Submit your post

Follow Us

पश्चिम बंगाल में अब फर्जी CBI अधिकारी सामने आया, कार पर नीली बत्ती लगाकर घूमता था

पश्चिम बंगाल में फर्जी केंद्रीय अधिकारी धरे जाने का एक और मामला सामने आया है. इंडिया टुडे/आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, कोलकाता पुलिस ने एक नकली CBI अफसर को गिरफ्तार किया है. आरोपी पेशे से वकील बताया गया है. लेकिन खुद का परिचय CBI अधिकारी के रूप में दे रहा था. नाम है सनातन रॉय चौधरी. इंडिया टुडे से जुड़ीं सूर्याग्नि रॉय ने बताया कि सनातन रॉय चौधरी हाई कोर्ट का वकील है. उस पर पहले से धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश का केस दर्ज है.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, खुद को सीबीआई अधिकारी बताकर सनातन रॉय नीली बत्ती वाली गाड़ी में घूमता  था. उसने गाड़ी के आगे CBI का स्टिकर चस्पा किया हुआ था. पूछताछ की गई तो उसने अपना परिचय केंद्रीय जांच एजेंसी के उच्च अधिकारी के रूप में दिया. लेकिन वो अपनी फर्जी पहचान साबित करने के लिए कोई भी दस्तावेज नहीं दिखा पाया. जब पुलिस ने सख्ती दिखाई तो आरोपी ने घबराकर सारी सच्चाई उगल दी. लेकिन सनातन रॉय चौधरी ने ऐसा क्यों किया?

जमीन व मकान विवाद के चलते रचा नाटक

पुलिस का कहना है कि गरियाहाट पुलिस थाना क्षेत्र में जमीन और मकान को लेकर सनातन के खिलाफ पहले से धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश का मामला दर्ज है. रिपोर्टर के मुताबिक, इसी मामले में अपना पक्ष मजबूत करने के लिए सनातन रॉय चौधरी ने राज्य की स्थायी परिषद का सदस्य व सीबीआई अफसर होने का नाटक रचा. अपना रुतबा जमाने के लिए आरोपी ने सोशल मीडिया पर भी खुद को CBI का उच्च अधिकारी बता रखा है. उसे पकड़ने के बाद पुलिस को संदेह है कि आरोपी पर धोखाधड़ी व जालसाजी के अन्य मामले भी हो सकते हैं. पुलिस इस बारे में जांच कर रही है.

fake cbi officer
कार पर नीली बत्ती लगाकर घूमता था सनातन रॉय चौधरी. (तस्वीर- सूर्याग्नि रॉय/इंडिया टुडे)

फर्जी CVO और IAS भी हुए थे गिरफ्तार

इससे पहले बेनियापुकुर पुलिस ने फर्जी केंद्रीय सतर्कता अधिकारी (CVO) बनकर घूम रहे व्यक्ति को गिरफ्तार किया था. उसका नाम मोहम्मद सादिक बताया गया था. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, पहले तो युवक ने पुलिस पर रौब झाड़ा, लेकिन पहचान से संबंधित किसी भी दस्तावेज के ना होने के कारण उसे गिरफ्तार कर लिया गया. हालांकि आरोपी के पिता का कहना था कि उनके बेटे की मानसिक हालत ठीक नहीं है. उनके मुताबिक, सादिक पहले एक निजी कंपनी में काम करता था. बाद में उसने नौकरी छोड़ दी थी.

फर्जी अधिकारियों की सूची में सबसे चर्चित मामला देबांजन देब से जुड़ा है. इंडिया टुडे/आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, देबांजन देब ना सिर्फ फर्जी IAS अधिकारी बना हुआ था, बल्कि ऐसा करते हुए उसने कोरोना वैक्सीनेशन के लिए फर्जी कैंप तक लगवा दिया. उसने तृणमूल कांग्रेस की सांसद मिमी चक्रवर्ती को वैक्सीन भी लगवा दी थी. बाद में पता चला कि कैंप में पहचान की पुष्टि के लिए ना तो आधार कार्ड मांगा जा रहा था और ना ही वैक्सीनेशन के बाद मोबाइल पर एसएमएस आ रहा था.

इसके बाद कैंप को लेकर शक पैदा हुआ. इस बारे में जब कोलकाता म्यूनिसिपल के चैयरमैन को पता चला तो उन्होंने पुलिस को सूचित किया. इसके बाद फर्जी आईएएस अधिकारी को गिरफ्त में लिया गया. सूर्याग्नि रॉय ने ये भी बताया कि देबांजन देब नकली रेड भी मारता था. ऐसा करते हुए वो लोगों को फाइबर रॉड से पीटता भी था.

9e7f3816 710d 4d7b Be90 8aa2c9077056
फर्जी रेड में लोगों को पीटता दिख रहा फर्जी आईएएस देबांजन देब. (तस्वीरें- सूर्याग्नि रॉय)

कोलकाता पुलिस की एक विशेष टीम इस मामले की जांच कर रही है. उसने देबांजन के अलावा 6 अन्य लोगों को गिरफ्तार किया है. बार-बार ऐसे मामले सामने आने के बाद पुलिस ने नीली बत्ती वाले वाहनों पर निगरानी भी बढ़ा दी है और फर्जी अधिकरियों की धरपकड़ में जुटी हुई है.

(ये खबर हमारे यहां इंटर्नशिप कर रहे रौनक ने लिखी है.)


वीडियो- फर्जी IAS ने कैंप लगवा लोगों को वैक्सीन लगवाई, पर ये बात पकड़ में कैसे आई? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मुस्लिम औरतों की बोली लगाने वाली वेबसाइट की लिंक शेयर कर घिरा राइट विंग 'पत्रकार'

मुस्लिम औरतों की बोली लगाने वाली वेबसाइट की लिंक शेयर कर घिरा राइट विंग 'पत्रकार'

बवाल हुआ तो शिकायत करने वाली औरतों को ही कोसने लगे.

नेमावर हत्याकांड: आरोपी सुरेंद्र चौहान की प्रॉपर्टी पर चली जेसीबी, CBI जांच की मांग उठी

नेमावर हत्याकांड: आरोपी सुरेंद्र चौहान की प्रॉपर्टी पर चली जेसीबी, CBI जांच की मांग उठी

कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा नेता होने के चलते सुरेंद्र चौहान को इस मामले में संरक्षण मिला.

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है.

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

चंडीगढ़ और पंचकुला में बवाल.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

ट्विटर ने क्या वजह बताई?

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

मामला एक वायरल वीडियो से जुड़ा है.

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

नंबर देने के फॉर्मूले से सुप्रीम कोर्ट भी सहमत.

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

चिराग को राजनीति में आने की सलाह किसने दी थी?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

कुछ वक़्त से लगातार हो रहे हैं फ़ेरबदल.

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

क्या यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों को सरकारी प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है?