Submit your post

Follow Us

पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर गहलोत ने इतिहास याद दिला दिया है!

राजस्थान. सचिन पायलट अपने खेमे के विधायकों को लेकर अलग हो गए हैं. अशोक गहलोत दावा कर रहे हैं कि सरकार बचाने भर का बहुमत उनके पास है. सरकार को अस्थिर करने के प्रयासों में बीजेपी का नाम आ रहा है. फ़ोन कॉल का रिकार्ड भी सामने आ गया है. और बीजेपी कह रही है कि हमारा हाथ नहीं है.

और इसी बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है. इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए. कहा है कि जिस समय देश को कोविड की महामारी से लड़ना चाहिए, उस समय पूरे षड्यंत्र के साथ राज्यों की सरकारों को अस्थिर किया जा रहा है.

इसके साथ ही अशोक गहलोत ने कहा है कि या तो आपको इस बात की जानकारी नहीं है, या तो आपको गुमराह किया जा रहा है कि आपकी ही पार्टी द्वारा ऐसा काम राजस्थान में भी किया जा रहा है.

और क्या कहा है,

“मुझे इस बात का हमेशा अफ़सोस रहेगा कि आज जहां आम जनता के जीवन एवं आजीविका को बचाने की जिम्मेदारी केंद्र एवं राज्य सरकारों की निरंतर बनी हुई है. उसके बीच में केंद्र में सत्ता पक्ष कैसे कोरोना प्रबंधन की प्राथमिकता छोड़कर कांग्रेस की राज्य सरकार को गिराने के षड्यंत्र में मुख्य भागीदारी निभा सकता है. ऐसे ही आरोप पूर्व में कोरोना के चलते मध्यप्रदेश सरकार गिराने के वक़्त लगे थे एवं आपकी पार्टी की देशभर में बदनामी हुई थी.”

गहलोत ने याद दिलाया है कि इस तरह ही भंवरलाल शर्मा ने भैरोंसिंह शेखावत की तत्कालीन राज्य सरकार गिराने की कोशिश की थी, लेकिन उस समय गहलोत ने इसका विरोध किया था.

गहलोत ने विश्वास जताया है. कहा है,

“मुझे पूरा विश्वास है कि अंतत: सच्चाई के साथ-साथ स्वस्थ लोकतांत्रिक परम्पराओं एवं संवैधानिक मूल्यों की जीत होगी और हमारी सरकार सुशासन देते हुए अपना कार्यकाल पूरा करेगी.”

नीचे पढ़िए चिट्ठी :


लल्लनटॉप वीडियो : राजस्थान में सचिन पायलट और अशोक गहलोत की लड़ाई के बीच वसुंधरा राजे ने क्या कहा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

इंडिया में कोरोना की वैक्सीन का दाम पता चल गया है, लेकिन पैसे आपको नहीं देने होंगे!

क्या कहा बनाने वाले आदर पूनावाला ने?

बाइक चला रहे CJI बोबड़े पर ट्वीट करने पर twitter और वकील प्रशांत भूषण पर अवमानना का केस हो गया!

सुनवाई में ट्वीट डिलीट करने की बात पर कोर्ट ने क्या कहा?

जाटों-पंजाबियों को बिना बुद्धि का बोलकर माफ़ी मांगने लगे बीजेपी के सीएम

और कौन? वही त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब.

इन तीन परिवारों के उजड़ने की कहानी से समझिए कि कोरोना से बचाव कितना ज़रूरी है

पहले मां की मौत, फिर एक के बाद एक 5 बेटों की मौत

दिशा सालियान की मौत के बाद क्या सुशांत सिंह ने डिप्रेशन की दवाइयां लेनी बंद कर दी थीं?

डॉक्टर ने पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में बताया

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन नहीं रहे

वो 85 बरस के थे, कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे.

उत्तर बिहार में हर साल क्यों आती है बाढ़, अभी कैसे हैं हालात

भौगोलिक स्थिति समझना बहुत जरूरी है.

बिहार महादलित विकास मिशन घोटाला: 'स्पोकन इंग्लिश' के नाम पर कैसे हुई हेरा-फेरी

एक निलंबित और तीन रिटायर्ड IAS अधिकारियों समेत 10 लोगों पर FIR.

राजस्थान में सियासी संकट के बीच अशोक गहलोत ने एक और मोर्चा मार लिया है!

19 जुलाई को राजस्थान की राजनीति से संबंधित ये 5 चीजें हुईं.

ये 'एयर बबल' क्या है, जिस पर हवाई यात्रा करने वाले टकटकी लगाए देख रहे हैं

भारत ने 'एयर बबल' को लेकर कदम उठाए हैं.