Submit your post

Follow Us

चेहरा पहचानो और अपने बैंक एकाउंट से लाखों 'गंवाओ'

आज के जमाने में आदमी के पास जित्ता पइसा बढ़ा है उतने उसे पार करने के तरीके बढ़े हैं. ठग साइंस में रोजाना नया कॉलम जुड़ रहा है. नए कॉलम में बिहार के मजदूर धूपेश शाह का नाम जुड़ा है. एक टीवी चैनल पर कौन बनेगा करोड़पति क्विज शो के ऊपर क्विज खेल गए. और उनके एकाउंट से उड़ गए 1 लाख 70 हजार रुपए.

हिंदुस्तान की खबर के मुताबिक रोहतास, बिहार में रहता है धूपेश. गांव मनौली, नासरीगंज. करीब 15 दिन पहले हाउसफुल चैनल पर एक क्विज देखा. सवाल था KBC के होस्ट कौन हैं. आपके ऑप्शंस हैं अमिताभ बच्चन और सनी देओल. अब ये कोई ऐसा सवाल तो था नहीं कि उसके लिए प्रतियोगिता दर्पण टटोलनी पड़ती. ठांय से मैसेज टाइप किया औऱ भेज दिया सही जवाब.

फिर धूपेश के पास एक फोन आया. कहा गया कि ‘मुबारक हो आपका जवाब सही है. आप जीत रहे हैं एक टाटा सफारी.’ काम की बात आगे ये थी कि धूपेश को अपनी गाड़ी के रजिस्ट्रेशन के लिए पहले उनके दिए एकाउंट नंबर पर 1 लाख 70 हजार रुपए ट्रांसफर करने थे. धूपेश सफारी के लिए लबलबाए बैठे थे. दन्न से पहुंचा दिया पैसा.

सोमवार को जमशेदपुर में टाटा मोटर्स की एजेंसी पर पहुंचे. अपनी गाड़ी की डिलिवरी लेने. वहां पता लगा कि भैया फ्रॉड हो गया. सफारी कभी आनी ही नहीं थी. जो पैसे पेट तन काट के बटोर रखे थे वो भी चले गए.

खबर बड़ी नहीं है क्योंकि अपने आस पास अक्सर ऐसा होता है. लेकिन एक मजदूर के लिए डेढ़ लाख की रकम बड़ी होती है. सफारी का सपना तो बहुतै बड़ा. अक्सर ऐसे फोन आते हैं जिसमें पैसा तिड़ी बिड़ी हो जाता है. या कभी नौकरी के नाम पर, कभी मल्टी लेवल मार्केटिंग के नाम पर. सवाल ये है कि आदमी समझ काहे नहीं पाता कि मेहनत का कोई शॉर्टकट नहीं है. लालच थोड़ा बहुत ठीक है. लेकिन वो भी अपनी औकात के हिसाब से होना चाहिए.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

केजरीवाल सरकार दिल्ली में बेड का टोटा पूरा करने के लिए क्या कर रही है?

कोरोना नर्सिंग होम बनाए गए हैं. लेकिन ये है क्या?

मोदी सरकार से जुड़ीं इस अर्थशास्त्री ने 20 लाख करोड़ के पैकेज पर जो कहा है वो केंद्र को अच्छा नहीं लगेगा

शहरी गरीबों के लिए मनरेगा जैसी योजना लाने का सुझाव भी दिया.

गर्लफ्रेंड से बात करते हुए देखकर विराट कोहली को जब इग्लैंड के इस क्रिकेटर पर गुस्सा आ गया था

आठ साल पुरानी बात अब जाकर पता चली है.

गंभीर क्यों बोले एमएस धोनी टीम इंडिया के कप्तान नहीं बनते तो अच्छा रहता!

धोनी से गंभीर का 36 का आंकड़ा रहा है.

दिल्ली में कोरोना टेस्ट कराने वाला हर तीसरा व्यक्ति पॉजिटिव मिल रहा है

ये आंकड़ा पिछले एक हफ्ते का है.

कोरोना की मार, अब ये कंपनी 1100 लोगों को नौकरी से निकालेगी!

हर रोज नौकरी जाने की खबर आ रही है.

मास्क नहीं पहनने पर इस राज्य में छह महीने की जेल और 5000 का जुर्माना देना होगा

कोरोना से बचाव के लिए सार्वजनिक जगहों पर मास्क पहनना अनिवार्य है.

सरकार ने कोरोना के दो नए लक्षण बताए हैं, ऐसा होने पर भी करवाएं टेस्ट

हालांकि बहुत से लोग लक्षण ना मिलने पर भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना जांच पर मरीजों को तगड़ी राहत दी है

क्या बाकी राज्य भी ऐसा कुछ करेंगे?

जम्मू कश्मीर के पूर्व डीजीपी कमजोर हिंदुओं और मुसलमानों को हथियार देने की बात क्यों कर रहे हैं?

उनका बयान कश्मीरी पंडित सरपंच की हत्या के बाद आय़ा है.