Submit your post

Follow Us

मेयर साहिबा ने अटल बिहारी को श्रद्धांजलि दे दी, पर उनकी गलती नहीं है

अटल अभी अटल हैं. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी रविवार को 92 साल के हो गए. लेकिन अलीगढ़ की मेयर शकुंतला भारती ने ‘भारी मिस्टेक’ करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दे डाली और बीजेपी के लिए शर्मिंदगी की नई वजहें पैदा कर दीं.

अलीगढ़ के एक स्कूल में हुए प्रोग्राम में शकुंतला भारती ने कहा,‘पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी हमारे बीच नहीं रहे, लेकिन उनकी यादें हैं.’

अगर इतने से ही आपको शॉक लग रहा है तो थम जाइए. तब तक, जब तक हम आपको ये न बता दें कि जिस फंक्शन को वो अटेंड कर रही थी वो था ही अटल जी का जन्मदिन सेलिब्रेट करने के लिए. कल मदन मोहन मालवीय जी की 155वीं जयंती और वाजपेयी का 92वां जन्मदिन मनाने के लिए इगलास, अलीगढ़ के धरम ज्योति महाविद्यालय में ये फंक्शन हो रहा था. यहां मेयर साहिबा ने  माइक के समक्ष अपने अद्भुत सामान्य ज्ञान के औसत होने का परिचय दिया.

शकुंतला भारती भाजपा नेत्री हैं. इसलिए उनका अज्ञान पार्टी के लिए भी शर्मिंदगी का सबब बन गया है. बता रहे हैं कि इससे सीनियर नेताओं में नाराजगी है. उधर बसपा नेता नरेंद्र पचौरी ने भारती को सलाह दे डाली कि, अगर उनकी जानकारी का दायरा इतना सीमित है तो वो आगे से पब्लिक में भाषण देने से परहेज़ रखें.

bharti

बेतुकी वजहों से चर्चा में रही हैं शकुंतला

ये पहली बार नहीं है कि शकुंतला भारती अटपटी वजहों से सुर्ख़ियों में हैं. इस साल की शुरुआत में भारती ने इल्ज़ाम लगाया था कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के कैंटीन में बीफ बेचा जाता है. उसके कुछ ही महीनों बाद उन्होंने एएमयू के अधिकारियों पर गाय की हत्या का और एक छोटे मंदिर को तोड़ने का आरोप भी लगाया था. उन्होंने घोषणा की थी कि उनके काम के दो प्रमुख क्षेत्र है, ‘गो-हत्या पर रोक लगाना और हिंदू लड़कियों को लव-जिहाद से बचाना’.

तमाम बेतुके कारणों से ख़बरों में रही मेयर ने अटल पर अपने बयान को बाद में कवर करने की कोशिश भी की. उन्होंने कहा कि वो मालवीय जी के बारे में कह रही थीं, वाजपेयी के बारे में नहीं. लेकिन ये बहाना काम नहीं आया क्योंकि लगे हाथ उन्हें याद दिलाया गया कि उन्होंने ‘पूर्व प्रधानमंत्री’ भी कहा था. वीडियो रिकॉर्डिंग की मौजूदगी में मुकरना मुमकिन न रहा तो उन्होंने माफ़ी मांग ली. बोलीं, “पता नहीं ये कैसे हो गया. अगर मैंने कोई गलती की है तो मुझे अफ़सोस है. मैं वाजपेयी जी का बहुत सम्मान करती हूँ और उनकी लंबी उम्र की कामना करती हूं.”

ऐसी गलतियां पहले भी हुई हैं

ये किस्सा भी उस लंबी फेहरिस्त में जुड़ जाता है जिसमे ज़िंदा लोगों को मुर्दा घोषित कर दिया गया था. 2015 की जुलाई में, जब पूर्व राष्ट्रपति कलाम साहब ज़िंदा थे, झारखंड की भाजपा सरकार में मंत्री नीरा यादव ने बाकायदा उनकी तस्वीर पर हार चढ़ाकर उन्हें श्रद्धांजलि दे डाली थी. यहां ये बात अंडरलाइन करने वाली है कि नीरा यादव शिक्षा मंत्री थी. उनके इस शानदार जनरल नॉलेज की सोशल मीडिया पर बहुत तीखी आलोचना हुई थी. जिसमे सारा जोर शिक्षा मंत्री के खुद की शिक्षा पर था. ट्वीटर और फेसबुक पर ख़ूब मज़ाक बना था कि जिनको खुद कुछ नहीं आता वो दूसरों को क्या पढ़ाएंगे!

neera

दरअसल ये इन लोगों की गलती नहीं है. ये बेचारे वहीं हैं जो ये हमेशा से थे. औसत बुद्धि के भारतीय नागरिक. जो अक्सर अपने आसपास की घटनाओं से उदासीन रहते हैं. सवाल तो इन्हें चुनकर भेजने वालों को खुद से पूछना चाहिए कि किस आधार पर इन इन्हें अपने सर पर बिठा लिया है? हम कैसे नेता चुन रहे हैं जो अख़बार तक पढ़ना ज़रूरी नहीं समझते. 

जिस देश में जाति, बिरादरी, ध्रुवीकरण जैसे मुद्दों पर चुनाव प्रक्रिया निर्भर करती हो, वहां किसको होश है कि समझदार, देश-समाज की परिस्थितियों से अवेयर लोगों को चुन कर भेजें? इतने बड़े देश की जनता के जो प्रतिनिधि हैं, उनमे से कितने ही ऐसे हैं जिनका वैचारिक स्तर सवालों के दायरे में है. अलीगढ़ की मेयर को कोसे जाने से पहले ये याद कर लें कि इन्हें हमने ही चुना है. इनकी खाल खींचने से पहले गिरेबान में झांक न लिया जाए!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कंगना-रंगोली पर सेडिशन केस की सुनवाई करते बॉम्बे हाईकोर्ट ने बहुत ज़रूरी बात कही है

कंगना-रंगोली पर सेडिशन केस की सुनवाई करते बॉम्बे हाईकोर्ट ने बहुत ज़रूरी बात कही है

"क्या हम अपने नागरिकों के साथ ऐसा व्यवहार करेंगे?”

दिल्ली दंगा : चार्जशीट में फ़ोटो लगाकर पुलिस ने कहा, 'ये दंगे को लेकर सीक्रेट मीटिंग हुई है'

दिल्ली दंगा : चार्जशीट में फ़ोटो लगाकर पुलिस ने कहा, 'ये दंगे को लेकर सीक्रेट मीटिंग हुई है'

इसके अलावा वाट्सऐप चैट को लेकर दिल्ली पुलिस ने क्या दावा किया?

दंगे की चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने कहा, 'पटना में बैठकर उमर ख़ालिद ने दिल्ली में दंगा भड़काया'

दंगे की चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने कहा, 'पटना में बैठकर उमर ख़ालिद ने दिल्ली में दंगा भड़काया'

दिल्ली पुलिस ने किस सीक्रेट ऑफ़िस की बात की है?

डॉक्टर कर रहे थे दिमाग की सर्जरी और मरीज टीवी पर देख रहा था 'बिग बॉस'!

डॉक्टर कर रहे थे दिमाग की सर्जरी और मरीज टीवी पर देख रहा था 'बिग बॉस'!

चौंक गए ना आप? चलिए बताते हैं कि आखिर ये मामला क्या है.

ड्रग्स केस: कॉमेडियन भारती सिंह को तीन घंटे की पूछताछ के बाद NCB ने गिरफ्तार किया

ड्रग्स केस: कॉमेडियन भारती सिंह को तीन घंटे की पूछताछ के बाद NCB ने गिरफ्तार किया

मुंबई स्थित घर से एजेंसी ने गांजा बरामद किया था.

मुकेश भाई की रिलायंस के दिए 19 किलो सोने से सजा कामख्या मंदिर देख लो

मुकेश भाई की रिलायंस के दिए 19 किलो सोने से सजा कामख्या मंदिर देख लो

गुवाहाटी के इस मंदिर की गिनती देश के सबसे पुराने शक्त पीठों में होती है.

नाम से नफरत थी, शिवसेना के नेता ने दे डाला 'कराची स्वीट्स' को अल्टिमेटम

नाम से नफरत थी, शिवसेना के नेता ने दे डाला 'कराची स्वीट्स' को अल्टिमेटम

दुकानदार ने साइन बोर्ड पर छिपा दिया 'कराची' शब्द

एक और प्राइवेट बैंक का बंटाधार? RBI को लगानी पड़ी पैसे निकालने की लिमिट

एक और प्राइवेट बैंक का बंटाधार? RBI को लगानी पड़ी पैसे निकालने की लिमिट

PMC और यस बैंक की तरह ही अब इस बैंक पर भी लगा मोरेटोरियम.

तबलीगी जमात पर सरकार के किस जवाब से सुप्रीम कोर्ट खफा हो गया

तबलीगी जमात पर सरकार के किस जवाब से सुप्रीम कोर्ट खफा हो गया

तुषार मेहता से सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा?

नीतीश की कैबिनेट में किसे कौन सा मंत्रालय मिला, लिस्ट आ गई है

नीतीश की कैबिनेट में किसे कौन सा मंत्रालय मिला, लिस्ट आ गई है

उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी को कौन से अतिरिक्त मंत्रालय मिले?