडलाइंस जारी, मेट्रो चलेगी, जानिए स्कूल खोलने को लेकर क्या कहा गया है

धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों को लेकर क्या छूट मिली है?

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.