Submit your post

Follow Us

NEET में शोएब और आकांक्षा दोनों को 720 में 720 नंबर मिले, फिर टॉपर शोएब क्यों?

नीट परीक्षा का रिजल्ट आ चुका है. शोएब आफताब ने इस परीक्षा में टॉप किया है. उन्हें 720 में से 720 अंक मिले हैं. उनके अलावा आकांक्षा सिंह को भी 720 नंबर मिले हैं. इसको लेकर सोशल मीडिया पर चर्चाएं भी शुरू हो गई हैं. लोग जानना चाहते हैं कि जब दोनों को ही 720 नंबर मिले हैं तो शोएब को टॉपर क्यों घोषित किया गया है. चलिए बताते हैं, लेकिन उससे पहले दोनों के बारे में जान लीजिए.

शोएब आफताब

शोएब, उड़ीसा के राउरकेला के रहने वाले हैं. पिता बिजनेस करते हैं और मां गृहणी हैं. शोएब बचपन से ही डॉक्टर बनना चाहते थे. लिहाजा तैयारी के लिए पहुंच गए राजस्थान के कोटा शहर. लगातार ढाई साल तक पढ़ते रहे. ना छुट्टी ली और ना ही एक भी बार अपने घर गए. केवल पढ़ाई को ही लक्ष्य बना लिया. वो कहते हैं-

“मेरे परिवार में कोई डॉक्टर नहीं है. मैं बचपन से ही डॉक्टर बनना चाहता था. मुझे मेरे परिवार का बहुत सपोर्ट मिला, खास तौर पर मम्मी जो मेरे साथ हर परिस्थिति में खड़ी रहीं.”

आकांक्षा सिंह

आकांक्षा वैसे तो यूपी के कुशीनगर की रहने वाली हैं लेकिन उन्होंने नीट की तैयारी दिल्ली से की थी. उन्होंने 10वीं तक की पढ़ाई गांव से की और उसके बाद दिल्ली आ गईं, ताकि डॉक्टर बनने का सपना पूरा कर सकें. उनके पिता एयरफोर्स से रिटायर डॉक्टर हैं और उनकी मां टीचर हैं. आकांक्षा कहती हैं-

“दिल्ली में मेरे पिता मेरे साथ रहते थे, ताकि मैं स्कूल की पढ़ाई के साथ साथ नीट की तैयारी भी कर सकूं और डॉक्टर बन पाऊं.”

शोएब कैसे बने टॉपर?

चलिए अब आपको बताते हैं कि दोनों के ही नंबर जब 720 थे तो शोएब टॉपर कैसे बन गए. इस सवाल के जवाब को समझने के लिए आपको नीट रिजल्ट की प्रणाली को थोड़ा सा समझना होगा. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानी एनटीए की टाई ब्रेकर नीति की मदद से इसका निर्धारण किया जाता है.

होता ये है कि अगर दो छात्रों के एक जैसे नंबर आते हैं तो उस छात्र को वरीयता मिलती है जिसके बायोलॉजी में अधिक नंबर होते हैं. लेकिन यदि बायो में भी एक जैसे नंबर हों तो केमिस्ट्री में अधिक नंबर वाले को वरीयता दी जाती है. इसके बाद भी अगर टाई की स्थिति बनती है तो फिर ये देखा जाता है कि किसने कम गलत सवाल किए हैं.

और आखिर में यहां भी मामला फंस जाए तो जिस छात्र की उम्र अधिक होती है उसे रैंकिंग में वरीयता दी जाती है. शोएब और आकांक्षा वाला मामला भी कुछ ऐसा ही है. यानि शोएब और आकांक्षा हर पैमाने पर एक जैसे साबित हुए जिसके बाद उम्र वाले फैक्टर के चलते शोएब टॉपर बन गए.

कुछ और मामलों में भी यही हुआ

जानकारी के मुताबिक इसी नीति को तेलंगाना की तूम्मला स्निकिथा, राजस्थान के विनीत शर्मा, हरियाणा की अमरिशा खैतान और आंध्र प्रदेश की गुत्थी चैतन्य सिंधू की रैंकिग के लिए इस्तेमाल किया गया. इनको 720 में से 715 नंबर मिले थे और टाई ब्रेकर नीति के चलते क्रमश: तीसरी, चौथी, पांचवीं और छठी रैंक दी गई.

इसी तरह 8 से लेकर 20 नंबर तक रहने वाले बच्चों ने 710 नंबर हासिल किए हैं, जबकि 25 से 50 नंबर तक रहने वाले छात्रों को 705 नंबर मिले हैं.


वीडियो- बलिया में गोली चलाने के आरोपी को क्यों बचा रहे हैं BJP विधायक सुरेंद्र सिंह?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

हैदराबाद में भारी बारिश से सड़कों पर भरा पानी, परीक्षाएं टलीं, 11 लोगों की मौत

हैदराबाद में भारी बारिश से सड़कों पर भरा पानी, परीक्षाएं टलीं, 11 लोगों की मौत

एनडीआरएफ की टीम मदद में जुटी. लोगों से घरों में रहने की अपील.

सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमना की शिकायत चीफ जस्टिस से क्यों कर दी?

सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमना की शिकायत चीफ जस्टिस से क्यों कर दी?

ये पूरा मामला तो वाकई हैरान कर देने वाला है.

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

कहा- आर्टिकल 370 को हटाया जाना चीन कभी स्वीकार नहीं करेगा.

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

2024 तक देश के 6.62 लाख गांवों तक सुविधा पहुंचाने का लक्ष्य है.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने CJI को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमन्ना पर लगाए गंभीर आरोप

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने CJI को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमन्ना पर लगाए गंभीर आरोप

जस्टिस एनवी रमन्ना अगले संभावित चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया बन सकते हैं.

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

रिपब्लिक टीवी का आरोप है कि FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर एक्शन नहीं लिया गया.

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

सीजन बदला पर पंजाब की हालत नहीं.

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

रैकेट में दो और चैनलों के भी नाम हैं, उनके मालिक गिरफ्तार कर लिए गए है.

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

गणित के मास्टर भी हैं CSK को पीटने वाले राहुल त्रिपाठी.

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

साथ ही ये भी बताया कि 14 सितंबर से अब तक क्या-क्या किया.