Submit your post

Follow Us

फिर दिखा तालिबान का बेरहम चेहरा, लोक गायक के साथ पहले चाय पी फिर गोली मार दी

जब से तालिबान ने अफगानिस्तान की सत्ता में वापसी की है, तब से कई मीडिया रिपोर्ट्स ऐसी आई हैं जिनमें दावा किया जा रहा है कि तालिबान का रवैया बदल चुका है. उसके प्रवक्ता भी कई ऐलान करके ऐसा दावा कर रहे हैं. लेकिन हाल की कई ऐसी घटनाएं हैं जो तालिबान का असली चेहरा सामने ले ही आती हैं. ताजा घटना में तालिबान ने अफगानिस्तान के एक लोक गायक की गोली मारकर हत्या कर दी है. अफगानिस्तान के धार्मिक विद्वान मौलवी मोहम्मद सरदार जादरान को भी तालिबान ने हिरासत में ले लिया है.

पहले साथ में चाय पी, फिर गोली मार दी

अफगान लोक गायक फवाद अंदराबी (Fawad Andarabi) के साथ ये घटना अंदराबी घाटी में हुई, जो राजधानी काबुल से लगभग 100 किलोमीटर दूर है. न्यूज एजेंसी द एसोसिएटेड प्रेस (AP) की रिपोर्ट के मुताबिक, 27 अगस्त को तालिबान के लड़ाके ने संदिग्ध परिस्थितियों में उन्हें गोली मार दी थी.

फवाद अंदराबी के बेटे जवाद ने AP से बात करते हुए कहा,

“तालिबानी लड़ाकों ने पहले घर की तलाशी ली. यहां तक कि पिता के साथ चाय भी पी. वह बिल्कुल निर्दोष थे. वह एक गायक थे जो महज लोगों का मनोरंजन कर रहे थे. लेकिन शुक्रवार को सब कुछ बदल गया और उन्होंने (तालिबान) मेरे पिता के सिर में गोली मार दी.”

फवाद अंदराबी अफगानिस्तान के मशहूर लोक गायक थे, जो पारंपरिक गीतों को गाया करते थे. फवाद का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिसमें वे घिचक गीत गा रहे हैं. इसके बोल हैं-

“मेरी मातृभूमि से बढ़कर कोई देश नहीं है. मुझे अपने देश पर गर्व है. हमारी घाटी बेहद खूबसूरत है जो हमारे पुरखों की मातृभूमि है.”

#AFG “Fawad Andarabi a local singer was shot dead by Taliban in Kishaan village in Andarab district in Baghlan province.” Multiple residents from Anadarab tells me. pic.twitter.com/6UWKrRWanw

— BILAL SARWARY (@bsarwary) August 28, 2021

Untitled Design (88)
अफगानिस्तान के लोक गायक फवाद अंदराबी का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वे अपनी मातृभूमि के लिए गीत गा रहे हैं. (फोटो: साभार ट्विटर)

फवाद अंदराबी के बेटे जवाद ने आगे कहा की वह न्याय चाहते हैं. उन्होंने बताया कि स्थानीय तालिबान परिषद ने उनके पिता के हत्यारे को सजा देने का वादा किया है. तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने फवाद अंदराबी की मौत के बारे में कहा है कि घटना की पूरी जांच की जाएगी. हालांकि हत्या के बारे में अभी तक कोई जानकारी हमें नहीं मिली है.

‘2001 और 2021 के तालिबान में फर्क नहीं’

मामले की गंभीरता को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र की ओर से भी टिप्पणी आई. सांस्कृतिक अधिकारों पर संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत करीमा बेन्नौने ने ट्विटर पर लिखा,

“मैं गायक फवाद अंदराबी की भयानक हत्या की रिपोर्ट पर गंभीर चिंता व्यक्त करता हूं. हम आह्वान करते हैं कि तालिबान कलाकारों के मानवाधिकारों का सम्मान करे.”

करीमा बेन्नौने ने आगे लिखा कि हम आग्रह करते हैं कि जो कलाकार अपनी कला जारी रखना चाहते हैं, और अफगानिस्तान से निकलना चाहते हैं, उन्हें बिना देरी के वीजा दिया जाए.

As UN Special Rapporteur on cultural rights, w @UNESCO Goodwill Ambassador on artistic freedom @Deeyah_Khan, I express grave concern abt reports of the terrible killing of singer #FawadAndarabi

We call on governments to demand the Taliban respect the #humanrights of #artistspic.twitter.com/7Q8XhvtWQL

— @UNSRCulture (@UNSRCulture) August 28, 2021

एमनेस्टी इंटरनेशनल की महासचिव एग्नेस कैलामार्ड ने भी इस मामले पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि 2001 और 2021 का तालिबान एक जैसा ही है. कैलामार्ड ने ट्वीट में लिखा,

“ये (हत्या) इस बात का सबूत है कि 2021 का तालिबान 2001 के असहिष्णु, हिंसक और दमनकारी तालिबान जैसा ही है. इस बार तालिबान के साथ ISIS, अलकायदा और कुछ अन्य भी हैं.”

I meant 2001: There is mounting evidence that the Taliban of 2021 is the same as the intolerant, violent, repressive Taliban of 2001. 20 years later. Nothing has changed on that front. On other fronts: In addition to the Taliban, we now have ISIS, AQ and probably a few more. https://t.co/hGByLj8dXR

— Agnes Callamard (@AgnesCallamard) August 29, 2021

धार्मिक विद्वान जादरान तालिबान के कब्जे में

इसी बीच तालिबान ने अफगानिस्तान के धार्मिक विद्वान मौलवी मोहम्मद सरदार जादरान को भी हिरासत में ले लिया है. मौलवी जादरान अफगानिस्तान के धार्मिक विद्वानों की राष्ट्रीय परिषद के प्रमुख रहे हैं. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, तालिबान ने इस गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए एक फोटो भी जारी की है, जिसमें जादरान की आंखों पर पट्टी बंधी दिख रही है.

Untitled Design (89)
तालिबान ने राष्ट्रीय परिषद के पूर्व प्रमुख मौलवी मोहम्मद सरदार जादरान की एक फोटो भी जारी की है, जिसमें उनकी आंखों पर पट्टी बंधी है. (फोटो: साभार इंडिया टुडे)

कॉमेडियन नज़र मुहम्मद की भी हत्या की थी

पिछले महीने तालिबान ने कॉमेडियन नज़र मुहम्मद उर्फ खासा ज़्वान को अगवा करके हत्या कर दी थी. खासा ज़्वान अफगानिस्तान में खासे मशहूर थे. पहले पुलिस में नौकरी किया करते थे. बाद में अपनी हरकतों से लोगों को हंसाने का काम करने लगे. सोशल मीडिया पर भी छाए हुए थे. लेकिन उनकी हरकतें कट्टरपंथी तालिबान को पसंद नहीं थीं. तालिबान समर्थक उन्हें क्रूर और हत्यारा तक कहा करते थे. सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब वायरल हुआ था, जिसमें कई हथियारबंद लड़ाके खासा ज़्वान को कार में बिठाते और थप्पड़ मारते दिख रहे थे.

अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, खासा की हत्या 19 से 25 जुलाई के बीच कंधार प्रांत में की गई. मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि तालिबान ने कॉमेडियन को पहले उनके घर से पकड़ा, और फिर एक पेड़ से बांध दिया. इसके बाद गला काटकर हत्या कर दी. उनकी लाश जमीन पर पड़ी मिली.

(ये स्टोरी हमारे यहां इंटर्नशिप कर रहे रौनक भैड़ा ने लिखी है.)


वीडियो- मलाला ने दुनिया को बताया तालिबान का रोंगटे खड़े करने वाला सच

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

3 अक्टूबर को आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था.

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

किसानों के बहाने फिर बीजेपी पर निशाना साध रहे वरुण गांधी?

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

ट्विटर पर फिल्म इंडस्ट्री ने पुनीत को किया भारी मन से याद.

Facebook का नाम बदलने के बाद क्या अब आपका अकाउंट Meta पर खुलेगा?

Facebook का नाम बदलने के बाद क्या अब आपका अकाउंट Meta पर खुलेगा?

इससे फेसबुक पर क्या कुछ फर्क पड़ने वाला है?