Submit your post

Follow Us

हाथरस केस के बाद यूपी में अफसरों की उठा-पटक शुरू हो गई है

उत्तर प्रदेश में प्रशासनिक स्तर पर बड़ा फेरबदल हुआ है. अवनीश अवस्थी को सूबे के सूचना विभाग के अपर मुख्य सचिव (एसीएस) पद से हटा दिया गया है. अब ये ज़िम्मेदारी मिली है 1988 बैच के आईएएस ऑफिसर नवनीत सहगल को. इससे पहले जब प्रदेश में सपा और बसपा की सरकारें थीं, तब भी सहगल सूचना विभाग संभाल चुके हैं. उस वक्त वे प्रमुख सचिव पद पर रहे थे. माना जाता है कि उन्हें मीडिया मैनेजमेंट का अच्छा अनुभव है. कहा जाता है कि जब नवनीत बसपा सरकार में प्रमुख सचिव सूचना रहे थे, तो उस वक्त लखनऊ के चर्चित डॉ. सचान हत्याकांड के बाद मीडिया में डैमेज कंट्रोल में उनकी बड़ी भूमिका रही थी.

फिलहाल यूपी सरकार हाथरस केस में जनता और मीडिया में भरोसा कायम करने में नाकामयाब रही है. और इस नाते नवनीत की नियुक्ति को अहम माना जा रहा है. नवनीत सहगल फिलहाल एमएसएमई, एक्सपोर्ट प्रमोशन, खादी एंड विलेज इंडस्ट्री के एसीएस हैं. ये प्रभार भी उनके पास बने रहेंगे.

इसके अलावा संजय प्रसाद को प्रमुख सचिव-मुख्यमंत्री के साथ सूचना विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है. अवनीश अवस्थी से सूचना विभाग ले लिया गया है, लेकिन गृह विभाग-अपर मुख्य सचिव का पद बरकरार है. अपर मुख्य सचिव समाज कल्याण मनोज कुमार सिंह को उद्यान विभाग दे दिया गया है. वहीं प्रमुख सचिव उद्यान बाबू लाल मीणा को प्रमुख सचिव समाज कल्याण बनाया गया है. सरोज कुमार को विशेष सचिव प्राविधिक शिक्षा से एमडी पूर्वांचल विद्युत वितरण बनाया गया है.


हाथरस मामला: अब पुलिस का दावा है लड़की के साथ रेप नहीं हुआ

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

खबर है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने जाने वाले हैं.

सभी आरोपियों को बरी करते हुए कोर्ट ने कहा - इन्होंने बाबरी मस्जिद को बचाने की कोशिश की थी

आ गया है 28 साल पुराने मामले में फ़ैसला

हाथरस के कथित गैंगरेप मामले पर विराट कोहली ने क्या कहा?

अक्षय कुमार ने भी ट्वीट किया है.

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

तो क्या इस वक़्त देश के पास अर्थव्यवस्था सही करने का सिर्फ़ एक बटन बचा है?

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.