Submit your post

Follow Us

गुजरात दंगा: तीन मामलों से कोर्ट ने पीएम नरेंद्र मोदी का नाम हटाया

गुजरात में 2002 में भीषण दंगे हुए थे. गोधरा जैसे शहर की तो पहचान ही ‘कांड’ से जुड़ गई. उस वक्त गुजरात के मुख्यमंत्री थे- नरेंद्र मोदी. दंगा पीड़ितों के रिश्तेदारों की तरफ से दर्ज कराए गए तीन केसेज़ में उनका नाम था. था. लेकिन अब नहीं है. इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के मुताबिक- 5 सितंबर को गुजरात के सांबरकाठा जिले की अदालत ने नरेंद्र मोदी का नाम इन मुकदमों से हटा दिया. ये कहते हुए कि –

“आरोप सामान्य हैं, अस्पष्ट हैं. ये केस को लंबा खींचने का प्रयास है.”

2002 में हुए दंगों के दो साल बाद यानी कि 2004 में शिरिन दाउद, शमीमा दाउद (दोनों ब्रिटिश नागरिक) और इमरान दाउद ने तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दायर किया था. दंगे में उनके रिश्तेदारों की मौत हुई थी. मुकदमे के जरिये उन्होंने करीब 22 करोड़ रुपए के मुआवजे की मांग की थी. पीएम मोदी का नाम मुकदमे में प्रतिवादी के तौर पर दर्ज था. उनके वकील ने नाम हटाने की अर्जी लगाई थी, जिस पर प्रिंसिपल सीनियर सिविल जज एसके गढ़वी ने फैसला सुनाया.

एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक कोर्ट ने कहा –

“एक भी ऐसा साक्ष्य नहीं है, जो ये साबित कर सके कि प्रतिवादी नंबर-1 (नरेंद्र मोदी) घटनास्थल पर मौजूद थे. या जो इस घटना में या उनकी प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष भूमिका साबित कर सके. पीड़ित का परिवार ये भी नहीं बता सका कि किस आधार पर प्रतिवादी नंबर-1 इस घटना के लिए या राज्य सरकार के कुछ अधिकारियों के संबंधित तबादले के लिए उत्तरदायी हैं.

गोधरा कांड के पहले औऱ बाद की परिस्थितियों को जोड़कर आरोपों को इस तरह गढ़ा गया है कि प्रतिवादी नंबर-1 को ज़िम्मेदार ठहराकर मुआवजा हासिल किया जा सके. ऐसे निराधार आरोपों के दम पर कोई कार्रवाई नहीं की जा सकती.”

पीएम मोदी के अलावा छह अन्य नाम भी इस केस से हटा दिए गए हैं. इनमें राज्य के पूर्व गृह मंत्री गोरधन जडफिया, दिवंगत डीजीपी के चक्रवर्ती, गृह विभाग में पूर्व अतिरिक्त मुख्य सचिव अशोक नारायण, दिवंगत आईपीएस अमिताभ पाठक, तत्कालीन निरीक्षक डी के वानीकर और राज्य सरकार शामिल थीं.


गोधरा का निडर सांसद पीलू मोदी, जिससे प्रधानमंत्री भी डरते थे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

इंग्लैंड से हारते ही धोनी-धोनी क्यों रटने लगी ऑस्ट्रेलियन टीम!

पेट कमिंस ने क्यों कहा, धोनी ने तो 400 मैच खेले हैं!

इंडियन टीम को खूब परेशान करने वाले इस अंग्रेज़ ने ले लिया रिटायरमेंट!

पिछले पांच सालों से टीम से बाहर थे, आखिरकार कहा, अलविदा.

स्टीव स्मिथ की 'जंभाई' पर सरफराज़ की पत्नी ने ट्रोल आर्मी की बोलती बंद की!

करे कोई भी, भरते सरफराज़ ही हैैं!

छात्रों ने 5 बजे, 5 मिनट थाली बजाई तो पीयूष गोयल को रेलवे परीक्षाओं का ऐलान करना पड़ गया

#5Baje5Minute, #RRBExamDate जैसे हैशटैग शिक्षक दिवस पर ट्रेंड करते रहे.

IPL शेड्यूल का बेसब्री से इंतजार कर रहे लोग यहां आएं

जान लीजिए, कब आएगा IPL2020 का शेड्यूल.

एम्स के डायरेक्टर ने बताया कि देश में कोरोना वायरस का कर्व फ्लैट क्यों नहीं हो रहा

देश के कई हिस्सों में कोविड की सेकंड वेव की बात मानी.

भाग्यश्री ने बताया कि शादीशुदा हीरोइन्स के लिए बॉलीवुड में क्या दिक्कत आती थी

एक इंटरव्यू में उन्होंने कई बातें बताई हैं.

बिहार में दलित की हत्या पर परिवार को सरकारी नौकरी, विपक्षियों ने नीतीश को लपेटा

तेजस्वी यादव और मायावती ने बिहार के मुख्यमंत्री पर सवाल उठाए हैं.

इस क्रिकेट मैच में ऐसा क्या था कि 10 लोगों को पुलिस ने पकड़ लिया

श्रीनगर में मैच हुआ था, गिरफ्तार लोगों में कुछ खेलने वाले, कुछ खिलाने वाले हैं.

आसाराम पर आईपीएस अधिकारी की लिखी किताब पब्लिश होने से पहले ही कोर्ट ने रोक दी

IPS अजय लांबा ने ही आसाराम मामले की जांच की थी.