Submit your post

Follow Us

किसानों का भारत बंद Live: धरना देने आए कांग्रेसियों को रोका गया, सिंघु बॉर्डर पर किसान की मौत

केन्द्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा ने सोमवार 27 सितंबर को (Bharat Bandh) का ऐलान किया. इसके तहत जगह जगह किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. कई इलाकों में किसानों ने प्रमुख सड़कों पर सुबह से ही डेरा डाल दिया है. कई हाइवे ब्लॉक कर दिए गए हैं. कुछ इलाकों में दुकानें बंद हैं. कुछ जगहों पर किसान रेल पटरियों पर बैठ गए हैं, जिसकी वजह से ट्रेनों के आवागमन में मुश्किलें आ रही हैं. दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर एक किसान की मौत हो गई. पुलिस का कहना है कि हार्ट अटैक की वजह से उनकी जान गई. बाकी जानकारी पोस्ट मॉर्टम के बाद दी जाएंगी.

इस बंद में 40 से अधिक कृषि संगठन शामिल हैं. कई राजनीतिक दलों ने भी समर्थन का ऐलान किया है. संयुक्त किसान मोर्चा के मुताबिक, 27 सितंबर को ही राष्ट्रपति ने किसान कानूनों को मंजूरी दी थी. साथ ही किसान आंदोलन के 10 महीने भी पूरे हो रहे हैं. आइए बताते हैं, कहां किस तरह भारत बंद चल रहा है.

दिल्ली के आसपास ज्यादा असर

किसान आंदोलनकारियों ने भारत बंद के दौरान दिल्ली के आसपास के हाईवेज को जाम कर दिया है. गाजीपुर बॉर्डर पर नेशनल हाईवे 9 और नेशनल हाईवे 24 पर किसान जम गए हैं. हरियाणा के कुरुक्षेत्र में दिल्ली से अमृतसर जाने वाले हाईवे को भी रोक दिया गया है. इसी तरह से किसानों ने पंजाब और हरियाणा के बीच के शंभु बॉर्डर को भी जाम कर दिया है.

किसान नेताओं की योजना है कि भारत बंद में सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे मुख्य राजमार्गों पर वाहनों को रोका जाए. इस दौरान आंदोलन से जुड़े सभी लोग धरना देकर विरोध जताएंगे. संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं का कहना है कि पुलिस ने आंदोलनकारी किसानों को हटाने की कार्रवाई की तो किसान जेल जाना पसंद करेंगे लेकिन सड़कों से नहीं हटेंगे.

पुलिस के पुख्ता इंतजाम

दिल्ली पुलिस ने भी पुख्ता इंतजाम किए हैं. दिल्ली के बॉर्डर पर पैट्रोलिंग बढ़ा दी गई है. अतिरिक्त बल तैनात किया गया है. निगरानी के लिए पिकेट्स की संख्या बढ़ा दी गई है. पुलिस के मुताबिक, दिल्ली में प्रवेश करने वाले हर वाहन को बारीकी से चेक किया जाएगा. दिल्ली पुलिस के एक सीनियर अधिकारी ने आजतक को बताया कि दिल्ली के बॉर्डर पर बने प्रदर्शन स्थलों से किसी भी प्रदर्शनकारी को दिल्ली में घुसने नहीं दिया जाएगा. नई दिल्ली के डीसीपी दीपक यादव का कहना है कि

“भारत बंद को देखते हुए एहतियातन इंतजाम किए गए हैं. बॉर्डर एरिया में पिकेट्स की संख्या बढ़ा दी गई है. इसके अलावा सभी महत्वपूर्ण जगहों जैसे इंडिया गेट, विजय चौक पर भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं”

दिल्ली में टिकरी बॉर्डर के पास एक मेट्रो स्टेशन को भी बंद कर दिया गया है. डीएमआरसी ने ग्रीन लाइन पर मौजूद पंडित श्रीराम शर्मा मेट्रो स्टेशन से प्रवेश और निकासी बंद कर दी है. 

 

कई जगह पटरियों पर किसान, ट्रेनें अटकीं

किसानों द्वारा बुलाए गए भारत बंद का असर ट्रेन सेवा पर भी देखने को मिला. दिल्ली से चलने वाली कई ट्रेनों पर इसका असर पड़ा. नॉर्दन रेलवे के अनुसार अंबाला और फिरोजाबाद डिवीजन पर कई जगह किसान रेलवे ट्रैक पर बैठे हैं. सिर्फ दिल्ली डिवीजन में ही 20 जगहों पर किसानों के रेल पटरी पर बैठे होने की खबरें हैं. इसकी वजह से 25 ट्रेनों के आवागमन पर असर पड़ा है.

हिसार में कई जगहों पर आंदोलनकारी पटरियों पर बैठे हैं. इनमें राजगढ़ रेल लाइन, बठिंडा डबवाली लाइन, लुधियाना रेल लाइन और दिल्ली रोहतक लाइन शामिल है. किसानों के बंद की वजह से मालवा से कटरा जाने वाली मालवा एक्सप्रेस कुरुक्षेत्र रेलवे स्टेशन पर अटक गई. बहादुरगढ़ रेलवे स्टेशन पर भी किसान पहुंच गए और रेल ट्रैक के बीच में खड़े होकर नारेबाजी की.

 

दिल्ली बॉर्डर पर लगी गाड़ियों की लंबी कतारें

दिल्ली एनसीआर के बॉर्डर पर कई जगह वाहनों की लंबी कतारें देखने को मिलीं. सोमवार को हफ्ते के पहले दिन जैसे ही लोग ऑफिसों के लिए निकले, पुलिस बैरिकेड लगाकर चेकिंग करती दिखी. इसके चलते ट्रैफिक काफी धीरे रहा. गुड़गांव और नोएडा बॉर्डर पर वाहनों की लंबी कतारें लग गईं.

प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसियों को किसानों ने रोका

किसानों के इस भारत बंद को कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, वाम दल, तेलुगू देशम पार्टी, एलडीएफ ने अपना समर्थन दिया है. बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने घोषणा की है कि वो भी देशव्यापी हड़ताल में हिस्सा लेंगे. इसके साथ ही पंजाब के नवनिर्वाचित सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने भी बंद का समर्थन किया है. भारतीय किसान यूनियन ने उनके समर्थन का स्वागत किया है, लेकिन कहा है कि वो किसी भी राजनीतिक दल के साथ मंच साझा नहीं करेंगे.

दिल्ली में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सड़कों पर उतरकर किसानों के समर्थन में प्रदर्शन करने की कोशिश की, लेकिन किसान नेताओं ने उन्हें रोक दिया. इनमें दिल्ली कांग्रेस के प्रमुख अनिल चौधरी भी शामिल थे. भारतीय किसान यूनियन के प्रवीण मलिक ने कहा कि हमने उनसे कहा था कि भारत बंद का समर्थन करने के लिए हम आपके शुक्रगुजार हैं, लेकिन हमारा मंच गैर राजनीतिक है. हमने पहले ही कह दिया था कि हम किसी राजनीतिक दल को हमारे मंच पर आने की इजाजत नहीं देंगे, इसलिए हमने उनसे (कांग्रेस कार्यकर्ताओं से) कहा कि वो कुछ दूरी पर जाकर प्रदर्शन करें. हम उनके खिलाफ नहीं हैं.

 

दूसरी तरफ विपक्ष ने किसानों के बुलाए बंद का समर्थन करते हुए ट्वीट किए. कांग्रेस की तरफ से राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया. राहुल गांधी ने लिखा-

प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया-

शिवसेना के नेता और सांसद संजय राउत ने कहा कि वो मन से किसानों के साथ हैं. उन्होंने लिखा-

https://twitter.com/AHindinews/status/1442389366987395072 वहीं सरकार की तरफ से केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी सामने आए और किसान कानूनों का बचाव किया. उन्होंने कहा कि,

“हमारी सरकार ने किसानों से हमेशा बातचीत का रास्ता अपनाया है. MSP बढ़ रही है. मंडियां भी फल-फूल रही हैं. जितनी भी आशंकाएं और अफवाहें थीं, उनका समाधान हो गया है. जो लोग हंगामा कर रहे हैं वे किसानों का नुक़सान कर रहे हैं.”

 

 

देश के बाकी इलाकों का हाल 

बहादुरगढ़ बार एसोसिएशन ने भी किसानों के समर्थन में काम बंद रखने का ऐलान किया है.  बिहार में आरजेडी कार्यकर्ताओं ने हाजीपुर में प्रदर्शन किया. कर्नाटक में कलबुर्गी सेंट्रल बस स्टेशन के बाहर विभिन्न संगठनों ने किसानों के समर्थन में प्रदर्शन किया हैदराबाद में संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर ‘भारत बंद’ के चलते दुकानें बंद दिखीं. अमृतसर में भी किसान प्रदर्शन स्थलों के आसपास पुलिस के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं. तेलंगाना में कांग्रेस, लेफ्ट, टीडीपी आदि दलों के कार्यकर्ताओं ने विभिन्न जगहों पर प्रदर्शन किया. केंद्र की बीजेपी सरकार और राज्य की टीआरएस सरकार के खिलाफ नारे लगाए. 

 इमरजेंसी सेवाओं को छूट

भारत बंद में किसान संगठनों ने सभी सरकारी और प्राइवेट ऑफिसों, स्कूल और दूसरे इंस्टिट्यूट्स, दुकानों के साथ-साथ सार्वजनिक कार्यक्रम बंद करने का आह्वान किया है. हालांकि, अस्पताल, मेडिकल स्टोर, राहत और बचाव कार्य और व्यक्तिगत आपात स्थिति में शामिल लोगों सहित आवश्यक सेवाओं को छूट दी जाएगी. बंद के दौरान एंबुलेंस और इमरजेंसी सर्विसेज को नहीं रोका जाएगा. किसान नेता राकेश टिकैत ने 27 सितंबर की सुबह समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि

“एंबुलेंस, डॉक्टर और आपात स्थिति में लोगों को जाने दिया जाएगा. हमने कुछ भी सील नहीं किया है. हम बस एक संदेश देना चाहते हैं. हम दुकानदारों से अपील करते हैं कि वो अपनी दुकानें अभी बंद रखें और 4 बजे के बाद ही खोलें. कोई भी किसान बाहर से नहीं आ रहा है.”

 

भारत बंद से पहले राकेश टिकैत ने रविवार को पानीपत की महापंचायत से ऐलान किया था कि किसान कानूनों के खिलाफ 10 महीने से चल रहा ये आंदोलन 10 साल तक भी चल सकता है. किसान कानूनों को काला कानून बताते हुए उन्होंने कहा कि वो इन्हें लागू नहीं होने देंगे.


वीडियो – यूनिक आईडी बनाने से किसान या कंपनी, किसका फायदा होगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.